computer hardware in hindi

Computer Hardware in Hindi A 2 Z ? – कम्प्यूटर हार्डवेयर क्या होता हैं

अपने जानने वालों में ये पोस्ट शेयर करें ...

What is Computer Hardware in Hindi A 2 Z ? – कम्प्यूटर हार्डवेयर क्या होता हैं

साथियों computer अनेक उपकरणों (devices) से मिलकर बना होता है जो computer hardware कहलाते हैं और हम किसी एक उपकरण (device) को computer नही कह सकते है ,वो सभी devices जिनसे मिलकर एक computer बना होता है 

कुछ प्रमुख computer hardware  इस प्रकार हैं :- 

Processor,

Memory / Storage devices,

Input output devices,

Motherboard

etc 

तो इस प्रकार हम ये कह सकते है की computer में काम करने वाले सभी devices जिन्हें हम छू सकते है, जो टूट सकते है और टूटने पर जिन्हें बदला जा सकता है, computer hardware कहलाते हैं

computer hardware अनेक प्रकार के होते हैं और जैसे जैसे technology advance हो रही है computer hardware भी advance और cheap ( सस्ते ) होते जा रहे हैं

computer में जो भी software लगे होते है वो सभी hardware के अन्दर install होते हैं और कोई भी computer software बिना computer hardware के काम नही कर सकता है, इस प्रकार हम ये कह सकते है कि computer software और computer hardware एक दूसरे के पूरक होते है और एक दूसरे के साथ ही काम कर पाते है

computer hardware in hindi

Type of Compute Hardware in Hindi? कम्प्यूटर हार्डवेयर के प्रकार

1. central processing unit ( जिसे Processor या cpu भी कहते हैं )

cpu computer का brain होता है , जैसे मनुष्य अपने सभी निर्णय अपने दिमाग से लेता है वैसे ही computer अपने सभी निर्णय cpu के द्वारा लेता है

cpu के 2 भाग होते हैं

  • Arithmetic Logic Unit (ALU),
  • Control Unit(CU)

 Arithmetic Logic Unit (ALU) :-

computer के अन्दर ALU वो स्थान है जहाँ instruction का execution होता है,computer में जितने भी calculation और comparison होते है वो सभी ALU में ही होते है, जो भी data / instruction primary memory में होते हैं उन्हें process करने के लिए ALU में transfer कर दिया जाता है और जो intermediate result , ALU के द्वारा generate होते है उन्हें अस्थायी रूप से primary memory (RAM) में भेज दिया जाता है और आवश्यकता पड़ने पर दुबारा ALU में ले लेते हैं

इस प्रकार जब सभी data / instruction ALU के द्वारा पूरी तरह से execute हो जाते हैं तो final result ,primary memory (RAM) में भेज दिया जाता है

Control unit :-

control system के द्वारा पूरे computer system को control किया जाता है ,

control unit ,RAM में पड़े हुए program में से instruction को लेकर उन्हें interpret करती है और फिर interpretation के अनुसार signal generate करती है जिसके अनुसार पूरा computer system काम करता है

2. Motherboard

computer hardware में Motherboard एक बहुत ही important device है , जिस प्रकार हमारे शरीर में आँखे , दांत , कान , नाक , हाथ , पैर सभी हमारे शरीर में लगे होते है और मस्तिष्क से जुडी विभिन्न तंत्रिकाओं से संचालित होते है ठीक उसी प्रकार सभी मुख्य computer hardware जैसे processor , input output devices , memory devices ( storage devices ) motherboard से connected होते है और अपना काम हैं

motherboard को हम system board , mainboard, main circuit board के नाम से भी जानते हैं और इसे ही smart phones में logic board के नाम से भी जाना जाता है

motherboard क्या है? What is Motherboard in Hindi ?

( a type of computer hardware used for connecting all devices to each other )

motherboard, computer के सबसे महत्वपूर्ण devices में से एक होता है. जिससे computer के अन्य सभी important devices जैसे CPU, RAM, HDD, Monitor, Mouse, Keyboard, USB devices etc , Dedicated Ports के माध्यम से जुडे रहते हैं.

ये dedicated port अनेक प्रकार के होते हैं जैसे पॉवर कनेक्टर,प्रोसेसर सॉकेट,मेमोरी स्लॉट,विडियो कार्ड स्लॉट, ईथरनेट पोर्ट,एक्सपेंशन स्लॉट,कीबोर्ड पोर्ट, माउस पोर्ट etc

computer के सभी important devices को motherboard की सहायता से ही बिजली (Power Supply) मिलती है और ये सभी devices आपस में communicate करती है और data ,information का लें दें करती हैं

motherboard की सहायता से computer के सभी internal components  (जो Cabinet के अन्दर लगे होते है ) और सभी external devices ( जो cabinet से बाहर लगे होते हैं ) आपस में connect रहते है

Motherboard को ही “Printed Circuit Board “ यानि PCB भी कहा जाता है.

