Sunday, September 25
Shadow

trending google

navratri 2022: नवरात्री पूजन विधि-कलश स्थापना-पूजन सामग्री

navratri 2022: नवरात्री पूजन विधि-कलश स्थापना-पूजन सामग्री

trending google, पूजा पाठ Pooja Path
navratri 2022: नवरात्री पूजन विधि-कलश स्थापना-पूजन सामग्री navratri 2022 : हिंदू धर्म में माँ का स्थान सर्वोपरि रखा गया है और इसीलिए आदिशक्ति माँ दुर्गा की आराधना का अपना ही महत्व है, आश्विन माह  के शुक्ल पक्ष में प्रतिपदा तिथि अर्थात एकम से शारदीय नवरात्रि आरंभ हो जाते हैं। शारदीय नवरात्री मे 26 सितंबर 2022 को कलश स्थापना की जाएगी । इस दिन शुक्ल और ब्रह्रा योग के रूप मे बहुत ही शुभ योग बना हुआ है । वर्ष 2022 मे 26 सितंबर,सोमवार से शारदीय नवरात्रि प्रारंभ होकर 05 अक्तूबर को विजयादशमी पर समाप्त हो जाएँगे । नवरात्रि मे 9 दिनों तक मां शक्ति रूपी दुर्गा माता का पूजन विशेष रूप से किया जाता है । पहले दिन कलश स्थापना करते हुए विधि-विधान से मां दुर्गा की उपासना प्रारंभ होगी और अष्टमी और नवमी तिथि पर कन्या पूजन किया जाएगा। देशभर में शारदीय नवरात्रि पर दुर्गा पूजा के लिए भव्य पंडाल लगाए जाते ...
पितरों को प्रसन्न करने के मंत्र – पितृ गायत्री मंत्र-pitra paksh mantra-pitra gayatri mantra

पितरों को प्रसन्न करने के मंत्र – पितृ गायत्री मंत्र-pitra paksh mantra-pitra gayatri mantra

trending google, पूजा पाठ Pooja Path
पितरों को प्रसन्न करने के मंत्र - पितृ गायत्री मंत्र-pitra paksh mantra-pitra gayatri mantra pitra paksh mantra-pitra gayatri mantra :साथियों पितरों को प्रसन्न करने के मंत्र - पितृ गायत्री मंत्र का पितृ पक्ष में बहुत महत्व है , प्रतिवर्ष भादो माह में पूर्णिमा से आश्विन माह की अमावस्या( सर्वपितृ मोक्ष अमावस्या ) तक पूरे 16 दिन तक का समय श्राद्ध पक्ष यानि पितृ पक्ष कहलाता है। श्राद्ध पक्ष यानि पितृ पक्ष के समय में पितरों की आत्मा की तृप्ति के लिए विधि विधान से श्राद्ध तर्पण किया जाता है। इससे हम सब पितरों को प्रसन्न और उन्हें पितृ लोक के कष्टों से मुक्त करने का प्रयास कर सकते हैं पितृपक्ष में श्राद्ध को लेकर कुछ नियमो का पालन किया जाता है जैसे पितरों की मृत्यु जिस तिथि को हुई होती है, उसी तिथि में उनका श्राद्ध किया जाता है। जैसे किसी की मृत्यु प्रतिपदा तिथि को हुई थी तो उनका श्राद्ध पि...
ram ji ki aarti in hindi राम जी की आरती

