covid-19

कोरोना वायरस covid-19 कैसे फैलता है,लक्षण व बचाव

जब एक संक्रमित व्यक्ति खांसता है या छींकता है, तो सांस की बूंदें अन्य लोगों के मुंह या नाक के द्वारा शरीर के भीतर चली जाती हैं जिसके द्वारा निकट खड़ा स्वस्थ …

अपने जानने वालों में ये पोस्ट शेयर करें ...

Coronavirus in hindi

कैसे फैलता है कोरोना वायरस (COVID-19):-

ये मुख्य रूप से व्यक्ति-से-व्यक्ति (person to person) फैलता है यानि लगभग 6 फीट के भीतर उन लोगों के बीच जो एक दूसरे के निकट संपर्क में होते हैं तब एक संक्रमित व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति और दूसरे व्यक्ति के संक्रमित हो जाने पर तीसरे व्यक्ति और इस तरह से आगे फैलता ही जाता है |

कोरोना वायरस कब फैलता है ?

(transmission of coronavirus)

  1. जब एक संक्रमित व्यक्ति खांसता है या छींकता है, तो सांस की बूंदों का उत्पादन होता है।ये सांस की बूंदें अन्य लोगों के मुंह या नाक के द्वारा निकट खड़े व्यक्तियों के शरीर के भीतर फेफड़ो में चली जाती हैं और वो भी कोरोना वायरस से पीड़ित हो जाता है
  2. किसी पीड़ित व्यक्ति के द्वारा अपनी नाक,मुह,आँख के छूने और फिर उसी हाथ से दूसरे लोगो से हाथ मिलाने से भी फैलता है| अभी हाल ही में इजराइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतान्याहू ने भी हिन्दू संस्कृति में एक दूसरे अभिवादन के लिए नमस्ते करने की परम्परा को कोरोना वायरस से बचने का एक बढ़िया उपाय बताया था|
  3. जब पीड़ित व्यक्ति अपने संक्रमित हाथों से किसी सार्वजनिक स्थान जैसे किसी टेबल, बायोमेट्रिक मशीन, बस, ट्रेन,टेम्पू ,लाइट स्विच, काउंटरटॉप्स, हैंडल, डेस्क, फोन, कीबोर्ड, शौचालय, नल और सिंक इतियादी के हत्थे को पकड़ता है और फिर उसी हत्थे को दूसरे स्वस्थ लोग अपने हाथों से पकड़ते है, ऐसा करने से भी कोरोना वायरस के फैलने की सम्भावना बढ़ जाती है|

कोरोना वायरस से बचने के उपाय 

prevention of coronavirus

कोरोनवायरस वायरस 2019 (COVID-19)  से बचने या इसे रोकने के लिए वर्तमान में कोई टीका नहीं बना है।

  1. कोरोना वायरस के संक्रमण से होने वाली बीमारी से बचने का सबसे अच्छा तरीका है कि आप संक्रमित व्यक्ति से दूरी बना कर रहे , चूँकि हम संक्रमित व्यक्ति को नही पहचान सकते है इसलिए सबसे अच्छा उपाय है कि जुकाम , खांसी जैसे रोगों से पीड़ित व्यक्ति से , सार्वजनिक प्रयोग में आने वाल वस्तुओं से , अत्यधिक लोगों की भींड से बचने का प्रयास करे|
  2. ये वायरस मुख्य रूप से व्यक्ति-से-व्यक्ति फैलता है इसलिए लोगों से कम से कम 6 फीट की दूरी बना कर रखें|
  3. साबुन और पानी से अपने हाथों को कम से कम 20 सेकंड के लिए धोएं जब जब धोयें जब आप आप किसी सार्वजनिक स्थान पर रहे हों या अपनी नाक बहने के बाद, खांसते या छींकते के बाद भी अपने हाथों को अनेक बार धोयें |
  4. यदि साबुन और पानी आसानी से उपलब्ध नहीं हैं, तो हैंड सैनिटाइज़र का प्रयोग करें जिसमें कम से कम 60% अल्कोहल हो। अपने हाथों को आगे पीछे और हाथों की सभी सतहों पर हैंड सैनिटाइज़र का प्रयोग करें और उन्हें एक साथ रगड़ें जब तक कि वे सूख न जाएं।
  5. दूसरे व्यक्तियों को अपनी आंखों, नाक और मुंह को छूने से बचाए और रोंके|
  6. यदि आपको  बाहर का खाने से दूरी बनाये साथ ही कूरियर से कोई भी सामन न मंगाए|ऐसा सामान अनेक हाथो से होकर आता है जिसके द्वारा भी coronavirus आप तक पहुँच सकता है |
  7. लम्बी यात्रा न करे |  

