career in singing in india -संगीत मे कैरियर : fastest emerging industry 2021

career in singing
अपने जानने वालों में ये पोस्ट शेयर करें ...

career in singing in india – संगीत मे कैरियर : fastest emerging industry 2021

career in singing- यदि आपकी आवाज़ अच्छी है और आपको सुरों की समझ है और उनपर अच्छी पकड़ हैं तब आप संगीत मे कैरियर बना सकते है|

आपके लिए भारतीय संगीत में अनेकों सुनहरे अवसर उपलब्ध हैं 

संगीत से न केवल मनोरंजन होता है बल्कि ये हमारे मन मस्तिष्क को शांत और प्रसन्न भी रखता है 

 अब लोग संगीत को मात्र मनोरंजन का ही एक प्रमुख साधन नहीं मानते हैं बल्कि, भारतीय संगीत इन दिनों करियर का बेहतर ऑप्शन साबित होने के साथ-साथ समाज में सम्मान और पैसा कमाने का मुख्य साधन भी बन गया है.

हमारे देश में संगीत का दबदबा तो प्राचीन काल से ही रहा है और भारतीय संगीत का जादू आज भी सबके सिर चढ़कर बोलता है. इसी प्रकार , मन की शांति और कई रोगों के उपचार के लिए भी भारतीय संगीत को प्रयोग किया जाता है. 

आज के समय में फिल्मों और यूट्यूब में लोग बहुत अधिक रुचि लेने लगे हैं और इसीलिए संगीत और गायकी के प्रोफेशन में भी लोगों की रुचि बढ़ी है|

आज के युग में रियलिटी शो में अपनी संगीत कला का प्रदर्शन कर सुनिधि चौहान, श्रेया घोषाल,अरिजित सिंह, नेहा कक्कड़ जैसे संगीत प्रेमियों को देश-विदेश में प्रसिद्धि मिली है और साथ ही संगीत के बल पर इन लोगों ने करोड़ों कमाएं है.

ये भी पढे : Do you know how dangerous GB WhatsApp is ? GB WhatsApp in hindi-a 2 z

क्या संगीत / गायन सीखा जा सकता है? Can music / singing be learned ?

गायकी के लिए किसी भी प्रकार के शैक्षिक डिग्री या डिप्लोमा की आवश्यकता नहीं होती| गायकी सीखने के लिए अलग अलग शैक्षिक संस्था अवश्य होते हैं लेकिन वे किसी भी प्रकार का डिप्लोमा या डिग्री नहीं देते|

पहले भारत में ऐसे संस्थान बहुत अधिक कम थे लेकिन पिछले कुछ वर्षों में ऐसे संस्थान बहुत अधिक मात्रा में स्थापित किए गए हैं| 

किसी भी गायक की कला को जानने के लिए गायकी में किसी भी प्रकार के सर्टिफिकेट या अंक नहीं देखे जाते| गायक की आवाज़ ही सबसे अधिक महत्व रखती है| 

career in singing

 

image source : unsplash

संगीत में क्या हैं करियर की संभावनाएं ? What are the prospects career in singing / music?

वर्तमान में देश-विदेश में युवाओं में संगीत से जुड़े बैंड बनाने और परफॉर्म करने का ट्रेंड जोर पकड़ता जा रहा है.

संगीत के संसार में टीचिंग, सिंगिंग, म्यूजिशियन, रिकॉर्डिग, कंसर्ट, परफॉर्मर, लाइव शो, डिस जॉकी, वीडियो जॉकी और रेडियो जॉकी के रूप में भी करियर की शुरुआत की जा सकता है.

क्लासिकल, फॉक, गजल, पॉप, फ्यूजन आदि के क्षेत्र में भी अवसरों की भरमार है. इसके अतिरिक्त कुछ ऐसे क्षेत्र भी हैं, जो संगीत से जुडी प्रतिभा को काम और सम्मान मिलता है.

सामान्यतः लोगों का ऐसा मानना है कि संगीत को करियर का आधार बनाने पर टेक्नीकल क्षेत्र में अधिक कुछ करने की संभावनाएं बिलकुल सीमित हो जाती हैं. लेकिन वास्तविकता ठीक इसके विपरीत है. यदि वास्तविकता के धरातल पर देखा जाय तो वर्तमान समय मे पूरे विश्व मे कलाकारों को नाम , काम और सम्मान मिल रहा है और इसीलिए संगीत के क्षेत्र में कई नए विकल्प उभरकर सामने आ रहें हैं.