एक प्रकार से हम ये कह सकते है कि computer में लगे सभी devices , direct या indirect motherbord की सहायता से ही आपस में interact होते है , data–information को share करते हैं  

ये भी पढ़े : All Computer related full forms A2Z for All competition

3. Input device(इनपुट डिवाइस) 

(a type of computer hardware used for entering data into computer )

Computer के वो सभी उपकरण जिनके द्वारा कोई भी data, information,

user के द्वारा या किसी device के द्वारा computer के भीतर भेजे जाते हैं ,उन सभी devices को Input device कहते हैं

ये computer hardware का वो भाग है जो  data, information, instructions को computer को मात्र देता है , computer से लेता नही है

input devices अनेक प्रकार की होती हैं (types of input devices )

जैसे

  • keyword
  • mouse
  • mice
  • scanner
  • sensor etc

4. Output device ( आउटपुट डिवाइस)

(a type of computer hardware used for Outputting data from computer )

Computer के वो सभी उपकरण जिनके द्वारा कोई भी data, information,

computer के द्वारा किसी user या किसी device को प्राप्त होती है तो उन सभी devices को, जिनके द्वारा computer में से data, information बाहर आ रही है, Output device कहते हैं

ये computer hardware का वो भाग है जो  data, information, instructions, computer में से मात्र बाहर निकालता है किन्तु कभी भी computer के अन्दर नही देता है

Output devices अनेक प्रकार की होती हैं (types of output devices )

जैसे

  • Monitor
  • Printer
  • Sound Boxes
  • Projector et

5. Memory / Storage Devices

Computer hardware में memory का प्रयोग data, information, intermediate result और final result को store करने के लिए होता है |

ये तो हम जानते ही हैं कि computer में memory 2 category होती है  

  1. Primary Memory  
  2. Secondary memory 

(What is Primary Memory & Secondary memory )

जिसमे Primary memory को main memory  या internal memory भी कहते हैं ,यह CPU  से  सीधे जुड़ी हुई होती है ये secondary memory से fast लेकिन CPU register   से slow होती है |

( cpu register भी एक प्रकार की memory ही है किन्तु ये cpu / processor का ही part होती है और इसकी speed सभी memory में सबसे अधिक होती है )

Primary memory की storage capacity , Secondary memory से कम होती है |

Primary memory 2 प्रकार की होती है | Primary memory में  RAM  और ROM आते हैं  और Secondary memory में Hard Disk Drive , Memory Cards , Pen Drives etc आते हैं   

RAM – Volatile Memory होती है 

ROM – Non Volatile Memory होती है 

HARD DISK DRIVE – Non Volatile Memory होती है 

( Volatile memory और Non Volatile memory, volatile memory वो होती है जिसमे data मात्र तभी तक रहता है जब तक volatile memory को power मिलती रहती है इसीलिए इस memory को temporary memory भी कहा जाता है जबकि Non Volatile memory में पड़ा हुआ data हमेशा रहता है चाहे इस memory को power मिले या न मिले इसीलिए Non Volatile memory को permanent memory भी कहा जाता है )

RANDOM ACCESS MEMORY (RAM)

RANDOM ACCESS MEMORY (RAM) Volatile memory ( वोलाटाइल मेमोरी ) होती है, ये एक ऐसी memory है जिसमे data/information तभी तक रहती है जब तक उसे power supply ( बिजली ) मिलती रहती है | जैसे ही memory की power supply बंद होती है,इस प्रकार की memory में से सभी data erase हो जाता है|

computer में processor अपना सभी कार्य RANDOM ACCESS MEMORY (RAM) में ही करता है, एक समय RANDOM ACCESS MEMORY (RAM) का size Megabyte (MB) में होता था लेकिन आज इनका size Gigabyte (GB) में होता है

इसे Random Access Memory इसलिए कहा जाता है क्योंकि इसके किसी भी भाग में यानि हिस्से में पहुंचने में बराबर समय लगता है | इसमें read और write दोनों ही operation होते हैं |

RAM  क्या होती है? , What is RAM in Hindi

RAM की फुल फॉर्म “Random Access Memory” होती है, चूँकि RAM volatile memory है इसलिए इसे temporary memory भी कहा जाता है और इसमें जो data storage होता हाई वो data का temporary storage होता है और RAM में तब तक ही data रहता है जब तक computer on रहता है और RAM को power supply मिलती रहती है

