Generation of Computer kya hai| कंप्यूटर पीढियां 1 से 5

generation of computer
अपने जानने वालों में ये पोस्ट शेयर करें ...

Generation of Computer kya hai कंप्यूटर पीढियां

(generation of computers in hindi)

साथियों हम सभी को computer का विकास समझने में आसानी हो इसके लिए computer के विकास को Generation में categorize  किया गया है।

लेकिन generation of computers समझने से पहले मै आप सभी से एक बात स्पष्ट कर देना चाहता हूँ की अलग अलग books, websites में computers की different generation की starting year और ending year अलग अलग हो सकती है क्योंकि किसी भी व्यक्ति, वस्तु या स्थान का विकास होने में समय लगता है और हम ये कभी नही कह सकते की विकास इस दिन प्रारंभ हुआ था और इस दिन बंद हो गया ।

जैसे CRT वाले TV और computer आज अनेक घरों में भी मिल जायेंगे। इसी प्रकार mixer grinder आज अधिकतर रसोई में मिलती है लेकिन आज भी अनेक घरों में हाथ की चक्की मिल जाएगी इसका अर्थ ये नही है कि आज हाथ की चक्की का समय चल रहा है – ठीक उसी प्रकार किसी भी generation of computers का starting और ending year में अंतर आपको अधिकतर books,websites में मिल जायेगा , लेकिन ये अंतर बहुत ही कम होता है,

कुछ books में first generation of computers का starting year, 1946 दी गयी है जोकि first generation of computers के पहले computer का launching year था लेकिन उसपर काम बहुत पहले से हो रहा था । )

तो आइये computers के विकास को generation में समझते है यानि generation of computer समझते है,जो कि इस प्रकार है-

1.First generation computer (1942-1955)

ENIAC

जो  computer 1942 से 1955 के बीच में बनाए गए उन्हें  first generation of computers माना जाता है।यह computer आकार में कमरे के बराबर होते थे ।

प्रत्येक computer में  electronic signal को कंट्रोल करने के लिए और transmit करने के लिए 10000 या उससे भी अधिक vacuum tube प्रयोग होती थी।

first generation of computers में vacuum tube का काम amplifier और switch जैसा था जो weak signals को लेकर strong signals में बदलती थी साथ ही signals flow को stop और start करने में प्रयोग होती थीं  ।

एक  vacuum tube में 1/2 watt की बिजली की खपत होती थी , इसलिए प्रत्येक computer को चलाने में 5000 watt या उससे भी अधिक बिजली लगती थी । जिस कमरे में computer रखे जाते थे वह कमरा बहुत गर्म हो जाता था और उसको ठंडा करने के लिए AC लगाए जाते थे ।

first generation of computers के लिए जो  program लिखे जाते थे वह  machine language में लिखे जाते थे ।machine language में binary code 1 और 0 का प्रयोग किया जाता है।

एक  programmer के लिए  machine language में  program लिखना बहुत कठिन होता था और इसमें समय भी बहुत लगता था ।  first generation of computers वैज्ञानिक कार्य में प्रयोग किए जाते थे । सबसे पहला vacuum tube computer ENIAC था और उसके बाद EDVAC और UNIVAC बनाये गये ।

Examples first generation of computers:

  • ENIAC ( Electronic Number Integrator & Calculator )
  • EDVAC ( Electronic Discrete Variable Automatic Computer )
  • UNIVAC ( Universal Automatic Calculator )
  • IBM 650, ( International Business Machine 650 )
  • IBM 701 ( International Business Machine 701 )

Examples first generation of computers:

Also Read : Cyber Security in hindi ।। cyber security kya hai

Second generation computer (1955- 1964)

Second generation of computers में vacuum tubes की जगह transistors का प्रयोग होने लगा । जिससे बिजली की खपत 1/10 रह गई । 1 transistor लगभग 40 vacuum tube के बराबर काम कर लेता था ,चूँकि एक computer में लगने वाले transistors के संख्या, vacuum tube की संख्या से बहुत कम थी इसलिए computer का साइज भी बहुत छोटा हो गया ।

computer के लिए machine language की जगह  assembly language में program  लिखे जाने लगे । assembly language जैसे Fortran और Cobol । जहां Fortran को वैज्ञानिक कार्यों में प्रयोग किया जाता था , वहीं Cobol को व्यापारिक कार्यों में प्रयोग में लाया जाता था।

