Wednesday, November 30
Shadow

धर्म Religion

कुबेर चालीसा kuber chalisha in hindi & english

कुबेर चालीसा kuber chalisha in hindi & english

trending google, चालीसा Chalisa
कुबेर चालीसा kuber chalisha in hindi & english कुबेर चालीसा kuber chalisha in hindi & english कुबेर चालीसा kuber chalisha in hindi *॥ दोहा ॥* जैसे अटल हिमालय और जैसे अडिग सुमेर । ऐसे ही स्वर्ग द्वार पै, अविचल खड़े कुबेर ॥ विघ्न हरण मंगल करण, सुनो शरणागत की टेर । भक्त हेतु वितरण करो, धन माया के ढ़ेर ॥ *॥ चौपाई ॥* जै जै जै श्री कुबेर भण्डारी । धन माया के तुम अधिकारी ॥ तप तेज पुंज निर्भय भय हारी । पवन वेग सम सम तनु बलधारी ॥ स्वर्ग द्वार की करें पहरे दारी । सेवक इंद्र देव के आज्ञाकारी ॥ यक्ष यक्षणी की है सेना भारी । सेनापति बने युद्ध में धनुधारी ॥ महा योद्धा बन शस्त्र धारैं । युद्ध करैं शत्रु को मारैं ॥ सदा विजयी कभी ना हारैं । भगत जनों के संकट टारैं ॥ प्रपितामह हैं स्वयं विधाता । पुलिस्ता वंश के जन्म विख्याता ॥ विश्रवा पिता इडविडा जी माता । विभीषण भगत आपके ...
खाटू श्याम आरती Khatu Shyam Aarti in Hindi & English

खाटू श्याम आरती Khatu Shyam Aarti in Hindi & English

trending google, आरती संग्रह Aarti Sangrah in hindi
खाटू श्याम आरती Khatu Shyam Aarti in Hindi & English खाटू श्याम आरती Khatu Shyam Aarti in Hindi & English खाटू श्याम आरती Khatu Shyam Aarti in Hindi ॐ जय श्री श्याम हरे, बाबा जय श्री श्याम हरे। खाटू धाम विराजत, अनुपम रूप धरे। ॐ जय श्री श्याम हरे।। रतन जड़ित सिंहासन, सिर पर चंवर ढुरे। तन केसरिया बागो, कुंडल श्रवण पड़े। ॐ जय श्री श्याम हरे।। गल पुष्पों की माला, सिर पार मुकुट धरे। खेवत धूप अग्नि पर दीपक ज्योति जले। ॐ जय श्री श्याम हरे।। मोदक खीर चूरमा, सुवरण थाल भरे। सेवक भोग लगावत, सेवा नित्य करे। ॐ जय श्री श्याम हरे।। झांझ कटोरा और घडियावल, शंख मृदंग घुरे। भक्त आरती गावे, जय-जयकार करे। ॐ जय श्री श्याम हरे।। जो ध्यावे फल पावे, सब दुःख से उबरे। सेवक जन निज मुख से, श्री श्याम-श्याम उचरे। ॐ जय श्री श्याम हरे।। श्री श्याम बिहारी जी की आरती, जो कोई नर गावे। कहत ...
चंद्रमा की आरती- Chandra Aarti in Hindi & English 

चंद्रमा की आरती- Chandra Aarti in Hindi & English 

trending google, आरती संग्रह Aarti Sangrah in hindi
चंद्रमा की आरती- Chandra Aarti in Hindi & English इस पोस्ट में आप पढेंगे चंद्रमा की आरती- Chandra Aarti in Hindi & English का हिन्दू धर्म में बहुत महत्व है क्योंकि चन्द्रमा देवता हिंदू धर्म के प्रमुख देवता हैं, चन्द्रमा को जल तत्व का देवता माना गया है चन्द्रमा के अराध्य देवता भगवान शिव को माना जाता है और इसीलिए भगवान् शिव ने उन्हें अपने शीश पर धारण किया हुआ है । चंद्रमा को सोमवार को पूजा जाता है और इनसे संबंधित कोई भी पूजन कार्य सोमवार को ही करनी चाहिए । जो चन्द्रमा का पूजन करते हैं और साथ ही कम से कम सोमवार के दिन चन्द्रमा की आरती करते हैं , चंद्रमा के 108 नाम और चंद्रमा के मंत्र पढ़ते है तो उन लोगों से भगवान शिव शीघ्र  प्रसन्न हो जाते हैं और उनके जीवन के सभी कष्ट दूर करते हैं क्योंकि संसार में शिव से बड़ा विष धारण करने वाला कोई नही है । चंद्रमा की आरती Chandra Aarti in...
Brahma Ji ki Aarti in Hindi & English ब्रह्मा जी की आरती

