Monday, February 6
Shadow

ज्योतिष में बृहस्‍पति ग्रह के अशुभ प्रभाव और बृहस्पति ग्रह के 10 उपाय: brihaspati grah ke upay-jupiter in astrology

अपने जानने वालों में ये पोस्ट शेयर करें ...

ज्योतिष में बृहस्‍पति ग्रह के अशुभ प्रभाव और बृहस्पति ग्रह के 10 उपाय: brihaspati grah ke upay-jupiter in astrology

brihaspati grah (jupiter in astrology)- वैदिक ज्योतिष में सभी 9 ग्रहों में देवगुरु बृहस्पति (brihaspati grah) सबसे बड़े और ज्योतिष में बृहस्‍पति ग्रह को अति शुभ ग्रह माना गया है। बृहस्पति ग्रह को ज्योतिष में सुख, वैभव, धन, वैवाहिक जीवन, संतान और विवाह का कारक ग्रह माना गया है। बृहस्‍पति को देवताओं का गुरु माना गया है और ये सौर मंडल का सबसे बड़ा ग्रह है जोकि सूर्य से पांचवा ग्रह है ।

ग्रह के अशुभ होने के संकेत और उसके उपाय Signs of inauspicious planet and its remedies

ज्योतिष में बृहस्‍पति ग्रह (jupiter in astrology)

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार गुरुवार का दिन देवताओं के गुरु बृहस्पति को समर्पित है।

  • बृहस्‍पति ग्रह की कृपा से धन,समृद्धि, ज्ञान, संतान और प्रसिद्धि प्राप्त होती है। बृहस्‍पति ग्रह को पीला रंग, पीले वस्त्र , पीली वस्‍तुएं , केले , हल्दी आदि प्रिय है।
  • बृहस्पति ग्रह अधिकतर शुभ फल देने वाले ग्रह होते हैं इसीलिए बृहस्पति गुरु ग्रह से संबंधित उपाय करने से व्यक्ति के जीवन में सुख-समृद्धि बढ़ जाती है।
  • बृहस्‍पति ग्रह को प्रसन्‍न करने के लिए गुरुवार के दिन पीले वस्‍त्र पहनना, पीली वस्‍तुओं का दान करना और घर पर पीले पकवान बनाना शुभ होता है। बृ‍हस्पति के अशुभ प्रभाव से व्‍यक्‍ति को जीवन में अनेक कष्‍टों का सामना करना पड़ता है।
  • यदि कुंडली में बृहस्‍पति ग्रह उच्च हों तो वे सदैव अच्छा और शुभ फल देते हैं और यदि कुंडली में बृहस्‍पति ग्रह निर्बल या पीड़ित हो तो जातक के जीवन में विद्या, मान-सम्मान और धन की सदैव कमी रहती है।
  • यदि कुंडली में बृहस्‍पति अशुभ प्रभाव मे हो तो वो हमारे जीवन में अनेक प्रकार के कष्‍ट लेकर आता है ।

ग्रह के अशुभ होने के संकेत और उसके उपाय Signs of inauspicious planet and its remedies

आइए जानते हैं कि कुंडली में बृहस्‍पति के अशुभ प्रभाव क्‍या होते हैं।

बृहस्‍पति ग्रह के अशुभ प्रभाव

  1. कुंडली में बृहस्‍पति खराब होने पर व्‍यक्‍ति के सिर के बाल उड़ने लगते हैं।
  2. बृहस्‍पति के अशुभ प्रभाव से सांस या फेफड़ों के रोग , गले में रोग या दर्द होता है।
  3. पीड़ित या अशुभ बृहस्पति ग्रह वाले व्यक्ति के अनावश्‍यक शत्रु बनने लगते हैं ।
  4. कुंडली में बृहस्‍पति के अशुभ प्रभाव के कारण गृह क्‍लेश रहता है,परिवार में सदैव तनावपूर्ण स्थिति रहती है।
  5. घर में ऐसी अचानक परिस्थिति उत्‍पन्‍न होने लगती है जिसमें धनहानि होती है और खर्च बढ़ जाता है।
  6. यदि बृहस्पति निर्बल है तो जातक की बिना किसी कारण शिक्षा रूक जाती है या फिर भरपूर मेहनत करने पर भी शिक्षा में अच्‍छे परिणाम नहीं मिलते हैं।
  7. बृहस्पति निर्बल है तो सोने की वस्‍तु खोने या चोरी होने का भय होता है , समाज मे मान सम्मान खोने लगता है या समाज मे आपकी बात का महत्व नही रहता है ।
  8. पीड़ित या अशुभ बृहस्पति ग्रह व्यक्ति को पेट से सबंधित रोग जैसे गैस , अपच, पेट दर्द, एसिडिटी, कैंसर या लीवर जैसे रोग होने की संभावना रहती है।

ये भी पढ़ें : स्त्री की कुंडली में गुरु 12 houses of Jupiter in females horoscope

ज्योतिष में बृहस्‍पति ग्रह के अशुभ प्रभाव और बृहस्पति ग्रह के उपाय brihaspati grah ke upay-jupiter in astrology

