6 Simple Things to Check Before Buying A Pen Drive-पेन ड्राइव ख़रीदने मे ध्यान दे इन 6 बातों पर

अपने जानने वालों में ये पोस्ट शेयर करें ...

6 Simple Things to Check Before Buying A Pen Drive-पेन ड्राइव ख़रीदने मे ध्यान दे इन 6 बातों पर

पेन ड्राइव को आप अपने बटुवे जैसा मान सकते हों , जैसे बटुवे मे हम अपना पैसा रखते हैं वैसे ही पेन ड्राइव मे हम अपनी फोटो, फिल्म  तथा अपने आवश्यक काम से जुड़े डॉक्युमेंट्स आदि सुरक्षित रख सकते हैं और इनको लेकर कहीं भी ट्रैवल कर सकते है ।

पेन ड्राइव Non volatile memory है अर्थात ऐसी मेमोरी है जिसमे डाटा तब भी सुरक्षित रहता है जब इसको बिजली नही मिलती है इसलिए इसमे डाटा अपने आप डिलीट नही होता है और लंबे समय तक सुरक्षित रहता है

मार्केट मे अनेक प्रकार की पेन ड्राइव आती हैं , पेन ड्राइव की अलग अलग कंपनी होती है , size अलग होता है यहा तक कि speed और color भी अलग होता है और इसीलिए पेन ड्राइव का मूल्य भी अलग अलग होता है

1. Pen Drive Speed पेन ड्राइव स्पीड

पेन ड्राइव खरीदते समय पेन ड्राइव स्पीड को हमेशा ध्यान रखना चाहिए , पेन ड्राइव स्पीड के आधार पर 2 प्रकार कि होती है . पेन ड्राइव 2.0 (USB 2.0)और पेन ड्राइव 3.0 (USB 3.0). पेन ड्राइव 2.0 (USB 2.0)की स्पीड पेन ड्राइव 3.0 (USB 3.0) से कम होती है इसलिए जब भी आप अपने कम्प्युटर से पेन ड्राइव मे डाटा लेते हो या पेन ड्राइव से कम्प्युटर मे डाटा डालते हो तो दोनों ही स्थितियों मे डाटा लेने या देने मे लगने वाले समय इस बात पर निर्भर करता है की आपकी पेन ड्राइव – पेन ड्राइव 2.0 (USB 2.0)है या पेन ड्राइव 3.0 (USB 3.0) है

जहां पेन ड्राइव 2.0 (USB 2.0) मे कम्प्युटर से डाटा लेते समय ( read time ) स्पीड 40MBPS तक हो सकती है वहीं  कम्प्युटर मे डाटा डालते समय ( write time ) स्पीड  6 से 10MBPS तक हो सकती है

वहीं पेन ड्राइव 3.0 (USB 3.0) मे कम्प्युटर से डाटा लेते समय ( read time ) स्पीड 40MBPS से 300MBPS  तक हो सकती है वहीं  कम्प्युटर मे डाटा डालते समय ( write time ) स्पीड  10–120MBPS तक हो सकती है

दोनों पेन ड्राइव मे अंतर ये है कि पेन ड्राइव 2.0 (USB 2.0) के पोर्ट का color black और पेन ड्राइव 3.0 (USB 3.0) के पोर्ट का color blue होता है

लेकिन पेन ड्राइव 3.0 (USB 3.0) आपको तभी खरीदनी चाहिए जब आपके कम्प्युटर मे USB 3.0 का पोर्ट लगा हो , पुराने कम्प्युटर मे अधिकतर USB 2.0) का पोर्ट ही लगा होता है

2. Pen Drive Size पेन ड्राइव साइज़ 

हमें अधिक क्षमता वाली  पेनड्राइव को ही खरीदना चाहिए लेकिन पेन ड्राइव खरीदते समय अपनी आवश्यकता भी देखे क्योंकि यदि आपका काम 8GB,  16GB तक मे हो जाएगा तो 32GB की पेन ड्राइव खरीदने से क्या लाभ है

और जैसे जैसे technology का विकास हो रहा है वैसे वैसे पेन ड्राइव का मूल्य कम हो रहा है, आज से 10 वर्ष पहले जीतने पैसों मे मैंने 2 GB की पेन ड्राइव खरीदी थी उतने पैसों मे आज 32GB की पेन ड्राइव आसानी से मिल जाती है

ये भी पढे : Career in Aviation-High Salary Jobs with Rapid Growth – A 2 Z

3. Pen Drive Quality पेन ड्राइव क्वालिटी

पेन ड्राइव मेटल और प्लास्टिक दोनों प्रकार की आती हैं, ऐसा देखा गया है कि जो मेटल की पेन ड्राइव होती है वो लंबे समय तक चलती है और प्लास्टिक की पेन ड्राइव से थोड़ी महंगी होती है , प्लास्टिक की पेन ड्राइव लंबे समय तक प्रयोग करने पर टूट जाती हैं

4. Pen Drive Brand पेन ड्राइव ब्रांड

पेन ड्राइव खरीदते समय ये भी ध्यान रखना चाहिए कि हमें अच्छी कंपनी की यानि ब्रांडेड कंपनी की पेनड्राइव ही खरीदनी चाहिए। क्योंकि अच्छी कंपनी की पेन ड्राइव भले ही थोड़ी महंगी हो लेकिन वो अधिक समय तक चलती है जबकि unbranded या लोकल पेन ड्राइव जल्दी खराब हो जाती है और जल्दी टूट भी जाती हैं

pen-drive

5. Pen Drive Warranty / Guarantee पेन ड्राइव warranty / guarantee

पेन ड्राइव खरीदते समय हमे इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि पेन ड्राइव के साथ warranty card या उस पेन ड्राइव का बिल है कि नहीं , आपको पेन ड्राइव खरीदते समय warranty card / bill अवश्य लेना चाहिए क्योंकि warranty card / bill लेने से ये सुनिश्चित हो जाता है कि आपकी पेन ड्राइव असली है

पेन ड्राइव की warranty मिलने से यदि वो खराब हो जाती है तो जिस कंपनी की पेन ड्राइव होती है वो कंपनी आपको खराब पेन ड्राइव के बदले नयी पेन ड्राइव देती है कुछ कंपनियां 5 साल तो कुछ 7 साल की वारंटी देती हैं

6. Pen Drive Design पेन ड्राइव डिज़ाइन

पेन ड्राइव खरीदते समय इस बात पर भी ध्यान दे उसका डिज़ाइन कैसा है , पेन ड्राइव को अधिकतर हम अपनी जेब या पर्स मे रखते हैं इसलिए पेन ड्राइव को खरीदते समय ये ध्यान दें की वो नुकीली न हों क्योंकि वो आपकी जेब / पर्स को फाड़ सकती है , इसलिए पेन ड्राइव के कोने घुमावदार / molded हो तो अच्छी बात है

इसी के साथ पेन ड्राइव मे hook लगा हो तो उसे साथ मे रखना आसान होता है क्योंकि उसे आप अपनी कार या बाइक की चाबी के छल्ले मे लगा सकते है

ये भी पढे : Do you know how dangerous GB WhatsApp is ? GB WhatsApp in hindi-a 2 z

**********************************************

इस article को english मे पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें : Click Me

अपने जानने वालों में ये पोस्ट शेयर करें ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *