Friday, December 9
Shadow

Author: mai hindu मैंहिंदू

संतोषी माता चालीसा-Santoshi Mata Chalisa in Hindi & English

संतोषी माता चालीसा-Santoshi Mata Chalisa in Hindi & English

trending google, चालीसा Chalisa
संतोषी माता चालीसा-Santoshi Mata Chalisa in Hindi & English संतोषी माता चालीसा-Santoshi Mata Chalisa in Hindi & English: शुक्रवार का दिन माता का दिन माना गया है , इस दिन माँ लक्ष्मी और माँ संतोषी की पूजा की जाती है। जो संतोषी माता की पूजा करते हैं उन्हे कम से कम शुक्रवार के दिन खटाई नहीं खाते हैं । भगवान गणेशजी की दो पत्नियां हैं ऋद्धि और सिद्धि ,  सिद्धि  ने क्षेम और ऋद्धि ने लाभ नाम के 2 पुत्र हुये । गणेशजी की संतोषी नाम की एक पुत्री भी है । ऐसा कहा जाता है कि शुक्रवार के दिन माता संतोषी का व्रत रखने, आरती , संतोषी माता चालीसा और उनकी कथा सुनने से सभी मनोकामनाएं पूर्ण होती है।  तो आइये करते हैं संतोषी माता चालीसा Santoshi Mata Chalisa in Hindi & English ॥ दोहा ॥ बन्दौं सन्तोषी चरण रिद्धि-सिद्धि दातार । ध्यान धरत ही होत नर दुःख सागर से पार ॥ भक्तन को सन्तोष द...
हनुमान बाहुक का पाठ(hanuman bahuk ka paath) करने से दूर होते हैं असहनीय कष्ट

हनुमान बाहुक का पाठ(hanuman bahuk ka paath) करने से दूर होते हैं असहनीय कष्ट

trending google, पूजा पाठ Pooja Path
हनुमान बाहुक का पाठ (hanuman bahuk ka paath) करने से दूर होते हैं असहनीय कष्ट हनुमान बाहुक का पाठ (hanuman bahuk ka paath) तुलसीदासजी के द्वारा रचित है , ये शीघ्र फलदायक चमत्कारिक स्तोत्र है जिसका पाठ करने से सभी कष्टों का निवारण हो जाता है . 1664 ईशवी मे तुलसीदास जी के बाहुओं ( बाजुओं ) में वात रोग के द्वारा गहरी पीड़ा हो रही थी थी और उनके पूरे शरीर में फोड़े फुंसियां हो गई थी ,  जिससे उन्हें बहुत कष्ट मिल रहा था । तुलसीदास जी ने इन कष्टों से मुक्ति के लिए बहुत से उपाय किए थे लेकिन कष्ट समाप्त होने का नाम ही नहीं ले रहे थे बल्कि बढ़ते ही जा रहे थे। असहनीय कष्टों से अत्यधिक दुखी होकर कष्टों से मुक्ति के लिए गोस्वामी तुलसीदास जी ने हनुमान जी की पूजा प्रारंभ की और हनुमान जी को प्रसन्न करने के लिए 44 पदों मे रचित हनुमान बाहुक की रचना की और उसका पाठ किया । जिसके बाद हनुमान जी ने तुल...
अन्नपूर्णा माता की आरती Annapurna mata aarti lyrics in hindi & english

अन्नपूर्णा माता की आरती Annapurna mata aarti lyrics in hindi & english

आरती संग्रह Aarti Sangrah in hindi
अन्नपूर्णा माता की आरती Annapurna mata aarti lyrics in hindi & english अन्नपूर्णा माता की आरती Annapurna mata aarti lyrics in hindi  एक बहुत ही महत्वपूर्ण आरती है और जब हमारे जीवन मे भोजन तक का संकट या जाए तो ऐसे समय मे हम सभी को माँ अन्नपूर्णा की पूजा और माँ अन्नपूर्णा की आरती अवश्य करनी चाहिए आइए करते हैं अन्नपूर्णा माता की आरती Annapurna mata aarti lyrics in hindi बारम्बार प्रणाम, मैया बारम्बार प्रणाम । जो नहीं ध्यावे तुम्हें अम्बिके, कहां उसे विश्राम । अन्नपूर्णा देवी नाम तिहारो, लेत होत सब काम ॥ बारम्बार प्रणाम, मैया बारम्बार प्रणाम । प्रलय युगान्तर और जन्मान्तर, कालान्तर तक नाम । सुर सुरों की रचना करती, कहाँ कृष्ण कहाँ राम ॥ बारम्बार प्रणाम, मैया बारम्बार प्रणाम । चूमहि चरण चतुर चतुरानन, चारु चक्रधर श्याम । चंद्रचूड़ चन्द्रानन चाकर, शोभा लखहि ललाम ॥ बारम्बार प...
स्त्री की कुंडली में चंद्रमा का प्रभाव stri ki kundli me chandrama-13 moon effects in female horoscope

स्त्री की कुंडली में चंद्रमा का प्रभाव stri ki kundli me chandrama-13 moon effects in female horoscope

trending google, ज्योतिष
स्त्री की कुंडली में चंद्रमा का प्रभाव stri ki kundli me chandrama- 13 moon effects in female horoscope आज हम स्त्री की कुंडली में चंद्रमा का प्रभाव (moon effects in female horoscope) के विषय में जानने का प्रयास करेंगे ,हमने अपने पिछले लेख में स्त्री कुंडली में ग्रह फल के विषय में जाना था,यदि किसी पुरुष की कुंडली में किसी ग्रह विशेष की स्थिति से उस पुरुष को लाभ मिलता है तो ठीक इसके विपरीत उस ग्रह की वही स्थिति किसी स्त्री की कुंडली में अलग प्रभाव देने वाली हो सकती है चंद्रमा से स्त्री का स्वभाव,अन्य लोगों के प्रति व्यवहार , गुण -अवगुण आदि पता चल जाते हैं ।  स्त्री की कुंडली में चंद्रमा- स्त्री के मासिक धर्म ,गर्भाधान, प्रजनन के साथ ही मन, मस्तिष्क, स्वभाव, जननेन्द्रियाँ, गर्भाशय अंडाशय, वक्षस्थल आदि के विषय में बताते हैं  चंद्रमा स्त्री का व्यवहार , स्वाभाव, सौम्यता तय करते हैं क्यो...
कुबेर चालीसा kuber chalisha in hindi & english

कुबेर चालीसा kuber chalisha in hindi & english

trending google, चालीसा Chalisa
कुबेर चालीसा kuber chalisha in hindi & english कुबेर चालीसा kuber chalisha in hindi & english कुबेर चालीसा kuber chalisha in hindi *॥ दोहा ॥* जैसे अटल हिमालय और जैसे अडिग सुमेर । ऐसे ही स्वर्ग द्वार पै, अविचल खड़े कुबेर ॥ विघ्न हरण मंगल करण, सुनो शरणागत की टेर । भक्त हेतु वितरण करो, धन माया के ढ़ेर ॥ *॥ चौपाई ॥* जै जै जै श्री कुबेर भण्डारी । धन माया के तुम अधिकारी ॥ तप तेज पुंज निर्भय भय हारी । पवन वेग सम सम तनु बलधारी ॥ स्वर्ग द्वार की करें पहरे दारी । सेवक इंद्र देव के आज्ञाकारी ॥ यक्ष यक्षणी की है सेना भारी । सेनापति बने युद्ध में धनुधारी ॥ महा योद्धा बन शस्त्र धारैं । युद्ध करैं शत्रु को मारैं ॥ सदा विजयी कभी ना हारैं । भगत जनों के संकट टारैं ॥ प्रपितामह हैं स्वयं विधाता । पुलिस्ता वंश के जन्म विख्याता ॥ विश्रवा पिता इडविडा जी माता । विभीषण भगत आपके ...
खाटू श्याम आरती Khatu Shyam Aarti in Hindi & English