Photo by Javier Miranda on Unsplash

बृहस्पति ग्रह के उपाय brihaspati grah ke upay

  1. बृहस्पतिवार के दिन भगवान विष्णु की आराधना करने और व्रत करने से भगवान विष्णु शीघ्र प्रसन्न हो जाते हैं और हमारे सभी कार्य बनने लगते हैं।
  2. बृहस्पतिवार के दिन प्रातः नहाने के पानी में हल्दी डालकर, उस पानी से नहाएं और स्नानादि के बाद पवित्र हो पीले रंग के वस्त्र पहन मंदिर जाकर केले के पेड़ की पूजा करें जिसमे केले के पेड़ पर हल्दी, गुड़ और चने की दाल चढ़ा , स्वच्छ  जल मे हल्दी मिला कर अर्पित करें। संभव हो तो केले के पेड़ के पास बैठकर बृहस्पतिवार व्रत कथा का पाठ भी करें।
  3. बृहस्पतिवार के दिन भगवान बृहस्पति देव का व्रत रखें , उनकी उपासना करें।
  4. सुखी वैवाहिक जीवन के लिए बृहस्पतिवार के दिन विष्णु भगवान और मां लक्ष्मी की पूजा करें। बृहस्पति देव की कृपा पाने के लिए बृहस्पतिवार के दिन का व्रत रखना बहुत ही फलदायी होता है।
  5. बृहस्पतिवार के दिन किसी को न ही उधार देना चाहिए और न ही लेना चाहिए। क्योंकि ऐसा करने से जातक की कुंडली में बृहस्पतिवार ग्रह निर्बल हो जाता है और आर्थिक तंगी आने लगती है।
  6. धन प्राप्ति के लिए बृहस्पतिवार के दिन जल में हल्दी डालकर नहाने से भगवान बृहस्पति का आशीर्वाद प्राप्त होता है। इसलिए बृहस्पतिवार के दिन केले के पेड़ की पूजा करें और पेड़ के निकट दीपक जलायेँ और भगवान विष्णु की पीला चन्दन या केसर का तिलक लगाकर पूजा करें,केसर न हो तो हल्दी का तिलक भी लगा सकते हैं। इस उपाय को निरंतर करने से आपके धन में वृद्धि होने लगेगी और आपके पास कभी धन की कमी नही रहेगी।
  7. शिक्षा में सफलता के लिए बृहस्पतिवार के दिन पीली वस्तुओं जैसे हल्दी, चना, पीले फल ,पीले वस्त्र ,सोना आदि का दान  करना चाहिए ।ब्राह्मण और अपने गुरु और माता-पिता का सम्‍मान करें। बृहस्‍पति का रत्‍न पुखराज या पुखराज का उपरत्‍न धारण करें।
  8. कुंडली में बृहस्‍पति के अशुभ प्रभाव से बचने के लिए मस्तक पर केसर का तिलक लगायेँ और अपने हाथ पर पीले रंग का रेशमी धागा बांध कर रखें। कुंडली में निर्बल या अशुभ बृहस्‍पति को ठीक करने के लिए बृहस्पति के मंत्र का जाप करें – ऊं बृं बृहस्‍पतये नम:
  9. वैवाहिक जीवन में पति और पत्नी के बीच कलह और मनमुटाव दूर करने के लिए और झगड़े दूर करने के लिए बृहस्पतिवार के दिन बृहस्पति देव या विष्णु भगवान के चित्र को पीले रंग के कपड़े पर विराजित करके पीले पुष्पों , पीली मिठाई ,पीले चंदन आदि से पूजा करें।
  10. बृहस्पतिवार के दिन केले के वृक्ष की पूजा के बाद भगवान सत्यनारायण की या बृहस्पतिवार की कथा सुनने से स्वास्थ्य में सुधार होने लगता है।

ये भी पढ़ें : जीवन में क्लेश और धन की कमी दूर करने के ज्योतिष उपाय 7 Astrological Remedies To Remove Trouble And Pooverty In Life

ये भी पढ़ें : धोखेबाज जीवनसाथी-कुंडली से जाने पत्नी या पति का चरित्र cheating husband or wife by horoscope

निष्कर्ष :

साथियों हम आशा करते है कि ये पोस्ट “ज्योतिष में बृहस्‍पति ग्रह के अशुभ प्रभाव और बृहस्पति ग्रह के 10 उपाय: brihaspati grah ke upay-jupiter in astrology ” आपको अच्छी लगी होगी ,

कुंडली विश्लेषण के लिए हमारे WhatsApp number 8533087800 पर संपर्क कर सकते हैं

अब यदि कोई ग्रह ख़राब फल दे रहा हो , कुपित हो या निर्बल हो तो उस ग्रह के मंत्रों का जाप , रत्न आदि धारण करने चाहिए ,

अपना ज्योतिषीय ज्ञान वर्धन के लिए हमारे facebook ज्योतिष ग्रुप के साथ जुड़े , नीचे दिए link पर click करें

श्री गणेश ज्योतिष समाधान 

ये भी पढ़े : पुरुष और स्त्री की कुंडली में अवैध संबंध के योग 21 extramarital affairs conditions

ये भी पढ़े : स्त्री कुंडली में ग्रह फल stri kundli me grah fal

टेक्नोलॉजिकल ज्ञान  :  कंप्यूटर सीखें सरल भाषा में 

अपने जानने वालों में ये पोस्ट शेयर करें ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!