Computer Off  होते ही RAM में पड़ा data erase हो जाता है और इसके बाद उस data को प्राप्त नही किया जा सकता है . RAM desktop computer , laptop computer के साथ साथ आज के सभी smartphones में प्रयोग की जाती है

किसी device की speed कम या अधिक होने में RAM की मुख्य भूमिका होती है, यदि RAM बड़ी होती है तो device की speed अधिक होती है और यदि RAM छोटी होती है तो device की speed भी कम हो जाती है|

computer laptop या mobile में हम जो भी files,audio ,video, document etc खोलते हैं वो सभी RAM में ही खुलते है और computer का processor अपना सभी काम इस RAM में ही करता है   काम करते है

Types of RAM – RAM के कितने प्रकार की होती है ?

RAM 2 प्रकार की होती है

  1. Static RAM   
  2. Dynamic RAM

1. Static RAM क्या होती है? What is Static RAM ?

Static RAM में पड़ा हुआ Data स्थिर रहता है इसलिए इसे बार बार Refresh करने की कोई आवश्यकता नहीं होती है एक ही size के data को store करने के लिए SRAM को DRAM से अधिक Chips की आवश्यकता पड़ती है इसीलिए SRAM को बनाने में DRAM की तुलना में अधिक पैसे लगते है, SRAM कों Cache Memory के रूप में प्रयोग किया जाता है, SRAM की speed DRAM से अधिक होती है लेकिन Processor के Internal Registers ( RAM से data cache memory में जाता है और cache memory से internal registers में जाता है जहाँ processor data को process या execute करता है ) से कम होती है

2. Dynamic RAM क्या होती है ?  What is Dynamic RAM ?

Dynamic RAM में पड़ा हुआ Data change होता रहता है इसलिए इसे बार बार Refresh करने की आवश्यकता होती है. Dynamic RAM में एक सेकंड में हजार बार refresh होती है,एक ही size के data को store करने के लिए SRAM की तुलना में DRAM में कम Chips की आवश्यकता पड़ती है इसीलिए SRAM की तुलना में DRAM को बनाने में कम पैसे लगते है, अधिकतर devices में यही RAM प्रयोग की जाती है

Read Only Memory  (ROM)

इस ROM इसलिए कहते हैं क्योंकि इसमें केवल read , operation ही होता है l इसमें पड़ा हुआ data इसे बनाए जाने के समय डाला जाता है | ROM में वह जरूरी instruction होते हैं जिसकी आवश्यकता computer को कभी भी पड़ सकती है | ये non-volatile memory  होती है यानि बिजली न मिलने पर भी data/information नष्ट नही होती है| ROM कई प्रकार के होते हैं जैसे:-

READ ONLY MEMORY ( ROM ),

PROGRAMMABLE READ ONLY MEMORY (PROM),

ERASABLE PROGRAMMABLE READ ONLY MEMORY (EPROM),

ELECTRICALLY ERASABLE PROGRAMMABLE READ ONLY MEMORY (EEPROM),

SECONDARY  MEMORY 

Secondary memory में Hard Disk Drive , Memory Cards , Pen Drives etc आते हैं  ,  Secondary memory का प्रयोग हम तब करते है जब store किये जाने वाला data बहुत अधिक हो और / या उस data की आवश्यकता भविष्य में भी पड़ने वाली हो 

कुछ प्रमुख secondary memory  इस प्रकार है :-

Hard Disk Drive

computer में Hard Disk Drive, non volatile memory का ही एक example है और इसमें वो data, information राखी जाती है जिसकी आवश्यकता हमे भविष्य में भी पड़ सकती है

Hard Disk Drive, computer में सबसे बड़ी data storage device है। computer में installed सभी system software जैसे operating system, device drivers और सभी application software और computer से related सभी software Hard Disk Drive में ही रहते हैं ।

Hard Disk Drive को ही हम सभी HD या HDD भी कहते हैं।

Hard Disk Drive एक Non Volatile Memory device है इसीलिए users इसमें अपने data , information को permanently store और retrieve कर सकते हैं

सभी computer, laptop , palmtops में Hard Disk Drive लगी होती है

यदि आप इस post / article को english में पढना चाहते हैं तो नीचे click करें 

Computer Hardware in English A 2 Z ?

*********************************

ये भी पढ़े : Computer shortcut keys for Windows a2z asked in several EXAMINATION

 

अपने जानने वालों में ये पोस्ट शेयर करें ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!