शनि शिंगणापुर धाम a miraculous temple of shanidev Shani Shingnapur शनिदेव जन्मस्थान a 2 z complete information

Shani Shingnapur a miraculous temple of shanidev शनिदेव
अपने जानने वालों में ये पोस्ट शेयर करें ...

शनि शिंगणापुर धाम a miraculous temple of shanidev Shani Shingnapur शनिदेव जन्मस्थान a 2 z complete information

Shani Shingnapur : महाराष्ट्र राज्य के अहमदनगर जनपद में स्थित शिंगणापुर गांव में विराजित शनिदेव (shanidev)  की महिमा से पूरा संसार परिचित है ।

संसार के कोने कोने से शनिदेव के भक्त शनि के प्रकोप से मुक्ति पाने हेतु इस मंदिर में आते है, शनि देव का तेल से अभिषेक करते है, उनकी पूजा करते हैं और शनिदेव की कृपा प्राप्त कर कष्ट , रोग और भय से मुक्ति प्राप्त करते हैं

शनि शिंगाणपुर मंदिर में प्रवेश करने के बाद कुछ आगे चलने पर आपको एक खुला मैदान दिखाई देगा जिसके बीच एक संगमरमर के चबूतरे पर प्रभु शनिदेव (shanidev) विशाल काले पत्थर की प्रतिमा के रूप में अपने भक्तो पर कृपा बरसाते हुए विराजित हैं

अनेक लोग केसरी रंग के वस्त्र पहनकर मंदिर में आते हैं। प्रतिदिन शनि देव जी की स्थापित मूर्ती का सरसों के तेल से अभिषेक किया जाता है।

आज के समय में मंदिर में आने पर शनिदेव की मूर्ती से पहले आपको स्टील के बड़े बड़े box रखे मिलेंगे जिसमे भक्त अपने साथ लाया हुआ तेल डाल देते है और ये pump होकर शनिदेव की मूर्ती पर चढ़ता रहता है

यहाँ शनिदेव (shanidev) मंदिर में शनिवार को विशेष भींड होती है

शनिदेव शिंगणापुर का इतिहास  / शनिदेव की पौराणिक कथा

(Shani Shingnapur shanidev history In Hindi)

Shani Shingnapur facts In Hindi

ऐसा कहा जाता है की लगभग 300 वर्ष पहले शिंगणापुर गाँव में घनघोर बरसात हुई और गाँव बाढ़ से डूबने लगा. लोगों को ऐसा लगने लगा कि वह आपदा किसी दैवीय शक्ति के कारण आई है और नदी में बाढ़ के जलप्रवाह में कोई दैवीय शक्ति भी है

जब बारिश रुकी और जलस्तर कुछ कम हो गया तो एक व्यक्ति को एक विशाल काला पत्थर नदी के किनारे बेर के एक पेड़ के पास स्थित दिखाई दिया

उस व्यक्ति ने ये जानना चाह कि ये पत्थर कैसा है और इसलिए उसने सोचा कि इस पत्थर को तोड़ कर देखते हैं और जैसे ही उसने उस पत्थर को तोडना चाह तो उस पत्थर से रक्त की धारा बहने लगी । ये सब देख वो व्यक्ति बुरी तरह से डर गया और गांव की ओर दौड़ा और वहां पहुंचकर सभी को इस घटना के विषय में बताया

ये सब सुन गाँव के लोग वह पत्थर देखने पहुँचे और ये देख दंग रह गए. उन्हें समझ नहीं आ रहा था कि उस काले पत्थर के साथ क्या करें,  उन सब ने अगले दिन वापस आने का का सोचा और गाँव लौट आये

शनि देव ने दर्शन दिए

उसी रात उस व्यक्ति को स्वप्न में शनि देव ने दर्शन दिए और उस विशाल काले पत्थर को गाँव में ही  स्थापित करने का आदेश दिया.