Brahma Ji ki Aarti in Hindi & English ब्रह्मा जी की आरती

trending google, आरती संग्रह Aarti Sangrah in hindi
Brahma Ji ki Aarti in Hindi & English ब्रह्मा जी की आरती Brahma Ji ki Aarti in Hindi & English ब्रह्मा जी की आरती   Brahma Ji ki Aarti in Hindi ब्रह्मा जी की आरती पितु मातु सहायक स्वामी सखा, तुम ही एक नाथ हमारे हो। जिनके कुछ और आधार नहीं, तिनके तुम ही रखवारे हो । सब भॉति सदा सुखदायक हो, दुख निर्गुण नाशन हरे हो । प्रतिपाल करे सारे जग को, अतिशय करुणा उर धारे हो । भूल गये हैं हम तो तुमको, तुम तो हमरी सुधि नहिं बिसारे हो । उपकारन को कछु अंत नहीं, छिन्न ही छिन्न जो विस्तारे हो । महाराज महा महिमा तुम्हारी, मुझसे विरले बुधवारे हो । शुभ शांति निकेतन प्रेम निधि, मन मंदिर के उजियारे हो । इस जीवन के तुम ही जीवन हो, इन प्राणण के तुम प्यारे हो में । तुम सों प्रभु पये “कमल” हरि, केहि के अब और सहारे हो । ॥ इति श्री ब्रह्मा जी आरती ॥ ब्रह्मा जी की आरती  Brah...
devuthni ekadashi 2022:देवउठनी एकादशी की तिथि,पूजा मुहूर्त,पूजा विधि,पारण समय और महत्व

devuthni ekadashi 2022:देवउठनी एकादशी की तिथि,पूजा मुहूर्त,पूजा विधि,पारण समय और महत्व

trending google, पूजा पाठ Pooja Path
devuthni ekadashi 2022: देवउठनी एकादशी की तिथि,पूजा मुहूर्त,पूजा विधि,पारण समय और महत्व devuthni ekadashi 2022: कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की एकादशी तिथि को प्रतिवर्ष देवउठनी एकादशी व्रत रखा जाता है जिसे देवोत्थान एकादशी के साथ साथ प्रबोधनी एकादशी, देवउठनी ग्यारस भी कहा जाता है। इस वर्ष यह व्रत 4 नवंबर 2022, शुक्रवार के दिन रखा जाएगा। सभी एकादशी तिथि भगवान् श्रीहरि विष्णु को समर्पित है किन्तु देवउठनी एकादशी का अपना ही महत्व है क्योंकि देवउठनी एकादशी तिथि के दिन भगवान विष्णु 4 माह की लंबी योग निद्रा और चातुर्मास संपन्न हो जाते हैं , इस एकादशी को देवोत्थान एकादशी के नाम से जाना जाता है। इस दिन भगवान विष्णु की विशेष पूजा की जाती है और उनसे परिवार के कल्याण की प्रार्थना की जाती है। देवउठनी एकादशी के दिन से सभी मांगलिक कार्य जैसे विवाह आदि पुनः आरंभ हो जाते हैं। इस दिन भगवान विष्णु की ...
chatthi maiya ki aarti छठ पूजा में छठी माई की आरती