जो लोग अस्वस्थ्य है वो घर पर आराम करे और

खांसी ,जुकाम होने पर या छींक आने पर अपनी नाक और मुह को मास्क से अथवा किसी साफ़ कपडे से भी कवर कर सकते है| ऐसा करने के लिए आप चाहे तो रुमाल के भीतर tissue paper रखकर फिर उसे मोड़ कर अपने मुह और नाक को ढ़ककर रख सकते है |

भारत में coronavirus से पहली मौत 

(first coronavirus death in india )

कर्णाटक में 76 वर्षीय वृद्ध की मंगलवार को मौत हो चुकी है , ये सऊदी अरब से 29 फ़रवरी को भारत लौटे थे और जांच में coronavirus से पीड़ित पाए गये थे और 5 मार्च से HOSPITAL में भर्ती हो अपना उपचार करा रहे थे | स्वास्थ्य  विभाग ने शुरुआत में इनको coronavirus से पीड़ित नही माना था |

कोरोना वायरस की कब जांच कराये

coronavirus symptoms

कोरोनावायरस (कोवाइड-19) से यदि कोई पीड़ित है तो सबसे पहले उस व्यक्ति को बुख़ार होता है उसके बाद उसे सूखी खांसी होती है और फिर 6 – 7 दिनों बाद सांस लेने में परेशानी अनुभव होने लगती है तो यदि किसी को बुखार, खांसी, और / या साँस लेने में कठिनाई या छाती में लगातार दर्द या दबाव, चेहरे पर जलन, या चेहरे के फफोले जैसे लक्षण विकसित हो रहे हो तो या फिर वो व्यक्ति किसी और COVID-19 से पीड़ित व्यक्ति के निकट संपर्क में आया हो तो या अभी हाल ही में COVID-19 से प्रभावित क्षेत्र में यात्रा की हो तो है उस व्यक्ति को कोरोना वायरस से वो पीड़ित है या नही इसकी जांच करनी चाहिए|

समय पर जांच करा लेने से कोरोना वायरस से बचा जा सकता है|

 

कोरोना वायरस से बचने के लिए क्या फेस मास्क पहनना आवश्यक है

(coronavirus face mask)

  1. यदि आप बीमार नहीं हैं तब आपको तब तक फेस मास्क पहनने की आवश्यकता नहीं है जब तक आप किसी ऐसे व्यक्ति की देखभाल नहीं कर रहे हैं जो बीमार है और वे व्यक्ति फेसमास्क पहनने में सक्षम नहीं हैं।
  2. फेस मास्क के अत्यधिक प्रयोग में आने से इनकी आपूर्ति कम हो पा रही है इसलिए ऐसे में फेस मास्क स्वस्थ्य व्यक्ति से अधिक बीमार व्यक्ति के लिए आवश्यक है |यदि आप रुमाल से भी अपने चेहरे को ढ़ककर रखते है और संक्रमित व्यक्तियों से दूरी बना कर रखते है तो भी आप कोरोना वायरस से बचे रह सकते हैं|
  3. किसी रोगी व्यक्ति की देखभाल के समय आपको फेस मास्क की आवश्यकता है|

 

यदि आपको लगता है कि आप भी coronavirus से पीड़ित हो सकते है तो आप स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय की हेल्पलाइन 011-23978046 पर कभी भी कॉल कर सकते है |

कोरोना वायरस के बारे में फैली भ्रांतियों को और अधिक फैलने से रोकें …यदि आप कोरोना वायरस को रोकने के अन्य उपाय जानते है तो हमसे साझा करें … maihindu.com आपके उपायों को भी प्रकाशित करने का प्रयास करेगा|

अपने जानने वालों में ये पोस्ट शेयर करें ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!