computer software notes in hindi

Operating System
अपने जानने वालों में ये पोस्ट शेयर करें ...

computer software notes in hindi

साथियों जिस प्रकार  इस संसार में अलग अलग स्थानों पर रहने वाले इंसानो की अलग-अलग Language होती है और जिस Language को हम समझते हैं उसी language में हम अपने काम करते हैं ,एक दूसरे के साथ communicate करते हैं और एक दूसरे को instructions देते हैं ठीक उसी प्रकार पूरे संसार में अलग अलग स्थानों पर use हो रहे computer भी अलग-अलग प्रकार के हो सकते है ,वो जिस Language में काम कर रहें हों वो Languages भी अलग अलग हो सकती है |

 

एक Computer जिस Language को समझता है ,वो उसी language में दिए गये instructions को मानता है और ये instructions ,एक Programmer लिखता है |

 

Computers अपना जो भी काम करते है वो किसी Instruction या Set of Instructions के अनुसार ही करते है और ये Instructions, Programmers के द्वारा Develop किये जाते है |

 Program क्या होता है | What is Program

(What is Computer Program)

computer को दिया गया कोई एक Instruction या Set of Instructions जिनसे computer, user के द्वारा दिए गए किसी  specific task (work) पूरा कर सके ,को  program कहते है | कोई भी program, computer की किसी language में लिखा होता है जिसे programming language कहते है |

 software क्या होता है | What is software

 Computer software definition

किसी एक program या set of program जिसके द्वारा कोई complete specific task पूरा हो जाए और / या computer के hardware को control करे , को computer software कहते है |

सामान्यतः computer software के साथ , computer software को कैसे use करे , इसके बारे में पूरा documentation भी दिया होता है |

 आज हमारे घरों में प्रयोग होने वाले अधिकतर इलेक्ट्रॉनिक सामानों में computer software लगे रहते हैं

 जो हम टीवी देखते हैं उसमें भी computer software लगा होता है और जो हमारे घर में डिश एंटीना लगा होता है उसके साथ जुड़े हुए सेट टॉप बॉक्स में भी computer software लगा होता हैl

 हमारे घरों में लगे बिजली के मीटर में भी computer software ही लगा होता है, और जब हम अपने घर के लिए गैस का सिलेंडर बुक करते हैं तो वह भी गैस कंपनी के computer software की सहायता से ही करते हैं l

 जब हम अपने बैंक खातों से एटीएम के द्वारा पैसे निकालते हैं तो वह भी एटीएम में लगे computer software की सहायता से ही निकालते हैं l

बैंक के लेनदेन, रेलवे का रिजर्वेशन, नौकरी पाने के लिए फॉर्म भरना, सब में computer software का ही तो हम प्रयोग करते हैं

 

और साथियों आप जो यह ये लेख जिस browser में पढ़ रहे है वो  भी तो  computer software की ही सहायता से पढ़ रहे हैं |

तो computer software जब इतना important है तो आइए हम भी समझते हैं computer software क्या है:-

software definition in hindi  :-

(What is software )

computer के द्वारा किसी complete specific task को पूरा करवाने के लिए या computer के सभी hardware control करने के लिए बनाए गए किसी एक program या set of programs को सॉफ्टवेयर कहते हैl

 software को  इस प्रकार categorize किया जाता है

(classification of software ):

  1. Application software
  2. System software

 

1. Application computer software

User की विशेष आवश्यकताओ को पूरा करने के लिए बनाए गए software को application software कहा जाता है , application software को यदि computer से हटा दिया जाए तो भी computer सही प्रकार से कार्य करता रहेगा l

 application software कई प्रकार के होते हैं | 

types of application software

(list of application software )

जैसे:-

1.Word processing application software ( ms-word etc )

2.Spreadsheet application software ( ms-excel etc)

3.Database application software ( oracle , ms-access etc )

4.Graphics application software ( photoshop etc )

5.Personal assistance application software ( google assistant etc )

6.Educational application software ( Dictionary etc )

7.Entertainment application software ( vlc media player etc)

    Etc.

2. System software

(What is system software | system software notes )

 User और computer hardware के बीच एक interface बनाने के लिए और पूरे computer system को  control करने के लिए जो software बनाया गया, उसे system software कहा जाता है l किसी भी computer से system  software  हटाए जाने पर computer, partially या completely काम करना बंद कर सकता है|

 कुछ system software इस प्रकार है :-

 1.Programming language translators ( compiler,assembler etc)
2.Communications software ( file transfer protocol (FTP) etc )
3.Device drivers ( sound drivers etc )
4.Operating systems ( windows,unix,linux etc )


   Etc.

continue …

 

अपने जानने वालों में ये पोस्ट शेयर करें ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!