Wednesday, November 30
Shadow

आरती संग्रह Aarti Sangrah in hindi

खाटू श्याम आरती Khatu Shyam Aarti in Hindi & English

खाटू श्याम आरती Khatu Shyam Aarti in Hindi & English

trending google, आरती संग्रह Aarti Sangrah in hindi
खाटू श्याम आरती Khatu Shyam Aarti in Hindi & English खाटू श्याम आरती Khatu Shyam Aarti in Hindi & English खाटू श्याम आरती Khatu Shyam Aarti in Hindi ॐ जय श्री श्याम हरे, बाबा जय श्री श्याम हरे। खाटू धाम विराजत, अनुपम रूप धरे। ॐ जय श्री श्याम हरे।। रतन जड़ित सिंहासन, सिर पर चंवर ढुरे। तन केसरिया बागो, कुंडल श्रवण पड़े। ॐ जय श्री श्याम हरे।। गल पुष्पों की माला, सिर पार मुकुट धरे। खेवत धूप अग्नि पर दीपक ज्योति जले। ॐ जय श्री श्याम हरे।। मोदक खीर चूरमा, सुवरण थाल भरे। सेवक भोग लगावत, सेवा नित्य करे। ॐ जय श्री श्याम हरे।। झांझ कटोरा और घडियावल, शंख मृदंग घुरे। भक्त आरती गावे, जय-जयकार करे। ॐ जय श्री श्याम हरे।। जो ध्यावे फल पावे, सब दुःख से उबरे। सेवक जन निज मुख से, श्री श्याम-श्याम उचरे। ॐ जय श्री श्याम हरे।। श्री श्याम बिहारी जी की आरती, जो कोई नर गावे। कहत ...
चंद्रमा की आरती- Chandra Aarti in Hindi & English 

चंद्रमा की आरती- Chandra Aarti in Hindi & English 

trending google, आरती संग्रह Aarti Sangrah in hindi
चंद्रमा की आरती- Chandra Aarti in Hindi & English इस पोस्ट में आप पढेंगे चंद्रमा की आरती- Chandra Aarti in Hindi & English का हिन्दू धर्म में बहुत महत्व है क्योंकि चन्द्रमा देवता हिंदू धर्म के प्रमुख देवता हैं, चन्द्रमा को जल तत्व का देवता माना गया है चन्द्रमा के अराध्य देवता भगवान शिव को माना जाता है और इसीलिए भगवान् शिव ने उन्हें अपने शीश पर धारण किया हुआ है । चंद्रमा को सोमवार को पूजा जाता है और इनसे संबंधित कोई भी पूजन कार्य सोमवार को ही करनी चाहिए । जो चन्द्रमा का पूजन करते हैं और साथ ही कम से कम सोमवार के दिन चन्द्रमा की आरती करते हैं , चंद्रमा के 108 नाम और चंद्रमा के मंत्र पढ़ते है तो उन लोगों से भगवान शिव शीघ्र  प्रसन्न हो जाते हैं और उनके जीवन के सभी कष्ट दूर करते हैं क्योंकि संसार में शिव से बड़ा विष धारण करने वाला कोई नही है । चंद्रमा की आरती Chandra Aarti in...
Brahma Ji ki Aarti in Hindi & English ब्रह्मा जी की आरती

Brahma Ji ki Aarti in Hindi & English ब्रह्मा जी की आरती

trending google, आरती संग्रह Aarti Sangrah in hindi
Brahma Ji ki Aarti in Hindi & English ब्रह्मा जी की आरती Brahma Ji ki Aarti in Hindi & English ब्रह्मा जी की आरती   Brahma Ji ki Aarti in Hindi ब्रह्मा जी की आरती पितु मातु सहायक स्वामी सखा, तुम ही एक नाथ हमारे हो। जिनके कुछ और आधार नहीं, तिनके तुम ही रखवारे हो । सब भॉति सदा सुखदायक हो, दुख निर्गुण नाशन हरे हो । प्रतिपाल करे सारे जग को, अतिशय करुणा उर धारे हो । भूल गये हैं हम तो तुमको, तुम तो हमरी सुधि नहिं बिसारे हो । उपकारन को कछु अंत नहीं, छिन्न ही छिन्न जो विस्तारे हो । महाराज महा महिमा तुम्हारी, मुझसे विरले बुधवारे हो । शुभ शांति निकेतन प्रेम निधि, मन मंदिर के उजियारे हो । इस जीवन के तुम ही जीवन हो, इन प्राणण के तुम प्यारे हो में । तुम सों प्रभु पये “कमल” हरि, केहि के अब और सहारे हो । ॥ इति श्री ब्रह्मा जी आरती ॥ ब्रह्मा जी की आरती  Brah...
chatthi maiya ki aarti छठ पूजा में छठी माई की आरती

