Monday, February 6
Shadow

Vishangiri temple dholpur: इस मंदिर मे होता है कैंसर का उपचार baba can treat cancer

अपने जानने वालों में ये पोस्ट शेयर करें ...

Vishangiri temple dholpur: इस मंदिर मे होता है कैंसर का उपचार baba can treat cancer

Vishangiri temple dholpur can treat cancer : जी हाँ इस मंदिर मे हो जाता है कैंसर का उपचार, धौलपुर जनपद मे बाड़ी नामक स्थान के निकट उमरेह गांव में स्थित बिशनगिरी मंदिर मे आने से कैंसर जैसे रोग समाप्त हो जाते है और बिशनगिरी बाबा के आशीर्वाद से लोग पूर्णत स्वस्थ हो जाते है।

आज विज्ञान के युग मे जहां जीवन से जुड़े सभी पक्षों विज्ञान के तथ्यों  से जोड़कर देखे जाते हैं वहीं आप बिशनगिरी मंदिर (Vishngiri temple dholpur ) मे आने वाले भक्तों के द्वारा सुनाई गयी बाबा बिशनगिरी के चमत्कारों की कहानी को भी आप नकार नहीं सकेंगे ।

बिशनगिरी मंदिर मे आने  के बाद आप साइंस के सिद्धांत भूलकर भक्तों की आस्था और श्रद्धा पर विश्वास करने लग जाएँगे  क्योंकि आज के समय में जहां हर रोग का उपचार है लेकिन कुछ रोग ऐसे भी होते है जिनका उपचार किसी के पास नहीं होता है और ऐसा ही एक रोग है कैंसर ।

बिशनगिरी मंदिर धौलपुर जनपद से लगभग 40 किलोमीटर दूर है, जीवन से निराश हो चुके लोगों के लिए ये मंदिर एक हॉस्पिटल जैसा ही है। चिकित्सकों से निराश लोग आज भी विशनगिरी बाबा के मंदिर में पहुंचकर श्रद्धा से बाबा बिशनगिरी की भभूति अपने माथे पर लगाते हैं।

बाबा बिशनगिरी की भभूति के लगाने से बाबा के आशीर्वाद से उनके असाध्य रोग समाप्त हो जाते है और ये चमत्कार अनेक लोगों ने अपने जीवन मे घटित होते देखा है , बाबा बिशनगिरी नाम से जाने जाने वाले इस मंदिर में लोग कैंसर के अतिरिक्त अन्य रोगों का उपचार कराने के लिए पहुंचते हैं।

स्थानीय लोगों के अनुसार इस मंदिर मे पूरे देश से लोग आते हैं और बाबा बिशनगिरी का आशीर्वाद पाते हैं , इस मंदिर की प्रसिद्धि दूर-दूर तक फैली है।

बिशनगिरी मंदिर मे होता है कैंसर का उपचार 

भारत में कैंसर के अनेक रोगी हैं जिनके पास ऐसा कोई भी साधन नही जिससे वो कैंसर का उपचार करवा सकें । कैंसर का उपचार आज भी दर्दकारक और अत्यधिक महंगा है और ऐसे मे जब आपको ये पता चलता है कि हमारे देश मे ऐसे भी मंदिर हैं जहां अलौकिक कृपा से कैंसर का उपचार संभव है तो कितनी प्रसन्नता होगी।

जी हाँ, भारत मे अनेक चमत्कारी मंदिर हैं जिनमे से एक है विशनगिरी धाम मंदिर । यहां बड़ी संख्या में श्रद्धालु आते हैं जोकि किसी ना किसी रोग से पीड़ित होते हैं लेकिन यहाँ की चमत्कारी भभूत लगाने मात्र से वो ठीक हो कर जाते हैं। बाबा विशनगिरी के भक्तो का मानना है कि इस मंदिर में रहकर कैंसर तक के रोगी ठीक हो जाते है।

जब कोई रोगी यहाँ आता है उसे बाबा की ‘भभूत’ दी जाती है और भभूत मात्र से रोगी का उपचार हो जाता है। मंदिर के नियमों का पालन करते हुए मात्र यहां भभूत खाने से ही कैंसर जैसी रोग सही हो जाती है। इसके लिए रोगी को ना तो कोई दवा ( medicine ) लेनी पड़ती और ना ही उन्हे कोई ऑपरेशन कराना पड़ता है।