खाटू श्याम आरती Khatu Shyam Aarti in Hindi & English

trending google, आरती संग्रह Aarti Sangrah in hindi
खाटू श्याम आरती Khatu Shyam Aarti in Hindi & English खाटू श्याम आरती Khatu Shyam Aarti in Hindi & English खाटू श्याम आरती Khatu Shyam Aarti in Hindi ॐ जय श्री श्याम हरे, बाबा जय श्री श्याम हरे। खाटू धाम विराजत, अनुपम रूप धरे। ॐ जय श्री श्याम हरे।। रतन जड़ित सिंहासन, सिर पर चंवर ढुरे। तन केसरिया बागो, कुंडल श्रवण पड़े। ॐ जय श्री श्याम हरे।। गल पुष्पों की माला, सिर पार मुकुट धरे। खेवत धूप अग्नि पर दीपक ज्योति जले। ॐ जय श्री श्याम हरे।। मोदक खीर चूरमा, सुवरण थाल भरे। सेवक भोग लगावत, सेवा नित्य करे। ॐ जय श्री श्याम हरे।। झांझ कटोरा और घडियावल, शंख मृदंग घुरे। भक्त आरती गावे, जय-जयकार करे। ॐ जय श्री श्याम हरे।। जो ध्यावे फल पावे, सब दुःख से उबरे। सेवक जन निज मुख से, श्री श्याम-श्याम उचरे। ॐ जय श्री श्याम हरे।। श्री श्याम बिहारी जी की आरती, जो कोई नर गावे। कहत ...
चंद्रमा की आरती- Chandra Aarti in Hindi & English 

चंद्रमा की आरती- Chandra Aarti in Hindi & English 

trending google, आरती संग्रह Aarti Sangrah in hindi
चंद्रमा की आरती- Chandra Aarti in Hindi & English इस पोस्ट में आप पढेंगे चंद्रमा की आरती- Chandra Aarti in Hindi & English का हिन्दू धर्म में बहुत महत्व है क्योंकि चन्द्रमा देवता हिंदू धर्म के प्रमुख देवता हैं, चन्द्रमा को जल तत्व का देवता माना गया है चन्द्रमा के अराध्य देवता भगवान शिव को माना जाता है और इसीलिए भगवान् शिव ने उन्हें अपने शीश पर धारण किया हुआ है । चंद्रमा को सोमवार को पूजा जाता है और इनसे संबंधित कोई भी पूजन कार्य सोमवार को ही करनी चाहिए । जो चन्द्रमा का पूजन करते हैं और साथ ही कम से कम सोमवार के दिन चन्द्रमा की आरती करते हैं , चंद्रमा के 108 नाम और चंद्रमा के मंत्र पढ़ते है तो उन लोगों से भगवान शिव शीघ्र  प्रसन्न हो जाते हैं और उनके जीवन के सभी कष्ट दूर करते हैं क्योंकि संसार में शिव से बड़ा विष धारण करने वाला कोई नही है । चंद्रमा की आरती Chandra Aarti in...
Brahma Ji ki Aarti in Hindi & English ब्रह्मा जी की आरती

Brahma Ji ki Aarti in Hindi & English ब्रह्मा जी की आरती

trending google, आरती संग्रह Aarti Sangrah in hindi
Brahma Ji ki Aarti in Hindi & English ब्रह्मा जी की आरती Brahma Ji ki Aarti in Hindi & English ब्रह्मा जी की आरती   Brahma Ji ki Aarti in Hindi ब्रह्मा जी की आरती पितु मातु सहायक स्वामी सखा, तुम ही एक नाथ हमारे हो। जिनके कुछ और आधार नहीं, तिनके तुम ही रखवारे हो । सब भॉति सदा सुखदायक हो, दुख निर्गुण नाशन हरे हो । प्रतिपाल करे सारे जग को, अतिशय करुणा उर धारे हो । भूल गये हैं हम तो तुमको, तुम तो हमरी सुधि नहिं बिसारे हो । उपकारन को कछु अंत नहीं, छिन्न ही छिन्न जो विस्तारे हो । महाराज महा महिमा तुम्हारी, मुझसे विरले बुधवारे हो । शुभ शांति निकेतन प्रेम निधि, मन मंदिर के उजियारे हो । इस जीवन के तुम ही जीवन हो, इन प्राणण के तुम प्यारे हो में । तुम सों प्रभु पये “कमल” हरि, केहि के अब और सहारे हो । ॥ इति श्री ब्रह्मा जी आरती ॥ ब्रह्मा जी की आरती  Brah...
khatu shyam mandir खाटूश्याम मंदिर: जब कोई न सुने तो जायें खाटूश्यामजी-हारे का सहारा खाटू श्याम हमारा