chatthi maiya ki aarti छठ पूजा में छठी माई की आरती

आरती संग्रह Aarti Sangrah in hindi
chatthi maiya ki aarti छठ पूजा में छठी माई की आरती chatthi maiya ki aarti छठी माई की आरती: छठ पूजा में छठी माई और सूर्यदेव की पूजा की जाती है। वर्ष 2022 में छठ पूजा 28 अक्तूबर से आरंभ होकर 31 अक्तूबर तक चलेगी । छठ पूजा पूर्वी भारत का एक प्रमुख पर्व है जिसमे प्रति दिन डूबते हुए सूर्य की पूजा की जाती है। इस पर्व में स्त्रियाँ 24 घंटे से अधिक समय तक कठिन निर्जला उपवास रखती हैं और भगवान सूर्य और छठी मईया की पूजा करती हैं। माताएं अपने संतान की लंबी आयु के लिए और परिवार में सुख-समृद्धि  के लिए कठिन उपवास रखती हैं।  छठ पूजा में छठी माई की आरती का विशेष महत्व होता है ,  आइये जानते हैं छठी माई की आरती chatthi maiya ki aarti छठ पूजा में छठी माई की आरती जय छठी मईया ऊ जे केरवा जे फरेला खबद से, ओह पर सुगा मेड़राए। मारबो रे सुगवा धनुख से, सुगा गिरे मुरझाए॥जय॥... ऊ जे सुगनी जे रोएली ...
शीतला माता की आरती Shitala mata ki Aarti in Hindi & English

शीतला माता की आरती Shitala mata ki Aarti in Hindi & English

trending google, आरती संग्रह Aarti Sangrah in hindi
शीतला माता की आरती Shitala mata ki Aarti in Hindi & English शीतला माता की आरती Shitala mata ki Aarti in Hindi & English शीतला माता एक प्रसिद्ध हिन्दू देवी हैं , शीतला माता की पूजा और व्रत करने से चेचक और रक्त संक्रमण आदि रोग नही लगते हैं । स्कंद पुराण में शीतला देवी  वाहन गर्दभ बताया गया है अर्थात शीतला माता का वाहन गधा होता है । शीतला माता अपने हाथों में कलश, सूप, मार्जन (झाडू) और नीम के पत्ते धारण किए रहती हैं । जो शीतला माता का व्रत रखते हैं उन्हे प्रातः शीघ्र उठकर नहा कर , स्वच्छ वस्त्र पहन हाथ में जल लेकर पूजा का संकल्प लेना चाहिए और उसके बाद  विधि-विधान शीतला माता की पूजा करनी चाहिए । श्री शीतला माता की आरती Shitala mata ki Aarti in Hindi जय शीतला माता, मैया जय शीतला माता, आदि ज्योति महारानी सब फल की दाता ॥ जय.. रतन सिंहासन शोभित, श्वेत छत्र भ्राता, ऋद्धिसिद्...
Tulsi mata ki aarti in hindi & english – माता तुलसी आरती

Tulsi mata ki aarti in hindi & english – माता तुलसी आरती

आरती संग्रह Aarti Sangrah in hindi
tulsi mata ki aarti- माता तुलसी आरती Tulsi mata ki aarti in hindi & english - माता तुलसी आरती के साथ माँ तुलसी पूजन , कार्तिक शुक्ल पक्ष एकादशी के दिन किया जाता है और ये हिन्दू धर्म का एक अति पवित्र पर्व है, तुलसी विवाह में माँ तुलसी और भगवान विष्णु का विवाह करवाया जाता है। जिन युवक युवतीओं के विवाह में विलंब अथवा कठिनाइयाँ आ रही हों उनके परिजनों को तुलसी विवाह अवश्य करवाना चाहिए , इस पर्व में माँ तुलसी की आरती का बहुत महत्व है। आइये हम भी करें माँ तुलसी आरती माता तुलसी आरती Tulsi mata ki aarti in hindi तुलसी महारानी नमो-नमो, हरि की पटरानी नमो-नमो । धन तुलसी पूरण तप कीनो, शालिग्राम बनी पटरानी । जाके पत्र मंजरी कोमल, श्रीपति कमल चरण लपटानी ॥ धूप-दीप-नवैद्य आरती, पुष्पन की वर्षा बरसानी । छप्पन भोग छत्तीसों व्यंजन, बिन तुलसी हरि एक ना मानी ॥ सभी सखी मैया तेरो यश गावें, ...
ram ji ki aarti in hindi राम जी की आरती

ram ji ki aarti in hindi राम जी की आरती

trending google, आरती संग्रह Aarti Sangrah in hindi
ram ji ki aarti in hindi राम जी की आरती ram ji ki aarti in hindi & english राम जी की आरती  राम जी की आरती ram ji ki aarti in hindi   श्री राम चंद्र कृपालु भजमन हरण भाव भय दारुणम्। नवकंज लोचन कंज मुखकर, कंज पद कन्जारुणम्।। कंदर्प अगणित अमित छवी नव नील नीरज सुन्दरम्। पट्पीत मानहु तडित रूचि शुचि नौमी जनक सुतावरम्।। भजु दीन बंधु दिनेश दानव दैत्य वंश निकंदनम्। रघुनंद आनंद कंद कौशल चंद दशरथ नन्दनम्।। सिर मुकुट कुण्डल तिलक चारु उदारू अंग विभूषणं। आजानु भुज शर चाप धर संग्राम जित खर-धूषणं।। इति वदति तुलसीदास शंकर शेष मुनि मन रंजनम्। मम ह्रदय कुंज निवास कुरु कामादी खल दल गंजनम्।। मनु जाहिं राचेऊ मिलिहि सो बरु सहज सुंदर सावरों। करुना निधान सुजान सिलू सनेहू जानत रावरो।। एही भांती गौरी असीस सुनी सिय सहित हिय हरषी अली। तुलसी भवानी पूजि पूनी पूनी मुदित मन मंदिर चली।। जानि ...
Bhairav Aarti in Hindi & English – श्री भैरव आरती

