जगन्नाथपुरी(jagannath temple) char dham A 2 Z Complete & Easy Guide

जगन्नाथपुरी jagannath temple char dham

उड़ीसा राज्य के पुरी नगर में बंगाल की खाड़ी के तट पर पूरी सृष्टि के स्वामी श्री जगन्नाथ विराजित है| हिन्दू धर्म में अति पवित्र चार धाम में से एक धाम है जगन्नाथ पुरी , अन्य तीन धाम है – बद्रीनाथ,द्वारिका और रामेश्वरम|

बद्रीनाथ (badrinath dham) 1 of the char dham yatra A 2 Z Complete & Easy Guide

बद्रीनाथ badrinath dham char dham

बद्रीनाथ मन्दिर की प्राचीनता इसी से पता चलती है कि बद्रीनाथ मंदिर का उल्लेख विष्णु पुराण, महाभारत तथा स्कन्द पुराण समेत कई प्राचीन ग्रन्थों में मिलता है और प्रभु बद्रीनाथ तीर्थ के बारे में ये कहा गया है कि स्वर्ग, पृथ्वी तथा नर्क तीनों ही स्थान में चाहे कितने ही तीर्थ हो किन्तु बद्रीनाथ जैसा तीर्थ न कभी था, न है और न ही कभी होगा।

द्वारिकाधीश मंदिर (dwarikadheesh temple) A 2 Z Complete & Easy Guide

द्वारिकाधीश मंदिर(dwarikadheesh temple)

गुजरात के जामनगर जनपद में गोमती नदी जिसे गोदावरी के नाम से भी जाना जाता है के तट पर स्थित है , प्रभु श्री कृष्णा की नगरी द्वारका | देवता विश्वकर्मा ने एक ही रात में इस भव्य नगरी का निर्माण कर दिया था |

ghushmeshwar jyotirling – घुश्मेश्वर(घृष्णेश्वर)मन्दिर,महराष्ट्र

ghushmeshwar jyotirling

शिवपुराण में घुश्मेश्वर महादेव का वर्णन मिलता है,जिन दम्पतियों को अनेक स्थानों पर उपचार कराने के बाद और अनेक वर्षों के बाद भी जब संतान नही होती है , तो प्रभु घुश्मेश्वर के पूजन से और प्रभु की कृपा से उनको भी संतान प्राप्त हो जाती है |

शिवजी की आरती

पूजा पाठ के सही नियम |pooja path kaise kare

शिवजी की आरती ॐ जय शिव ओंकारा, स्वामी जय शिव ओंकारा। ब्रह्मा, विष्णु, सदाशिव, अर्द्धांगी धारा॥ ॐ जय शिव ओंकारा॥ एकानन चतुरानन पञ्चानन राजे। हंसासन गरूड़ासन वृषवाहन साजे॥ ॐ जय शिव ओंकारा॥ दो भुज चार चतुर्भुज दसभुज अति सोहे। त्रिगुण रूप निरखते त्रिभुवन जन मोहे॥ […]

गणेश जी की आरती

ganesh ji

प्रत्येक कार्य प्रारम्भ करने से पूर्व गणेश जी का नाम लेना अति आवश्यक होता है…तभी कार्य सिद्ध होता है …तो किसी भी पूजन में सर्वप्रथम गणेश जी की आरती करें … जय गणेश जय गणेश, जय गणेश देवा । माता जाकी पार्वती, पिता महादेवा ॥ […]

error: Content is protected !!