इस प्रकार Second generation of computers का प्रयोग वैज्ञानिक कार्यों के साथ साथ व्यापारिक कार्यों में भी होने लगा ।

जैसे inventory control, production planning, payroll etc

Second generation of computers के कुछ computer इस प्रकार है :-

  • IBM 1620 ,
  • IBM 7094 ,
  • CDC 1600 ,
  • CDC 3600 etc

Examples second generation of computers:

Also Read : cloud computing kya hai-cloud computing in hindi

Third generation computer 1964-1975

3rd Generation के आने तक computers में अलग अलग Components जैसे transistors, registers, capacitors,gates इत्यादि एक दूसरे से तार से जुड़े होते थे लेकिन 3rd Generation आने पर ये सारे electronic components को silicon की बनी हुई एक single chip पर लगाया जाने लगा।

एक  single chip पर इन सभी component के arrangement को Integrated circuit यानी IC कहा गया ।

शुरुआत में 10 से 20  component , एक  chip  पर लगाए जाते थे और इसे  small scale integration (S.S.I)  कहा जाता था।

इसके बाद hundreds of components को एक चिप पर लगाया जाने लगा और इसे Medium scale integration यानी M.S.I कहा गया।

Third generation of computers में Main memory कुछ mega byte जैसे 5 MB की होती थी और secondary memory यानी hard disk drive , tens of mega byte  की होती थी ।

Examples third generation of computers:

  • IBM 360 series
  • IBM 370 / 168
  • PDP( personal data processor)
  • TDC-136

Also Read : 19 important facts of computer in hindi

Fourth generation computers (1975- 1989)

 SSI में 10-20 components और MSI में hundreds of components के बाद technology और भी advance हो गयी और एक समय वह आया जब 30000 से भी ज्यादा components को एक  single chip पर लगाया जाने लगा और इसको large scale integration यानी LSI कहा गया यही समय 4th generation का समय था।

कुछ समय बाद  LSI यानी  Large Scale Integration  से भी बढ़कर  VLSI यानी  Very Large Scale Integration होने लगा।

Very large scale integration में एक  IC  पर एक  million से भी ज्यादा  components को लगाया जाने लगा।

इस लगातार होने वाले  विकास से आगे चलकर  microprocessor का निर्माण हुआ एक microprocessor में वह सारे  circuit होते हैं जो arithmetic logic और Control function को perform  करने के लिए जरूरी होते हैं ।

इस विकास के द्वारा आगे चलकर यह भी संभव हो सका की एक complete computer बनाया जा सके जिसमें एक  microprocessor,कुछ  primary storage chip और कुछ सहायक circuit हो और इसी ने आगे चलकर  personal computer यानी  PC का रूप ले लिया।

इस समय तक computer बहुत compact यानि छोटे हो गए और साथ ही सस्ते भी हो गए जिससे कोई भी computer रख सके यह संभव हो पाया ।

Examples fourth generation of computers :

  • CRAY-1,
  • CRAY-2,
  • CRAY-X/MP,
  • TRS-80 ,
  • VAX-9000

Also Read :types of computers in hindi-कंप्यूटर के प्रकार

Fifth generation computer (1989- till now)

वर्तमान समय computer की 5th generation का समय है जिसमे Artificial Intelligence जैसी technology का प्रयोग हो रहा है । 5th generation of computers में  Very large scale integration , Ultra large scale integration में बदल गया जिससे कि ऐसे microprocessor chip बन सके जिसमें 10 million से भी ज्यादा electronic component हों और जैसे जैसे technology advance हो रही है वैसे वैसे microprocessor और अधिक powerful और cheap हो रहे है और इसीलिए आज के समय में internet of things , technology शुरू हो चुकी है जिसमे हमारी सभी आवश्यकताओं से जुड़े समान में छोटे छोटे और बहुत ही सस्ते microprocessor प्रयोग किये जा रहे है ।

Example:-

  • Desktop
  • Laptop
  • NoteBook
  • Palmtop
  • High End smartphone etc

Also Read : generation of computer in english 

 

यदि आप सर्दियों में घूमना चाहते हैं और ये समझ नही आ रहा है की कहाँ घूमे तो 

हम बताते हैं 5 best tourist places in south india(south india temple tour)-सर्दियों में घूमने के स्थान  

 

 

अपने जानने वालों में ये पोस्ट शेयर करें ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!