उत्तर भारत के तीर्थ

माँ शारदा माई-मैहर देवी | maihar devi

माँ शारदा माई के परम भक्त आल्हा उदल को माँ शारदा माई का आशीर्वाद प्राप्त था इसलिए पृथ्वीराज चौहान युद्ध में पराजित हुए थे किन्तु इसके पश्चात आल्हा के मन में वैराग्य आ गया और उन्होंने सांसारिक जीवन से संन्यास लेने का मन बना लिया…

माता सिमसा मंदिर- जहाँ मिलती है संतान(mata-simsa-mandir)

माता सिमसा अपने भक्तों को स्वप्न में आकर संतान होने के संबंध में संकेत देकर उनकी निराशा को आशा में बदल देती है…

माँ विंध्यवासिनी || vindhyanchal temple

संसार में सती माता के जितने भी शक्तिपीठ हैं वहाँ पर  सती माता के शरीर के अंग गिरे थे किन्तु विंध्याचल धाम वो स्थान जिसे आदि शक्ति ने पृथ्वी पर अपने जन्म के बाद निवास करने के लिए चुना था…

संकट मोचन मंदिर वाराणसी-हनुमान जी का सिद्ध मंदिर

वाराणसी नगर के दक्षिण में और बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय के निकट उत्तरी दिशा में भगवान् राम के परम भक्त हनुमान जी का सभी संकटों को दूर करने वाला एक चमत्कारी मंदिर है जो सारे संसार में संकट मोचन मंदिर के नाम से प्रसिद्ध है…

error: Content is protected !!