khatu shyam mandir खाटूश्याम मंदिर: जब कोई न सुने तो जायें खाटूश्यामजी-हारे का सहारा खाटू श्याम हमारा

trending google, पश्चिम भारत के तीर्थ
khatu shyam mandir खाटूश्याम मंदिर: जब कोई न सुने तो जायें खाटूश्यामजी-हारे का सहारा खाटू श्याम हमारा khatu shyam mandir: राजस्थान के सीकर जनपद में खाटू ग्राम में स्थित खाटूश्याम मंदिर भारत के अतिप्रसिद्ध मंदिरों में से एक है , यहाँ देश विदेश से भक्तगण खाटूश्याम जी के दर्शन के लिए आते हैं और लोगों का ऐसा मानना है कि जिसका कोई नही होता है उसका साथ खाटू श्याम बाबा देते हैं और इसीलिए लोग कहते हैं " हारे का सहारा बाबा खाटू श्याम हमारा "  प्रत्येक वर्ष होली पर्व के अवसर पर बाबा खाटू श्याम जी के मंदिर पर एक बड़ा मेला लगता है जिसमे देश-विदेश से लाखों भक्त बाबा खाटू श्याम जी के दर्शन के लिए आते हैं. बाल्यावस्था से ही खाटूश्याम बहुत वीर योद्धा थे, महाभारत काल मे भगवान श्री कृष्ण ने बाबा खाटूश्याम जी को वरदान दिया था कि कलियुग में बाबा खाटू के नाम के आगे भगवान श्री कृष्ण का नाम होगा इसीलिए आज...
Radha Rani Temple Barsana:राधा रानी मंदिर बरसाना यानि लाड़लीजी या श्रीजी मंदिर,बरसाने की होली,इतिहास,दर्शन समय और जाने अष्टसखी मंदिर

Radha Rani Temple Barsana:राधा रानी मंदिर बरसाना यानि लाड़लीजी या श्रीजी मंदिर,बरसाने की होली,इतिहास,दर्शन समय और जाने अष्टसखी मंदिर

trending google, उत्तर भारत के तीर्थ
Radha Rani Temple Barsana:राधा रानी मंदिर बरसाना यानि लाड़लीजी या श्रीजी मंदिर,बरसाने की होली,इतिहास,दर्शन समय और जाने अष्टसखी मंदिर उत्तर प्रदेश के मथुरा जनपद में बरसाना राधा रानी का जन्म स्थल माना जाता है जहाँ स्थित है राधा रानी मंदिर बरसाना ( Radha Rani Temple Barsana) जो एक 250 मीटर ऊँची पहाड़ी पर स्थित है, कुछ लोगों के अनुसार ये पहाड़ी बरसाने का माथा है। इस राधा रानी मंदिर को 'बरसाने की लाडली का मंदिर' और 'राधा रानी का महल' और बरसाना मंदिर भी कहा जाता है। लोग इसे प्रेम से लाड़लीजी और श्रीजी मंदिर भी कहते हैं।  यह मंदिर हिन्दू धर्म का एक पवित्र धार्मिक स्थल है। राधा रानी मंदिर बरसाना ( Radha Rani Temple Barsana) एक पहाड़ी के उपर स्थित एक अत्यंत सुंदर मंदिर है। ऐसा माना जाता है कि भाद्रपद माह में शुक्लपक्ष की अष्टमी को यहाँ राधा जी का जन्म हुआ था। इसीलिए इस दिन यहाँ राधाष्टमी का...
error: Content is protected !!