ram ji ki aarti in hindi राम जी की आरती

trending google, आरती संग्रह Aarti Sangrah in hindi
ram ji ki aarti in hindi राम जी की आरती ram ji ki aarti in hindi & english राम जी की आरती  राम जी की आरती ram ji ki aarti in hindi   श्री राम चंद्र कृपालु भजमन हरण भाव भय दारुणम्। नवकंज लोचन कंज मुखकर, कंज पद कन्जारुणम्।। कंदर्प अगणित अमित छवी नव नील नीरज सुन्दरम्। पट्पीत मानहु तडित रूचि शुचि नौमी जनक सुतावरम्।। भजु दीन बंधु दिनेश दानव दैत्य वंश निकंदनम्। रघुनंद आनंद कंद कौशल चंद दशरथ नन्दनम्।। सिर मुकुट कुण्डल तिलक चारु उदारू अंग विभूषणं। आजानु भुज शर चाप धर संग्राम जित खर-धूषणं।। इति वदति तुलसीदास शंकर शेष मुनि मन रंजनम्। मम ह्रदय कुंज निवास कुरु कामादी खल दल गंजनम्।। मनु जाहिं राचेऊ मिलिहि सो बरु सहज सुंदर सावरों। करुना निधान सुजान सिलू सनेहू जानत रावरो।। एही भांती गौरी असीस सुनी सिय सहित हिय हरषी अली। तुलसी भवानी पूजि पूनी पूनी मुदित मन मंदिर चली।। जानि ...
Saraswati Chalisa in Hindi & English -श्री सरस्वती चालीसा

Saraswati Chalisa in Hindi & English -श्री सरस्वती चालीसा

trending google, चालीसा Chalisa
Saraswati Chalisa in Hindi & English -श्री सरस्वती चालीसा Saraswati Chalisa in Hindi & English -श्री सरस्वती चालीसा का पाठ नित्य करने से माँ सरस्वती का आशीर्वाद प्राप्त होता है और व्यक्ति को विद्या, बुद्धि,ज्ञान और एकाग्रता की प्राप्ति होती है।कुंडली में राहु कुपित हो तो माँ सरस्वती चालीसा करने से वो बुरा फल देना बंद कर देते हैं आइये हम सब भी करें सरस्वती चालीसा श्री सरस्वती चालीसा Saraswati Chalisa in Hindi **॥ दोहा ॥** जनक जननि पद्मरज, निज मस्तक पर धरि । बन्दौं मातु सरस्वती, बुद्धि बल दे दातारि ॥ पूर्ण जगत में व्याप्त तव, महिमा अमित अनंतु। दुष्जनों के पाप को, मातु तु ही अब हन्तु ॥ **॥ चालीसा ॥** जय श्री सकल बुद्धि बलरासी । जय सर्वज्ञ अमर अविनाशी ॥ जय जय जय वीणाकर धारी । करती सदा सुहंस सवारी ॥ रूप चतुर्भुज धारी माता । सकल विश्व अन्दर विख्याता ॥4 जग में प...
Sri Krishna Chalisa in English & Hindi-श्री कृष्ण चालीसा

Sri Krishna Chalisa in English & Hindi-श्री कृष्ण चालीसा

trending google
Sri Krishna Chalisa in English & Hindi-श्री कृष्ण चालीसा Krishna Chalisa in English & Hindi-श्री कृष्ण चालीसा: श्री कृष्ण चालीसा का पाठ करने बाद आप एक प्रकार से भगवान् नारायण की चालीसा कर लेते हैं क्योंकि प्रभु विष्णु के जितने भी अवतार हुए उन सब में श्री कृष्ण से युक्त अवतार हुए हैं और जिसने इसकी चालीसा का पाठ कर लिया उसके जीवन में सुख-सौभाग्य की अवश्य वृद्धि होती है। श्री कृष्ण की कृपा से धन,सिद्धि-बुद्धि,ज्ञान और विवेक की प्राप्ति होती है क्योंकि जो श्री कृष्ण शरणागत है उसे संसार में किसी बात की कोई कमी नही हो सकती है तो आइये हम सब भी करें श्री कृष्ण चालीसा का पाठ श्री कृष्ण चालीसा Sri Krishna Chalisa in Hindi **॥ दोहा ॥** बंशी शोभित कर मधुर, नील जलद तन श्याम। अरुणअधरजनु बिम्बफल, नयनकमलअभिराम॥ पूर्ण इन्द्र, अरविन्द मुख, पीताम्बर शुभ साज। जय मनमोहन मदन छवि, कृष्णचन्द...
ganesh kavach in hindi श्री गणेश कवच

