Saturday, December 10
Shadow

हनुमान जी की आरती hanuman ji ki aarti

अपने जानने वालों में ये पोस्ट शेयर करें ...

हनुमान जी की आरती hanuman ji ki aarti

मित्रों हनुमान जी की आरती hanuman ji ki aarti का पाठ से चमत्कारिक फल मिलते हुए देखे गए हैं यदि कुंडली में शनि या राहु से कष्ट हो,ये ग्रह निर्बल हो तो इस  आरती के पाठ से सभी कष्ट दूर हो जाते है ,प्रभु राम के परम भक्त हनुमान जी शक्ति और उर्जा के प्रतीक है, जब भी जीवन में निराशा आ जाये , शक्ति और उर्जा की कमी का अनुभव हो तो प्रभु हनुमान जी को ध्यान करें

हनुमान जी की आरती hanuman ji ki aarti

आरती कीजै हनुमान लला की। दुष्ट दलन रघुनाथ कला की॥
जाके बल से गिरिवर कांपे। रोग दोष जाके निकट न झांके॥

अंजनि पुत्र महा बलदाई। सन्तन के प्रभु सदा सहाई॥
दे बीरा रघुनाथ पठाए। लंका जारि सिया सुधि लाए॥

लंका सो कोट समुद्र-सी खाई। जात पवनसुत बार न लाई॥
लंका जारि असुर संहारे। सियारामजी के काज सवारे॥

लक्ष्मण मूर्छित पड़े सकारे। आनि संजीवन प्राण उबारे॥
पैठि पाताल तोरि जम-कारे। अहिरावण की भुजा उखारे॥

बाएं भुजा असुरदल मारे। दाहिने भुजा संतजन तारे॥
सुर नर मुनि आरती उतारें। जय जय जय हनुमान उचारें॥

कंचन थार कपूर लौ छाई। आरती करत अंजना माई॥
जो हनुमानजी की आरती गावे। बसि बैकुण्ठ परम पद पावे॥

mehandipur balaji मेहंदीपुर बालाजी

साथियो अभी हमने हनुमान जी की आरती का पाठ किया , आपको इस website maihindu.com पर अन्य आरती भी पढने को मिल जाएगी जिसके लिए यहाँ click करें  सम्पूर्ण देवी देवताओं की आरती 

मित्रों इन आरतिओं को  करने से धीरे धीरे हमारे सारे कष्ट दूर होने लगते हैं , यदि कुंडली में शनि या राहु से कष्ट हो,ये ग्रह निर्बल हो तो हनुमान जी की आरती का पाठ से सभी कष्ट दूर होंगे

ये भी पढे : vindhyanchal temple : माँ विंध्यवासिनी की a 2 z information

ये भी पढे : रामेश्वरम-प्रभु राम द्वारा स्थापित rameshwaram jyotirlinga know about a2z

आओ computer सीखे –> click here 

अपने जानने वालों में ये पोस्ट शेयर करें ...

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!