जब सुबह उसने स्वप्न की ये बात गाँव वालों को बताई तब सभी गाँव वासी एक बार फिर से उस पत्थर के पास गए और उसे गाँव ले जाने के लिए उठाने का प्रयास किया.

किंतु लाख प्रयासों के बाद भी वो पत्थर टस से मस न हुआ और जब बहुत देर तक प्रयास करने के बाद भी जब पत्थर तनिक भी नही हिला तो एक बार फिर से वो अपने गाँव वापस लौट गए.

तब उस व्यक्ति को रात में एक बार फिर स्वप्न में शनि देव आये और उसे बताया कि वो पत्थर उस स्थान से तभी हिलेगा जब उसे सगे मामा-भांजे उठायेंगे और ये भी बताया कि वो मात्र एक काला पत्थर नही है बल्कि उसमे मैं स्वंम विराजित हूँ

शनिदेव ने ये भी कहा कि मुझे खुले मैदान में सूर्य के प्रकाश में स्थापित किया जाये और उनके आदेशानुसार गांव वालों ने वैसा ही किया।

सगे मामा-भांजे के द्वारा उस विशाल काले पत्थर अर्थात शनि देव की मूर्ती को उठा लिया गया और उसे गाँव के मध्य एक बड़े मैदान में स्थापित कर दिया गया

उसके बाद से गाँव वालों का भय सदा के लिए दूर हो गया और उन्हें ये लगने लगा कि शनि देव की कृपा सदैव उनके साथ रहती है और इसीलिए शिंगणापुर गांव में लोग अपने घरों पर दरवाज़ा नहीं लगवाते हैं

शनि शिंगाणपुर में घरों में नही लगते है दरवाजे 

Houses at Shani Shingnapur do not have doors

आज ये गांव पूरे संसार में शनि देव के मुख्य मंदिर के कारण प्रसिद्द है , आज इस गांव में किसी भी घर या दुकान में दरवाजा नहीं लगता है।

a miraculous temple of shanidev शनिदेव

शनि शिंगणापुर मंदिर में प्रवेश शुल्क :

Shani Shingnapur Temple Entry Fee In Hindi

शनि शिंगणापुर मंदिर में प्रवेश निशुल्क है, यदि आप कोई अनुष्ठान करवाना चाहते है तो उसमे अनुष्ठानके अनुसार शुल्क देना होगा ।

शनि शिंगणापुर मंदिर में दर्शन का समय

Shani Shingnapur temple Timings in Hindi 

शनिदेव का शनि शिंगणापुर मंदिर हमेशा ही खुला रहता है अर्थात आप 24 x 7 x 365  दिन इनके दर्शन कर सकते हैं , शनिवार , श्री शनैश्चर जयंती Shri Shaneshchar Jayanti और शनि अमावस्या जैसे दिनों में यहाँ विशेष भीण्ड होती है । 

श्री शनेश्वर देवस्थान प्रसादालय 

Shri Shaneshwar Devasthan Prasadalaya

Shri Shaneshwar Devasthan Prasadalaya

Shri Shaneshwar Devasthan Prasadalaya  image credit : hindi.holidayrider.com

शनि शिंगणापुर मंदिर के निकट ही श्री शनेश्वर देवस्थान ट्रस्ट  स्थित है , इस ट्रस्ट के द्वारा यहां आने भक्तों को शनिदेव के प्रसाद के रूप में शुद्ध और स्वच्छ भोजन दिया जाता है। श्री शनेश्वर देवस्थान ट्रस्ट एक हजार से अधिक लोगों को एक साथ भोजन करा सकता है । यहाँ कि canteen में उचित मूल्य पर कूपन दिए जाते है जिससे शनिदेव के भक्तों को भोजन प्राप्त हो जाता । 

शनि शिंगणापुर कैसे जाएँ :

How to Reach Shani Shingnapur

यहाँ आप flight , train , road तीनों माध्यमों से सरलता से आ सकते हैं , ये तीर्थ सभी महत्वपूर्ण से स्थानों से भलीभांति जुड़ा हुआ है जैसे शनि शिंगणापुर अहमदनगर से मात्र 35 km की दूरी पर स्थित है वहीँ शिर्डी से 70 km की दूरी पर स्थित हैं . नासिक से शनि शिंगणापुर की दूरी 170 km की है और औरंगाबाद से शिंगणापुर 68 km की दूरी पर है. 

