Buddha Purnima 2023 कब है बुद्ध पूर्णिमा 2023

Buddha Purnima 2023:कब है बुद्ध पूर्णिमा-क्यो मनाई जाती है-जाने बुद्ध पूर्णिमा 2023 मुहूर्त,महत्व,पूजन विधि

अपने जानने वालों में ये पोस्ट शेयर करें ...

Buddha Purnima 2023:कब है बुद्ध पूर्णिमा-क्यो मनाई जाती है-जाने बुद्ध पूर्णिमा 2023 मुहूर्त,महत्व,पूजन विधि

Buddha Purnima 2023: वैशाख माह के शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा बुद्ध पूर्णिमा कहलाती है , कुछ लोगश्री इसे पीपल पूर्णिमा भी कहते है। प्रत्येक माह की पूर्णिमा ( और एकादशी ) के दिन समस्त संसार मे भगवान श्री हरि विष्णु का पूजन किया जाता है , उनका व्रत रखा जाता है। सनातन धर्म में वैशाख माह मे भगवान श्री हरि विष्णुनारायण की भक्ति करके हज़ारों श्रद्धालु पवित्र तीर्थ स्थलों में स्नान,दान आदि करते है और इस जन्म और आने वाले जन्मो के लिए पुण्य अर्जित करते हैं।

कब है बुद्ध पूर्णिमा 2023 ?

When is Buddha Purnima 2023?

इस वर्ष 5 मई 2023 को वैशाख पूर्णिमा है जिसे बुद्ध पूर्णिमा भी कहते है और इस दिन भगवान विष्णु के नौवे अवतार और बौद्ध धर्म के संस्थापक भगवान गौतम बुद्ध का जन्मोत्सव मनाया जाता है। पुराणों में गौतम बुद्ध को भगवान विष्णु का नौवां अवतार बताया गया है।

बुद्ध पूर्णिमा क्यो मनाई जाती है ? 

Why Buddha Purnima is celebrated?

भगवान गौतम बुद्ध का जन्‍म वैशाख पूर्णिमा को हुआ था इसीलिए इस दिन को बुद्ध जयंती के रूप मे भी मनाया जाता है,ऐसा कहा गया है कि गौतम बुद्ध का जन्‍म 563-483 ई.पू. के मध्य में नेपाल के लुम्बिनी नामक स्थान पर हुआ था और भगवान बुद्ध ने बुध पूर्णिमा के दिन कुशीनगर में अपना शरीर त्याग किया था ।

वैशाख पूर्णिमा का महत्व 

Importance of Vaishakh Purnima

स्कन्द पुराण के अनुसार वैशाख माह को ब्रह्मा जी ने वर्ष के सभी माह में उत्तम माना है और किसी भी माह कि पूर्णिमा पुण्य कार्यों के लिए उत्तम मानी गयी है । वैशाख माह के शुक्ल पक्ष की त्रयोदशी से लेकर पूर्णिमा तक की तिथियां को पुष्करणी कहा गया है ।

ऐसा कहा गया है कि समुद्र मंथन के समय जिस दिन समुद्र से अमृत प्रकट हुआ था वो दिन वैशाख माह की एकादशी तिथि थी । द्वादशी तिथि को भगवान विष्णु ने अमृत की असुरों से रक्षा की थी और त्रयोदशी के दिन भगवान श्री हरी विष्णु ने देवताओं को अमृत पान कराया था । चतुर्दशी के दिन प्रभु ने असुरों का वध किया था और उसके बाद वैशाख की पूर्णिमा के दिन सभी देवताओं साम्राज्य प्राप्त हुआ था। तब सभी देवताओं ने प्रसन्न होकर एक वर दिया जिसके अनुसार वैशाख माह की इन तीन शुभ तिथियाँ मनुष्य के समस्त पापों का नाश करने वाली तथा सब प्रकार के सुख वैभव और ऐश्वर्य प्रदान करने वाली हो गयी ।

आइए जानते हैं बुद्ध पूर्णिमा का मुहूर्त, महत्व और पूजा विधि

बुद्ध पूर्णिमा 2023 मुहूर्त

Buddha Purnima 2023 Muhurat

हिंदू पंचांग के अनुसार वैशाख पूर्णिमा तिथि 4 मई 2023 को 11 बजकर 44 मिनट से आरंभ हो रही है और 5 मई 2023 को रात 11 बजकर 03 मिनट पर पूर्णिमा तिथि का समापन होगा इसलिए ऐसे में उदया तिथि के अनुसार इस वर्ष  बुद्ध पूर्णिमा 5 मई को मनाई जाएगी।