chatthi maiya ki aarti छठ पूजा में छठी माई की आरती

आरती संग्रह Aarti Sangrah in hindi
chatthi maiya ki aarti छठ पूजा में छठी माई की आरती chatthi maiya ki aarti छठी माई की आरती: छठ पूजा में छठी माई और सूर्यदेव की पूजा की जाती है। वर्ष 2022 में छठ पूजा 28 अक्तूबर से आरंभ होकर 31 अक्तूबर तक चलेगी । छठ पूजा पूर्वी भारत का एक प्रमुख पर्व है जिसमे प्रति दिन डूबते हुए सूर्य की पूजा की जाती है। इस पर्व में स्त्रियाँ 24 घंटे से अधिक समय तक कठिन निर्जला उपवास रखती हैं और भगवान सूर्य और छठी मईया की पूजा करती हैं। माताएं अपने संतान की लंबी आयु के लिए और परिवार में सुख-समृद्धि  के लिए कठिन उपवास रखती हैं।  छठ पूजा में छठी माई की आरती का विशेष महत्व होता है ,  आइये जानते हैं छठी माई की आरती chatthi maiya ki aarti छठ पूजा में छठी माई की आरती जय छठी मईया ऊ जे केरवा जे फरेला खबद से, ओह पर सुगा मेड़राए। मारबो रे सुगवा धनुख से, सुगा गिरे मुरझाए॥जय॥... ऊ जे सुगनी जे रोएली ...
Chhath Puja 2022 Date: छठ पूजा की तिथि, शुभ मुहूर्त,नियम और महत्व

Chhath Puja 2022 Date: छठ पूजा की तिथि, शुभ मुहूर्त,नियम और महत्व

trending google, पूजा पाठ Pooja Path
Chhath Puja 2022 Date : छठ पूजा की तिथि, शुभ मुहूर्त, नियम और महत्व भगवान सूर्यदेव की आराधना से जुड़ा पर्व छठ पूजा (Chhath Puja 2022 Date) प्रतिवर्ष कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की षष्ठी तिथि से आरंभ होता है। इस वर्ष 28 अक्टूबर से 31 अक्टूबर तक मनाया जाएगा। यह पर्व विशेष रूप से पूर्वी उत्तरप्रदेश,बिहार, झारखंड,बंगाल मे मनाया जाने वाला पर्व है किन्तु देश के अन्य भागों के साथ साथ छठ पर्व आज विदेशों मे भी प्रसिद्ध है  वैसे तो छठ पर्व प्रति वर्ष 2 बार मनाया जाता है। चैत्र माह शुक्ल षष्ठी और कार्तिक माह शुक्ल षष्ठी को किन्तु दीपावली पर्व के बाद मनाया जाने वाला छठ पर्व  विशेष रूप से प्रसिद्द है। छठ पर्व पूर्वी भारत का महापर्व है, इसमें छठी मैया और सूर्य देव की विशेष पूजा की जाती है। छठ पर्व मे छठी मैया की पूजा की जाती है जो अपने भक्तो को सुख-समृद्धि, धन, वैभव, यश और मान-सम्मान प्रदान करती  ...
Diwali 2022 date 24 or 25 :दीपावली-धनतेरस,नरक चतुर्दशी,गोवर्धन पूजा,भाई दूज का शुभ मुहर्त,महत्व,तिथि की सम्पूर्ण जानकारी

Diwali 2022 date 24 or 25 :दीपावली-धनतेरस,नरक चतुर्दशी,गोवर्धन पूजा,भाई दूज का शुभ मुहर्त,महत्व,तिथि की सम्पूर्ण जानकारी