आइये जानते है शनि शिंगणापुर कैसे जाएँ

वायुयान से शनि शिंगणापुर कैसे जाएँ

How to Reach Shani Shingnapur by Air 

शनि शिंगणापुर का निकटतम airport Aurangabad Airport (औरंगाबाद एयरपोर्ट) (IATA: IXU, ICAO: VAAU) है जोकि 90 km की दूरी पर स्थित है। यह एक नागरिक हवाई अड्डा है। यहां कस्टम्स विभाग नहीं है। जबकि नासिक का हवाई अड्डा (Nashik Airport (IATA: ISK, ICAO: VAOZ) )144 km दूर स्थित है।

जबकि पुणे हवाई अड्डा  Pune International Airport (IATA: PNQ, ICAO: VAPO) ये शनि शिंगणापुर तीर्थ स्थल से 161 km से अधिक की दूरी पर स्थित है। यहां से आप को पूरे भारत के किसी भी नगर के लिए flight पकड़ सकते है। घरेलू और अंतरराष्ट्रीय दोनों प्रकार के यात्रिओं को मुंबई से flight भी मिल जाती और उसके बाद शनि शिंगणापुर पहुंचने के लिए सड़क मार्ग से 293 km की यात्रा करके शनि शिंगणापुर पहुँच सकते हैं। 

ट्रेन से शनि शिंगणापुर कैसे जाएँ

How to Reach Shani Shingnapur by train  

शनि शिंगणापुर के निकटतम रेलवे स्टेशन राहुरी (32 km) है और इसके बाद  अहमदनगर (35 km) , श्रीरामपुर (54 km), शिरडी रेलवे स्टेशन (Sainagar Shirdi railway stationStation code: SNSI ) 75 km की दूरी पर स्तिथ हैं। इनके साथ ही मनमाड रेलवे स्टेशन है , यहाँ मुंबई, पुणे, दिल्ली,आगरा जैसे नगरों से समय समय पर विभिन्न ट्रेने आती रहती हैं 

विभिन्न ट्रेनों में रिजर्वेशन की स्थिति जानने के लिए यहाँ click करें 

click करे : – IRCTC 

शनि शिंगणापुर के निकटतम स्टेशन पर उतरने के बाद आप मंदिर तक जाने के लिए ऑटो रिक्शा, टैक्सी,निजी वाहन या स्थानीय बस से जा सकते हैं ।

सड़कमार्ग से शनि शिंगणापुर कैसे जाएँ

How to Reach Shani Shingnapur by road 

शनि शिंगणापुर सड़क मार्ग से सरलता से पहुँचा जा सकता है क्योंकि सड़कमार्ग से अहमदनगर भारत के सभी प्रमुख नगरों के साथ जुड़ा हुआ है , शनि शिंगणापुर आने वाले अधिकतर लोग 70 km दूर स्थित शिरडी के प्रसिद्ध साईं बाबा मंदिर के दर्शन करने आते हैं । यहाँ से राहुरी बस स्टॉप 32 km, अहमदनगर 35 km और औरंगाबाद 84 km दूर है।

जबकि बड़े नगरों में नासिक 144 km, पुणे 161 km, वाशी 265 km और मुंबई 293 km दूर स्थित है। आप चाहें तो शनि शिंगणापुर पहुंचने के लिए महाराष्ट्र राज्य सड़क परिवहन निगम (MSRTC) के द्वारा संचालित बसों से या निजी बसों और वाहनों से भी सरलता से आ सकते हैं ।

ये भी पढ़े : शनि देव (shani dev) तुला मे उच्च क्यों?saturn postive & negative impact

अपने जानने वालों में ये पोस्ट शेयर करें ...

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!