ganesh kavach in hindi श्री गणेश कवच

trending google, कवच पाठ संग्रह
ganesh kavach in hindi श्री गणेश कवच ganesh kavach in english & hindi-श्री गणेश कवच: श्री गणेश कवच Sri ganesh kavach in hindi श्री गणेश कवचम् ध्यायेत् सिंहगतं विनायकममुं दिग्बाहुमाद्ये युगे, त्रेतायां तु मयूरवाहनममुं षड्बाहुकं सिद्धिदम्। द्वापरे तु गजाननं युगभुजं रक्ताङ्गरागं विभुं, तुर्ये तु द्विभुजं सितांगरुचिरं सर्वार्थदं सर्वदा ॥ विनायकः शिखां पातु परमात्मा परात्परः। अतिसुन्दरकायस्तु मस्तकं महोत्कटः॥ ललाटं कश्यपः पातु भ्रूयुगं तु महोदरः। नयने फालचन्द्रस्तु गजास्यस्त्वोष्ठपल्लवौ॥ जिह्वां पातु गणक्रीडश्चिबुकं गिरिजासुतः। वाचं विनायकः पातु दन्तान् रक्षतु दुर्मुखः ॥ श्रवणौ पाशपाणिस्तु नासिकां चिन्तितार्थदः। गणेशस्तु मुखं कण्ठं पातु देवो गणञ्जयः॥ स्कन्धौ पातु गजस्कन्धः स्तनौ विघ्नविनाशनः। हृदयं गणनाथस्तु हेरंबो जठरं महान् ॥ धराधरः पातु पार्श्वौ पृष्ठं विघ्नहरः शुभ...
Kali Kavach in english & hindi माँ काली कवच

Kali Kavach in english & hindi माँ काली कवच

trending google, कवच पाठ संग्रह
Kali Kavach in english & hindi माँ काली कवच Kali Kavach in english & hindi माँ काली कवच - माँ काली कवच का पाठ करने से भूत-प्रेत,जादू-टोने के प्रभाव से मुक्ति मिलती है और इनसे रक्षा मिलती है, माँ काली कवच पाठ संसार की समस्त अदृश्य बुरी शक्तियों से सुरक्षा देने वाला कवच है और इस कवच का रात्रि मे किया गया पाठ शीघ्र फलदायी होता है माँ काली कवच Kali Kavach in hindi नारद उवाच कवचं श्रोतुमिच्छामि तां च विद्यां दशाक्षरीम् । नाथ त्वत्तो हि सर्वज्ञ भद्रकाल्याश्च सांप्रतम् ।। नारायण उवाच श्रुणु नारद वक्ष्यामि महाविद्यां दशाक्षरीम् । गोपनीयं च कवचं त्रिषु लोकेषु दुर्लभम् ।। ॐ ह्रीं श्रीं क्लीं कालिकायै स्वाहेति च दशाक्षरीम् । दुर्वासा हि ददौ राज्ञे पुष्करे सुर्यपर्वणि ।। दशलक्षजपेनैव मन्त्रसिद्धिः कृता पुरा । पञ्चलक्षजपेनैव पठन् कवचमुत्तमम् ।। बभूव सिद्धकवचोSप्ययोध्यामाजगाम सः...
Pitru Paksha 2022 Date and Time :16 दिनों का पितृपक्ष 2022 क्यों है विशेष ,जाने तर्पणविधि,सावधानी,किस दिन किसका श्राद्ध और मंत्र

Pitru Paksha 2022 Date and Time :16 दिनों का पितृपक्ष 2022 क्यों है विशेष ,जाने तर्पणविधि,सावधानी,किस दिन किसका श्राद्ध और मंत्र