संगीत के विभिन्न क्षेत्र : Fields of Career in singing :-

  • म्यूजिक इंडस्ट्री 
  • स्टेज परफार्मेंस 
  • टेलीविजन और रेडियो
  • म्यूजिक टीचर
  • म्यूजिक थेरेपिस्ट आदि 

इन सबके अतिरिक्त फिल्म इंडस्ट्री,म्यूजिक लाइब्रेरियन, म्यूजिक सॉफ्टवेयर, प्रोडेक्शन म्यूजिक जैसी विधाओं में भी अपना करियर बनाया जा सकता है.

इंस्ट्रूमेंट मैन्युफैक्चरिंग, म्यूजिक थेरेपी,कॉपीराइटर, रिकॉर्डिग टेक्नीशियन,  प्रोडक्शन, प्रमोशन आदि क्षेत्र में भी बेहतरीन अवसर उपलब्ध हैं.

Job/Career in singing

यदि जॉब की बात की जाय  तो म्यूजिक चैनल,म्यूजिक कंपनी, एफएम चैनल्स, प्रोडक्शन हाउस, म्यूजिक रिसर्च ऑर्गनाइजेशन, एजुकेशनल इंस्टीटयूट, गवर्नमेंट कल्चरल डिपार्टमेंट आदि में जॉब के लिए प्रयास किया जा सकता है.

एक गायक बनकर कितना कमाया जा सकता है ?How much one can earn by adopting career in singing?

जहां फिल्मों में गाने वाले गायकों की आय करोड़ों में होती है वहीं स्कूलों में संगीत सिखाने वाले अध्यापक 30-40 हज़ार रुपए कमाते हैं|

एक गायक की आय इस बात पर निर्भर करती है कि वह कहां कार्य कर रहा है और उसकी संगीत पर पकड़ कितनी ज्यादा है| 

 संगीतकार बनने के बाद जितना कला का विकास किया जाए, कमाई उतनी ही बढ़ती जाती है

ये भी पढे : hemoglobin a 2 z -हीमोग्लोबिन शरीर में सही रखोगे तो आप रहोगे healthy

सिंगर बनने के लिए कौन कौन से कोर्स हैं ? Various courses to learn singing / music

आप सर्टिफिकेट कोर्स, डिप्लोमा कोर्स , बैचलर कोर्स और पोस्ट ग्रेजुएट लेवॅल के कोर्स कर सकते हैं.

आमतौर पर सर्टिफिकेट कोर्स की अवधि एक वर्ष, बैचलर डिग्री कोर्स की तीन वर्ष और पोस्ट ग्रेजुएट लेवॅल कोर्स की अवधि दो वर्ष की होती है.

दसवीं के बाद संगीत के कोर्सेज

संगीत में सर्टिफिकेट

संगीत में डिप्लोमा

संगीत में ग्रेजुएशन (बी.म्यूजिक)

संगीत में बीए

संगीत में बीए (ऑनर्स)

संगीत में एमए (एम.म्यूजिक)

संगीत में एमए

संगीत में एमफिल

संगीत में पीएचडी

संगीत की शिक्षा देने वाले प्रमुख कॉलेज और संस्थान

भारतीय कला केंद्र, दिल्ली

बनारस यूनिवर्सिटी, यूपी

इंदिरा कला संगीत विश्वविद्यालय, मध्यप्रदेश

अजमेर म्यूजिक कॉलेज, अजमेर

बनस्थली विद्यापीठ, बनस्थली, राजस्थान

दिल्ली यूनिवर्सिटी, नई दिल्ली

अखिल भारतीय गांधर्व महाविद्यालय, मुम्बई

पटना यूनिवर्सिटी

भातखंडे म्यूजिक स्कूल, नई दिल्ली

बाबासाहेब भीमराव अंबेदकर यूनिवर्सिटी, बिहार

**

English मे इस article को पढ़ने के लिए यहाँ click करें :  how to make career in singing in india 2021- fastest emerging industry

अपने जानने वालों में ये पोस्ट शेयर करें ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!