trending google, पूजा पाठ Pooja Path
Diwali 2022 date 24 or 25:दीपावली-धनतेरस,नरक चतुर्दशी,गोवर्धन पूजा,भाई दूज का शुभ मुहर्त,महत्व,तिथि की सम्पूर्ण जानकारी Diwali 2022 date 24 or 25 :प्रत्येक वर्ष कार्तिक माह में अमावस्या तिथि को दीपावली पर्व मनाया जाता है। इस वर्ष कार्तिक माह की अमावस्या तिथि 24 और 25 अक्टूबर दोनों ही दिन है। अब चूँकि 25 अक्टूबर को अमावस्या तिथि प्रदोष काल से पहले ही समाप्त हो जाएगी जबकि 24 अक्टूबर को अमावस्या प्रदोष काल में रहेगी इसीलिए इस वर्ष दीपावली पर्व  ( Diwali 2022 ) 24 अक्टूबर को ही मनाया जाएगा। दीपावली 5 दिवसीय पर्व होता है इसलिए इस वर्ष दीपावली पर्व 22 अक्टूबर को धनतेरस से आरंभ होकर 27 अक्टूबर भाई दूज के दिन तक मनाई जाएगी जिसमे धनतेरस 22 अक्टूबर , छोटी दीपावली यानि रूप चौदस 23 अक्टूबर,मुख्य दीपावली पर्व 24 अक्टूबर, 25 अक्टूबर को भी कार्तिक कृष्ण अमावस्या है और इस दिन सूर्यग्रहण भी है इसलिए अन...
karwa chauth 2022 date-जाने करवा चौथ का शुभ मुहर्त,तिथि,पूजा विधि और कथा

karwa chauth 2022 date-जाने करवा चौथ का शुभ मुहर्त,तिथि,पूजा विधि और कथा

trending google, पूजा पाठ Pooja Path
karwa chauth 2022 date-जाने करवा चौथ का शुभ मुहर्त,तिथि,पूजा विधि और कथा karwa chauth 2022 : करवा चौथ हिन्दू धर्म का एक अति पवित्र और अत्यधिक महवपूर्ण पर्व है जिसे मुख्यतः सुहागिन स्त्रियाँ मनाती है , किन्तु आज के समय में इस पर्व के महत्व को देखते हुए अच्छे वर की अभिलाषा में कुवारीं कन्याएं भी इस पर्व पर व्रत रखती है | प्रत्येक वर्ष कार्तिक माह के कृष्ण पक्ष में नवरात्रि और शरद पूर्णिमा के बाद आने वालों में पर्वों में करवा चौथ सुहागिन स्त्रियों के पर्व के रूप में ही जाना जाता है ,करवा चौथ को कृष्ण पक्ष की चतुर्थी तिथि को पूरे देश विदेश में मनाया जाता है| वर्ष 2022 में करवाचौथ का व्रत 13 अक्तूबर को मनाया जाएगा । करवा चौथ के दिन सुहागिन स्त्रियाँ अपनी पति की लंबी आयु के लिए पूरे दिन निर्जला व्रत रखती है। करवा चौथ का व्रत सूर्योदय से पहले प्रारम्भ हो जाता है और संध्या को चंद्रदेव के द...
शीतला माता की आरती Shitala mata ki Aarti in Hindi & English

शीतला माता की आरती Shitala mata ki Aarti in Hindi & English

trending google, आरती संग्रह Aarti Sangrah in hindi
शीतला माता की आरती Shitala mata ki Aarti in Hindi & English शीतला माता की आरती Shitala mata ki Aarti in Hindi & English शीतला माता एक प्रसिद्ध हिन्दू देवी हैं , शीतला माता की पूजा और व्रत करने से चेचक और रक्त संक्रमण आदि रोग नही लगते हैं । स्कंद पुराण में शीतला देवी  वाहन गर्दभ बताया गया है अर्थात शीतला माता का वाहन गधा होता है । शीतला माता अपने हाथों में कलश, सूप, मार्जन (झाडू) और नीम के पत्ते धारण किए रहती हैं । जो शीतला माता का व्रत रखते हैं उन्हे प्रातः शीघ्र उठकर नहा कर , स्वच्छ वस्त्र पहन हाथ में जल लेकर पूजा का संकल्प लेना चाहिए और उसके बाद  विधि-विधान शीतला माता की पूजा करनी चाहिए । श्री शीतला माता की आरती Shitala mata ki Aarti in Hindi जय शीतला माता, मैया जय शीतला माता, आदि ज्योति महारानी सब फल की दाता ॥ जय.. रतन सिंहासन शोभित, श्वेत छत्र भ्राता, ऋद्धिसिद्...
error: Content is protected !!