वैशाख पूर्णिमा (Buddha Purnima 2023) के दिन भगवान विष्णु और मां लक्ष्मी की पूजा करनी चाहिए और समय अभाव नही हो तो चंद्रदेव का भी पूजन करना चाहिए ।

वैशाख पूर्णिमा व्रत व पूजन विधि

Vaishakh Purnima Vrat aur Poojan Vidhi

भगवान बुद्ध विष्णु के अवतार माने गायें हैं , इनकी पूजा समस्त सनातन धर्मी करते हैं , इन्हे किसी जाति विशेष से जोड़कर नही देखना चाहिए बल्कि इस दिन की शुभता को देखते हुए वैशाख पूर्णिमा (Buddha Purnima 2023) का पूजन सभी को करना चाहिए।

विष्णु भगवान की एकादशी तिथि के पूजन के समान ही इस दिन (Buddha Purnima 2023) भी इनकी पूजा की जाती है जिसमे सफ़ेद पुष्प और वस्त्र चढ़कर उन्हे निर्धन लोगों मे वितरित करना चाहिए , भगवान बुद्ध ने समस्त संसार को शांति का संदेश दिया था और श्वेत रंग शांति का प्रतीक माना जाता है ।

भगवान गौतम बुद्ध ने ज्ञान प्राप्ति के बाद खीर का सेवन करके ही अपना व्रत खोला था इसलिए इस पूर्णिमा के दिन घर में खीर बनाकर भगवान बुद्ध को खीर का प्रसाद चढ़ाना चाहिए ।

भगवान गौतम बुद्ध ने बिहार के बोधगया में बोधिवृक्ष के नीचे ज्ञान प्राप्त किया जोकि एक पीपल का वृक्ष था इसलिए लोग इस दिन इसकी जड़ों में दूध चढ़ाते हैं और दीपक जलाते हैं अनेक विष्णु भक्त बुद्ध पूर्णिमा के दिन घर में भगवान सत्यनारायण की कथा का आयोजन करते हैं और सामर्थ्य अनुसार ब्राह्मणों और निर्धनों दान करते हैं ।

kundli me chandrama कुंडली मे चंद्रमा

निष्कर्ष :

साथियों हम आशा करते है कि ये पोस्ट “ Buddha Purnima 2023 कब है बुद्ध पूर्णिमा-क्यो मनाई जाती है-जाने बुद्ध पूर्णिमा 2023 मुहूर्त,महत्व,पूजन विधि” आपको अच्छी लगी होगी , आपकी अपनी वेबसाईट  maihindu.com मे कुछ और सुधार लाने के लिए आपके सुझाव सादर आमंत्रित है ।

ये भी पढ़े :

Durga Kavach in hindi: दुर्गा कवच हिंदी में अर्थ सहित  

Durga Sahasranamam Stotram -दुर्गा सहस्रनाम स्तोत्रम्-मां दुर्गा का 1000 नाम

दुर्गा सप्तशती सिद्ध मंत्र 31 Durga Saptashati Siddha Samput Mantra

Scrub India 

ये भी पढ़े : 

शिव स्तुति मंत्र (Shiv Stuti Mantra) जीवन मे सभी सुखों को देने वाला मंत्र है

श्री स्तुति मंत्र ( Sri Stuti : Sri Stuthi ) के पाठ से

ये भी पढे :

रामेश्वरम ज्योतिर्लिंग -प्रभु राम द्वारा स्थापित 12 ज्योतिर्लिंगों में से एक jyotirlinga rameshwaram made by lord ram

केदारनाथ ज्योतिर्लिंग-शिव कैसे बने बैल की पीठ Kedarnath temple-Kedarnath jyotirlinga A 2 Z complete & easy tour guide

महाकालेश्वर मंदिर- mahakaleshwar jyotirlinga A 2 Z Complete & Easy Guide

*****************

Buddha Purnima 2023 कब है बुद्ध पूर्णिमा-क्यो मनाई जाती है-जाने बुद्ध पूर्णिमा 2023 मुहूर्त,महत्व,पूजन विधि

अपने जानने वालों में ये पोस्ट शेयर करें ...

Leave a Comment

error: Content is protected !!
Scroll to Top