Thursday, August 18
Shadow

मध्य भारत के तीर्थ

हरसिद्धि माता मंदिर उज्जैन-51 शक्तिपीठों में से एक,प्रवेश शुल्क,दर्शन समय,इतिहास Complete Tour Guide of Harsiddhi Mata Temple

हरसिद्धि माता मंदिर उज्जैन-51 शक्तिपीठों में से एक,प्रवेश शुल्क,दर्शन समय,इतिहास Complete Tour Guide of Harsiddhi Mata Temple

तीर्थ-Tirth/Pilgrimage, मध्य भारत के तीर्थ
हरसिद्धि माता मंदिर उज्जैन-51 शक्तिपीठों में से एक,प्रवेश शुल्क,दर्शन समय,इतिहास Complete Tour Guide of Harsiddhi Mata Temple Harsiddhi Mata Temple: हिंदू धर्म में माँ जगदम्बा के 51 शक्तिपीठों की मान्यता है और इन्हीें शक्तिपीठों में से एक है हरसिद्धि माता मंदिर उज्जैन का पावन मंदिर ,जोकि ज्योतिर्लिंग श्री महाकालेश्वर मंदिर के पीछे पश्चिम दिशा में स्थित है, जहाँ पर माता सती के शरीर का 13 वा टुकड़ा माँ सती की कोहनी गिरी थी। मित्रों देशभर में हरसिद्धि माता के अनेक प्रसिद्ध मंदिर है लेकिन उज्जैन स्थित हरसिद्धि मंदिर , माता का सबसे प्राचीन मंदिर है , इस देवी मंदिर का पुराणों में भी वर्णन मिलता है।। उज्जैन के इस प्रसिद्ध शक्तिपीठ हरसिद्धि माता का मंदिर (Harsiddhi Mata Temple) और ज्योतिर्लिंग श्री महाकालेश्वर मंदिर के बीच पौराणिक रुद्रसागर है। स्कंद पुराण में देवी हरसिद्धि का उल्लेख मिलता ह...
baglamukhi mata-माँ पीतांबरा यानि माँ बगलामुखी दतिया-1 चमत्कारिक मंदिर

baglamukhi mata-माँ पीतांबरा यानि माँ बगलामुखी दतिया-1 चमत्कारिक मंदिर

चमत्कारी मंदिर, तीर्थ-Tirth/Pilgrimage, धर्म Religion, मध्य भारत के तीर्थ
baglamukhi mata-माँ पीतांबरा यानि माँ बगलामुखी दतिया-1 चमत्कारिक मंदिर baglamukhi mata-माँ पीतांबरा जिन्हें बगलामुखी माता के नाम से भी जाना जाता है, अपने भक्तों के बड़े से बड़े कष्ट दूर कर देती है और इसीलिए माँ पीतांबरा मंदिर दतिया में माँ बगलामुखी के दर्शन के लिए माँ के भक्तो की भींड लगी रहती है , बगलामुखी माता (baglamukhi mata) की कृपा चाहे कोई राजा हो या रंक सभी को समान रूप से प्राप्त होती है माँ पीतांबरा अर्थात बगलामुखी माता (baglamukhi mata) के इस सिद्धपीठ की स्थापना वर्ष 1935 में की गई थी, यहाँ बगलामुखी माता चर्तुभुज रूप में विराजमान है ,एक हाथ में गदा, दूसरे में पाश, तीसरे में वज्र और चौथे हाथ में माँ पीतांबरा ने राक्षस की जिह्वा थाम रखी है. संसार भर में अनेक देवियों व देवताओं के मंदिर हैं किन्तु उनमे से कुछ ऐसे हैं जिनके चमत्कार आज तक वैज्ञानिक भी सुलझा नही सके और ऐसा ही मंदिर...
error: Content is protected !!