trending google, पूजा पाठ Pooja Path
Pitru Paksha 2022 Date and Time :16 दिनों का पितृपक्ष 2022 क्यों है विशेष,जाने तर्पणविधि,सावधानी,किस दिन किसका श्राद्ध और मंत्र Pitru Paksha 2022 Date and Time : आज 10 सितंबर से पितृपक्ष 2022 आरंभ हो रहे हैं जोकि 25 सितंबर को समाप्त होंगे और इस प्रकार वर्ष 2022 में पितृपक्ष 16 दिन के होंगे जबकि सामान्यतः ये 15 दिनों के होते हैं।  आज भाद्र मास शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा यानि 10 सितंबर के दिन ऋषि तर्पण होगा और इसी के साथ पितृ पूजन का समय प्रारंभ हो जाएगा।भाद्रपद मास की पूर्णिमा तिथि से अश्विन मास के कृष्ण पक्ष की अमावस्या तिथि तक पितृपक्ष का समय होता है ।  आज 10 सितंबर के दिन दोपहर के बाद से पूर्णिमा लग जाएगी।क्योंकि कल प्रतिपदा लग जाएगी इस लिए पूर्णिमा का श्राद्ध आज ही के दिन किया जायेगा पूरे वर्ष में पितृपक्ष वो समय होता है जब पितरों का श्राद्ध और तर्पण किया जाता है। सनातन हिन्दू ध...
kali mata ki aarti in hindi & english काली माता की आरती

kali mata ki aarti in hindi & english काली माता की आरती

trending google, आरती संग्रह Aarti Sangrah in hindi
kali mata ki aarti in hindi & english काली माता की आरती kali mata ki aarti in hindi & english काली माता की आरती काली माता की आरती *kali mata ki aarti in hindi* अम्बे तू है जगदम्बे काली, जय दुर्गे खप्पर वाली, तेरे ही गुण गावें भारती, ओ मैया हम सब उतारे तेरी आरती। तेरे भक्त जनो पर माता भीर पड़ी है भारी। दानव दल पर टूट पडो माँ करके सिंह सवारी॥ सौ-सौ सिहों से बलशाली, है अष्ट भुजाओं वाली, दुष्टों को तू ही ललकारती। ओ मैया हम सब उतारे तेरी आरती॥ माँ-बेटे का है इस जग मे बडा ही निर्मल नाता। पूत-कपूत सुने है पर ना माता सुनी कुमाता॥ सब पे करूणा दर्शाने वाली, अमृत बरसाने वाली, दुखियों के दुखडे निवारती। ओ मैया हम सब उतारे तेरी आरती॥ नहीं मांगते धन और दौलत, न चांदी न सोना। हम तो मांगें तेरे चरणों में छोटा सा कोना॥ सबकी बिगड़ी बनाने वाली, लाज बचाने वाली, सतियों के सत को सवा...
श्री लक्ष्मी सहस्रनाम स्तोत्र | Sri Lakshmi Sahasranama Stotram in Hindi-1000 names of maa laxmi

श्री लक्ष्मी सहस्रनाम स्तोत्र | Sri Lakshmi Sahasranama Stotram in Hindi-1000 names of maa laxmi

trending google
श्री लक्ष्मी सहस्रनाम स्तोत्र || Sri Lakshmi Sahasranama Stotram in Hindi-1000 names of maa laxmi Sri Lakshmi Sahasranama Stotram in Hindi: जीवन में प्रसन्नता , सुख और आनंद प्राप्त करने के लिए धन और धन के लिए माँ लक्ष्मी की प्रसन्नता आवश्यक है और श्री लक्ष्मी सहस्त्रनाम हमें ये सब प्रदान करने की क्षमता रखता है , इसके पाठ से हमारे जीवन की सभी आर्थिक समस्यायें , दरिद्रता और धन से जुड़े सभी कार्यों में सफलता मिलने लगती है  माँ लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए सबसे अच्छा दिन शक्रवार माना गया है। इस दिन से श्री लक्ष्मी सहस्त्रनाम के पाठ का आरंभ करें और उसका परिणाम देंखे  श्री लक्ष्मी सहस्रनाम स्तोत्र Sri Lakshmi Sahasranama Stotram in Hindi ॐ नित्यागतायै नमः । ॐ अनन्तनित्यायै नमः । ॐ नन्दिन्यै नमः । ॐ जनरञ्जन्यै नमः । ॐ नित्यप्रकाशिन्यै नमः । ॐ स्वप्रकाशस्वरूपिण्यै नमः । ॐ महालक्ष्म...
error: Content is protected !!