कौन हैं बाबा विशनगिरी

who is baba vishangiri

कुछ लोगों के अनुसार रामसागर के किनारे स्थित इस स्थान पर वर्षों पहले विशनगिरी नाम के एक साधु निवास करते थे , वो एक तपस्वी थे और आस पड़ोस के लोग अपने रोगों के उपचार के लिए बाबा के पास ही जाते थे क्योंकि बाबा उन्हे एक ऐसी भभूत दिया करते थे जिससे वो शीघ्र स्वस्थ हो जाते थे ।

धीरे धीरे बाबा का नाम सभी लोग जानने लगे  । मंदिर के पुजारी छिंगा बाबा के अनुसार लगभग 200 वर्ष पूर्व बिशनगिरी बाबा का जन्म निकट के गाँव खिदरपुर में हुआ था| मंदिर के पुजारी बताते हैं कि बाबा के शरीर पर एक बार घाव हो गया था और उस घाव के कारण बाबा बिशनगिरी का स्वास्थ्य खराब हो गया था और उनका निधन हो गया ।

उसके बाद बाबा बिशनगिरी ने कुछ लोगों को दर्शन देकर बताया कि अब वे स्वयं रोगी  लोगों का उपचार करेंगे। तभी से इस मंदिर में रोगी लोग दूर दूर से उपचार के लिए आते हैं ।बाबा की श्रवण शक्ति कमजोर थी इसलिए अनेक लोग उन्हें बैहरा बाबा के नाम से भी पुकारते थे।

आज भी लोग जब उनके मंदिर मे जाते हैं तो उनके नाम की भभूति लगाकर जोर से बाबा का नाम पुकारते हैं। जब लोग बाबा की समाधि से भभूत लेकर सेवन करते हैं तो रोग मुक्त हो जाते है | यहां आने वाले रोगियों में सबसे अधिक कैंसर के रोगी होते है।

बिशनगिरी मंदिर का मेला 

विसनगिर बाबा के स्थान पर हर वर्ष भादो की नवमी को मेला लगता है। जबकि हर महीने कृष्णपक्ष की नवमींको बड़ी संख्या में श्रद्धालु यहां आते है। यहां आकर रोगी अपने असाध्य रोगों से छुटकारा पाते हैं।

कैसे पहुंचे बिशनगिरी मंदिर धौलपुर 

(How to reach Vishangiri temple dholpur)

बिशनगिरी मंदिर धौलपुर वायु , रेल और सड़क मार्ग से इस प्रकार जाया जा सकता है।

वायु मार्ग से कैसे पहुंचे बिशनगिरी मंदिर धौलपुर

(How to reach Vishangiri temple dholpur by flight )

बिशनगिरी मंदिर धौलपुर का निकटतम हवाई अड्डा  राजमाता विजयराजे सिंधिया विमानक्षेत्र या ग्वालियर हवाईअड्डा (आईएटीए: GWL, आईसीएओ: VIGR) यहाँ दिल्ली, मुंबई से  नियमित घरेलू उड़ानों से आती हैं और निकटतम अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा जयपुर हवाई अड्डा Jaipur International Airport (IATA: JAI, ICAO: VIJP) है ।

रेल मार्ग से कैसे पहुंचे बिशनगिरी मंदिर धौलपुर

(How to reach Vishangiri temple dholpur by Train )

रेल द्वारा: बिशनगिरी मंदिर धौलपुर का निकटतम रेलवे स्टेशन धौलपुर रेलवे स्टेशन Dholpur Junction railway station ( station code : DHO ) है इस station पर दिल्ली, आगरा, मुंबई, चेन्नई, अजमेर, पाली, जयपुर, अहमदाबाद जैसे प्रमुख नगरों से रेलगाड़ी आती हैं ।

विभिन्न ट्रेनों में रिजर्वेशन की स्थिति जानने के लिए यहाँ click करें

click करे : – IRCTC 

सड़क मार्ग से कैसे पहुंचे बिशनगिरी मंदिर धौलपुर

(How to reach Vishangiri temple dholpur by Road )

bus

बिशनगिरी मंदिर धौलपुर स्थानीय बस या स्थानीय टैक्सी द्वारा सरलता से पहुंचा जा सकता है। ये मंदिर पूर्ण रूप से सड़क परिवहन से जुड़ा हुआ है. राजस्थान रोडवेज अथवा निजी टैक्सी वाहन के जरिये इस मन्दिर तक पंहुचा जा सकता है।

अपने जानने वालों में ये पोस्ट शेयर करें ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!