planets

planets and our life || ग्रह नक्षत्र

ये 100% सत्य है कि हमे हमारे कर्मो का ही फल मिलता है लेकिन इस जन्म के नही बल्कि हमारे पिछले जन्मो का फल हमे मिलता है …यानि वर्तमान के कर्म हमारा भविष्य तय कर सकते है किन्तु वर्तमान नही…

अपने जानने वालों में ये पोस्ट शेयर करें ...

planets and their impact on our life

ग्रह नक्षत्र का हमारे जीवन पर प्रभाव 

साथियों क्या इस धरती पर ऐसा भी कोई जीव होगा जो दुखी रहना चाहता हो ?

नही न ! चाहे मनुष्य हो या फिर कोई पशु सभी सुख चाहते है किन्तु ये सुख मिलेंगे कि नही ये हमारे ग्रह (planets) निर्धारित करते है |

“ हम सुख पाने के लिए कर्म करना होगा “ ऐसा ही सोच रहे है न आप ?

यदि ऐसा है तो गीता में प्रभु ने ऐसा क्यों कहा है कि मनुष्य मात्र कर्म कर सकता है …उसे उसका फल मिलेगा या नही ये मै निर्धारित करता हूँ |

जी हाँ मित्रो ये 100% सत्य है कि हमे हमारे कर्मो का ही फल मिलता है लेकिन इस जन्म के नही बल्कि हमारे पिछले जन्मो का फल हमे मिलता है …यानि वर्तमान के कर्म हमारा भविष्य तय कर सकते है किन्तु वर्तमान नही ( हां यदि आप कर्म की आंधी ला सके तो सब कुछ परिवर्तित हो सकता है जैसे सती सावित्री जी ने किया था ..किन्तु वो आत्मबल भी संचित कर्मो का फल ही होता है …नही तो पूरा जीवन planning बनाते ही बीत जाता है )

हमारे पिछले जन्मो के कर्म से वर्तमान जन्म के ग्रह (planets) हमें फल या दुष्फल अर्थात दंड देते है |

अनेक साथी ये सोच रहे होंगे कि

कौन सा ग्रह (planet) क्या फल देता है

तो आइये अपने ग्रहों से थोडा परिचय कर लें :-

सूर्य :- सूर्य हमे अपने जीवन में मिल रहे सम्मान,सफलता,आत्मविश्वास के कारक होते है ( इसके लिए कुंडली का लग्न भी देखना होता है )

चंद्र :- चन्द्र हमारी मानसिक स्थिति ,भावना,पर्यटन,माँ के कारक होते है |

मंगल :- मंगल हमारे साहस,भूमि,भाइयो से सम्बन्ध, खेल में रूचि , लड़ाई झगडे में रूचि और उसमे सफलता (या असफलता ) के बारे में बताते है |

बुध :- बुद्ध हमें हमारे बोलने का तरीका ( वाकपटुता ),हंसी मजाक,वाकपटुता,तर्क बहस,बहनों से सम्बन्ध के बारे में बताते है |

गुरु :- गुरु हमारे ज्ञान,धैर्य,उच्च शिक्षा,धर्म और धर्म के प्रति हमारा व्यवहार और समझ के बारे में बताते है |

शुक्र :- शुक्र हमारी कला,सौम्यता,स्त्रियों और कन्याओं के प्रति व्यवहार,हमारा रहन सहन,खानपान( और स्वास्थ्य भी – इसके लिए लग्न,6th house भी देखते है ) के बारे में बताते है |

शनि :- शनि हमारे निवास,सेवा भावना ,नौकर चाकर,वाहन,साँफ़-सफाई,nervous system को बताते है ।

राहु :- राहु एक असीमित शक्तियों और व्याख्या से परे ग्रह है,सामान्यतः ये हमारी planning,ससुराल,व्याकुलता,अधीरता,विकलांगता,व्यसन इतियादी को बताते है| राहु मृत समान व्यक्ति को जीवित करने की क्षमता रखते है |

केतु :- केतु हमारी गोपनीय बाते,धर्म के समझ,ध्यान और परालौकिक ( अतेंद्रिये ) क्षमताओं को बताते है |

 

Remark :- ज्योतिष , ईश्वर की ज्योति है और पूर्ण रूप से हमारे जन्म के समय ग्रह (planets) और नक्षत्रों का हमारे शरीर और उसके द्वारा हमारे जीवन पर पड़ने वाले प्रभाव को बताती है | इसके द्वारा कुछ नासमझ और कुछ धनलोलुप लोगों ने बहुत से लोगों को ठगा है इसका ये मतलब कदापि नही है की ज्योतिष पाखंड है | हमारे पूर्व जन्म के कर्म अनुसार ये हमें शुभ और अशुभ फल देते है …. कोई भी ग्रह (planet) शुभ या शुभ नही होता है | 

ज्योतिष गणित आधारित अलौकिक विद्या है |

* आप भी अपनी कुंडली की विवेचना करवा सकते है | आप यदि अपना नाम नही बताना चाहते तो किसी भी नाम से कुंडली दिखवा सकते है बस date of birth , place of birth , time of birth सही होना चाहिए |

 planets and our life

अपने जानने वालों में ये पोस्ट शेयर करें ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!