rainy season

मानसून में स्वास्थ्य || healthy rainy season

अदरक , तुलसी डालकर बनायीं गयी चाय बहुत ही लाभ दायक होती है , आप चाहे तो अदरक, तुलसी,लौंग, काली मिर्च, दालचीनी, इलायची,गुड़ का काढ़ा बना कर भी पी सकते है …

अपने जानने वालों में ये पोस्ट शेयर करें ...

मानसून में स्वास्थ्य

healthy rainy season

यह वर्ष का वह समय होता है जब बारिश से चारों ओर  एक प्राकृतिक हरा कालीन सा फैल जाता है, जो उमस भरी गर्मी वाली धूप से राहत देता है | बारिश का मौसम, वर्ष का सबसे अधिक संक्रमण फैलाने वाला समय होता है , बारिश का मौसम अपने साथ उच्च मात्रा में नमी भी लाता है, जो हमारे पाचन तंत्र की कार्यप्रणाली को प्रभावित करता है। इसके अलावा, इस मौसम के दौरान होने वाली अस्वास्थ्यकर स्थितियां हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली यानि immunity को भी कमजोर करती हैं। बारिश के मौसम के संभावित परिणामों से अपने आप को बचाने के लिए, यह आवश्यक है कि आप कुछ सुरक्षा उपायों पर ध्यान दें जैसे बारिश के मौसम में हमें साफ़ सफाई पर विशेष ध्यान देने की आवश्यकता होती है क्योंकि साफ़ सफाई न रहने पर ही संक्रामक रोग फैलते है जो कभी कभी जानलेवा भी बन जाते है | बारिश के मौसम में स्वस्थ रहने के लिए साफ़ सफाई के साथ ही स्वस्थ खान पान भी आवश्यक है तो आईये जानते है बारिश के मौसम में कैसा हो खान पान :-

मानसून के लिए स्वस्थ आहार नियम:

  1. शरीर में जल की मात्रा संतुलित रखना

बारिश के मौसम में फैलने वाले infections से बचने के लिए हमे अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमता (immunity) मजबूत रखने की आवश्यकता है और इसके लिए हम सभी को पर्याप्त मात्रा में पानी का सेवन करना चाहिए । पर्याप्त मात्रा में पानी का सेवन करने से हमारे शरीर में से विषाक्त पदार्थ ( मल मूत्र इतियादी के रूप में ) सरलता से बाहर आ जाते है | किन्तु ध्यान देने वाली बात ये भी है कि इस मौसम में पानी भी दूषित हो जाता है क्योंकि बारिश के मौसम में ही कीट पतंगे जीवाणु,विषाणु सबसे अधिक उत्पन्न होते है , इसलिए प्रयास करे कि पानी पीने से पहले पानी को उबाल ले और फिर ठंडा करके पीयें | खाने पीने के लिए हमेशा ही स्वच्छ जल का प्रयोग करें ।

  1. मौसमी फल और सब्जियाँ

सेब, नाशपाती या अनार जैसे मौसमी फलों का सेवन करें जिससे कि पूरे दिन आपके शरीर का उर्जा स्तर अच्छा बना रहे | खीरे की सलाद हमारे शरीर के लिए आवश्यक आयरन और फॉस्फोरस की पूर्ती करती है , वहीं अपने आहार में करेले और मेथी लेने से हमारे शरीर की संक्रमणों ( infections ) सुरक्षा होती है|  ये ध्यान रखे कि खाना पकाने से पहले अपने हाथों और सब्जियों को अच्छी तरह से धो ले जिससे इनकी सतह पर स्थित अति सूक्ष्म कीटाणु धुल जायें 

  1. हल्दी ( Turmeric in daily meal  )

हल्दी से होने वाले लाभ तो हमारे ऋषि मुनि भी जानते थे और इसका प्रयोग औषधि के रूप में किया करते थे| हल्दी एक प्राकृतिक एंटीबायोटिक एजेंट है | अपने भोजन में इसके प्रयोग के साथ साथ यदि आप हल्दी डालकर दूध पीते है तो सर्दी और खांसी और बरसाती रोगों से भलीभांति सुरक्षित रह सकते है ।

  1. लहसुन ( Garlic in daily meal )

हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता यानि immunity  और चयापचय यानि metabolism को अच्छा रखने में लहसुन बहुत अच्छा काम करता है। अब बारिश के मौसम का आनंद लेने के लिए चाहे आप गर्मा गर्म पकोड़े बनाये या कोई सूप बनाये या फिर सब्जी ,आप उसमे लहसुन का प्रयोग करें, लहसुन आपके स्वास्थ्य के साथ साथ स्वाद को भी अच्छा बनाता है |

  1. कम सोडियम आहार ( Low Sodium food )

कम सोडियम अर्थात कम नमक वाला भोजन करें | नमक हमारे शरीर के लिए अत्यधिक आवश्यक है क्योंकि ये हमारे शरीर में पानी को बनाए रखता है और साथ ही रक्तचाप में भी योगदान देता है साथ ही ये हृदय की समस्याओं से पीड़ित लोगो के लिए अति आवश्यक तत्व है किन्तु इसका अधिक सेवन स्वास्थ्य की दृष्टि से अच्छा नही होता है | इसलिए जितना संभव हो अधिक सोडियम वाले आहार जैसे जंक फूड, नमकीन चिप्स, नमकीन मक्खन, पनीर, अचार, डिब्बाबंद भोजन आदि से बचने का प्रयास करें |  

  1. सुपाच्य खाद्य पदार्थों का सेवन करें (Less Oily-Light Foods )

मानसून के दौरान हमारा पाचन तंत्र कमजोर होता है, इसे ध्यान में रखते हुए सरलता से पचने योग्य भोजन हमारे स्वास्थ्य के लिए अच्छे होते है । जैसे सादा चावल दाल , रोटी सब्जी |

यदि तैलीय खाद्य पदार्थों जैसे पूड़ी , पैकोड़े इतियादी खाने की इच्छा हो तो सूरजमुखी , जैतून के तेल ,गाय का घी का प्रयोग करे क्योंकि ये  अन्य तैलीय पदार्थो से ये अधिक सुपाच्य होते है, जिससे हमारा पाचन तंत्र सही रहता है यानि हमारा पेट सही रहता है |

  1. सूखे खाद्य पदार्थ ( low calorie dry Foods)

बारिश के मौसम में अंगीठी की आग में पके मक्के ( भुट्टे ) खाने का आनंद ही कुछ और है , इसी प्रकार चने , भुने चावल (लाई) इतियादी हमे स्वाद भी देते है साथ ही कम calorie, अधिक fiber युक्त होने से हमारे स्वास्थ्य के लिए भी अच्छे होते है |

  1. हर्बल गर्म पानी ( Herbal Warm Water )

यदि आपको भी बारिश के मौसम में संक्रमण और बुखार इतियादी हो जाता है तो बारिश के मौसम में अदरक, तुलसी,लौंग, काली मिर्च, दालचीनी, इलायची,गुड़ जैसे औषधीय गुणों वाले पदार्थो का प्रयोग नित्य करना चाहिए | अदरक , तुलसी डालकर बनायीं गयी चाय बहुत ही लाभ दायक होती है , आप चाहे तो अदरक, तुलसी,लौंग, काली मिर्च, दालचीनी, इलायची,गुड़ का काढ़ा बना कर भी पी सकते है |

  1. चुकंदर (beetroot)

यदि आपको थकान, कमजोरी का अनुभव होता है तो ऐसा आपके शरीर में रक्त की कमी के कारण भी हो सकता है । रक्त में हीमोग्लोबिन होता है जो की हमारे शरीर में हमारे मस्तिष्क के साथ साथ अन्य सभी भागों में ऑक्सीजन पहुँचाने का काम करता है | पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन मिलते रहना हमारे स्वास्थ्य के लिए अत्यधिक आवश्यक होता है, इससे हमे कमजोरी , थकान नही होती है और शरीर में उर्जा बनी रहती है| रक्त की कमी को पूरा करने के लिए चुकंदर बहुत ही काम की चीज है |

चुकंदर को अच्छी तरह से धोकर, प्रतिदिन इसे खाने से या एक ग्लास चुकंदर के रस पीने से हमारा स्टैमिना पुनर्जीवित हो जाता है |

Remark :- आप इस article को और बेहतर बनाने में आपना सहयोग दे सकते है | आप अपने सुझाव हमारी email id पर निसंकोच भेजें जिससे हम इस लेख को और अच्छा बना सके |

अपने जानने वालों में ये पोस्ट शेयर करें ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!