Bhairav Aarti in Hindi & English – श्री भैरव आरती

आरती संग्रह Aarti Sangrah in hindi
Bhairav Aarti in Hindi & English - श्री भैरव आरती Bhairav Aarti in Hindi & English - श्री भैरव आरती श्री भैरव आरती Sri Bhairav Aarti in Hindi    सुनो जी भैरव लाड़िले,कर जोड़ कर विनती करुं । कृपा तुम्हारी चाहिये, मैं ध्यान तुम्हरा ही धरूं ॥ मैं चरण छुता आपके,अर्जी मेरी सुन लिजिये । मैं हूं मति का मंद, मेरी कुछ मदद तो किजिये महिमा तुम्हारी बहुत, कुछ थोड़ी सी मैं वर्णन करूं ॥ सुनो जी भैरव लाड़िले ॥ करते सवारी स्वान की, चारो दिशा मे राज्य है जितने भूत और प्रेत हैं ,सबके आप ही सरताज हैं हथियार हैं जो आपके, उसका क्या वर्णन करूं ॥ सुनो जी भैरव लाड़िले ॥ माता जी के समने तुम, नृत्य भी करते सदा गा गा के गुण अनुवाद से,उनको रिझाते गन हो सदा एक सांकली है आपकी , तारिफ उसकी क्या करूं ॥ सुनो जी भैरव लाड़िले ॥ बहुत सी महिमा तुम्हारी,मेंहदीपुर सरनाम है ...
kali mata ki aarti in hindi & english काली माता की आरती

kali mata ki aarti in hindi & english काली माता की आरती

trending google, आरती संग्रह Aarti Sangrah in hindi
kali mata ki aarti in hindi & english काली माता की आरती kali mata ki aarti in hindi & english काली माता की आरती काली माता की आरती *kali mata ki aarti in hindi* अम्बे तू है जगदम्बे काली, जय दुर्गे खप्पर वाली, तेरे ही गुण गावें भारती, ओ मैया हम सब उतारे तेरी आरती। तेरे भक्त जनो पर माता भीर पड़ी है भारी। दानव दल पर टूट पडो माँ करके सिंह सवारी॥ सौ-सौ सिहों से बलशाली, है अष्ट भुजाओं वाली, दुष्टों को तू ही ललकारती। ओ मैया हम सब उतारे तेरी आरती॥ माँ-बेटे का है इस जग मे बडा ही निर्मल नाता। पूत-कपूत सुने है पर ना माता सुनी कुमाता॥ सब पे करूणा दर्शाने वाली, अमृत बरसाने वाली, दुखियों के दुखडे निवारती। ओ मैया हम सब उतारे तेरी आरती॥ नहीं मांगते धन और दौलत, न चांदी न सोना। हम तो मांगें तेरे चरणों में छोटा सा कोना॥ सबकी बिगड़ी बनाने वाली, लाज बचाने वाली, सतियों के सत को सवा...
संतोषी माता की आरती  Santoshi mata ki aarti

संतोषी माता की आरती  Santoshi mata ki aarti

trending google, आरती संग्रह Aarti Sangrah in hindi
संतोषी माता की आरती  Santoshi mata ki aarti  Santoshi mata ki aarti: संतोषी माता के आशीर्वाद से हमारे भीतर संतोष उत्पन्न होता है इसीलिए संतोषी माता को संतोष या संतुष्टि की माँ के रूप में जाना जाता है, संतोषी माता भगवान् श्री गणेश जी की पुत्री हैं और हमारी सभी शुभ कामनायों की पूर्ती करके अंतत शमारे जीवन में संतोष उत्पन्न करती हैं आइये हम सब भी करें (you have read Santoshi mata ki aarti) Santoshi mata ki aarti in hindi संतोषी माता की आरती   जय संतोषी माता, मैया जय संतोषी माता । अपने सेवक जन की, सुख सम्पति दाता । जय संतोषी माता, मैया जय संतोषी माता । सुन्दर चीर सुनहरी, मां धारण कीन्हो । हीरा पन्ना दमके, तन श्रृंगार लीन्हो । जय संतोषी माता, मैया जय संतोषी माता । गेरू लाल छटा छबि, बदन कमल सोहे । मंद हंसत करुणामयी, त्रिभुवन जन मोहे । गेरू लाल छटा छबि, बदन कमल सोहे ...
error: Content is protected !!