cloud computing in hindi-cloud computing kya hai A 2 Z easy explanation

cloud computing in hindi-cloud computing kya hai
अपने जानने वालों में ये पोस्ट शेयर करें ...

cloud computing in hindi-cloud computing kya hai A 2 Z easy explanation

What is cloud computing | Cloud computing क्या है ?

Cloud computing, Internet based एक computing system है ,जिसमे हम internet के द्वारा cloud service provider के network of computers (servers) पर उपलब्ध Software, Memory Storage जैसे computer से जुड़े different resources को अपनी इच्छा और आवश्यकता के अनुसार access करते है|  cloud computing में user को सामान्यतः ये नही पता होता है की वो किस computer( server) की services use कर रहा है, user को मात्र cloud computing service provider के विषय में पता होता है ,जिसकी services वो use कर रहा है|

cloud computing में service देने वाला computer संसार के किसी भी कोने में भी स्थित हो सकता है | यदि cloud computing में हम कोई software use कर रहे है तो उसे हमारे computer में install करने की आवश्यकता नही है क्योंकि वो software ,cloud computing services provider के computer पर install होता है|

इसी प्रकार cloud पर यदि हम कोई document , picture , audio या video file save करते है तो वो cloud service देने वाले के computer में save होता है , इस प्रकार high volume data जिसकी आवश्यकता हमे  भविष्य में पड़ सकती है ,को  save  करने के लिए हमे अपने computer में extra memory device install नही करवानी पड़ती है बल्कि हम अपना data, दूर कहीं cloud service provider के computer पर store कर देते है | जब भी उस data की हमे need होती है, हम use download कर लेते है |

जैसे google photos या google drive

cloud computing के लाभ Benefits of cloud computing

(cloud computing in hindi-cloud computing kya hai)

  • हम किसी देश में घूमने जाएँ तो क्या वहां रुकने के लिए हम मकान बनवाते है ? क्या वहाँ घूमने के लिए car खरीदते है ?नही न , क्योंकि हमे वहाँ रूकने के लिए hotel और घूमने के लिए car किराये पर मिल जाएगी |ठीक उसी प्रकार किसी high speed server या हमारी requirement को पूरा करने वाले specific software etc को use करने के लिए भी हम उन्हें खरीदे ये आवश्यक नही है | हम किसी company से किराये पर भी ले सकते है|
  • इसी बात को ध्यान में रखते हुए कुछ बड़ी computer companies ने network of servers बनाये जोकि 24 x 7  hours active रहते है और जिनकी services को internet के द्वारा संसार में कही से भी access किया जा सकता है | इस network में सभी servers एक साथ काम करते है, ये servers संसार में विभिन्न देशों में स्थित हो सकते है, इनके पास जो data होता है वो भी सभी computers में shared और replicated  होता है, कोई computer( server ) crash  होता है तो उसका workload दूसरा कोई computer (server ) अपने ऊपर ले लेता है जिससे cloud server की services उनके users को बिना किसी रूकावट के मिलती रहती है |
  • cloud computing में हम जो software, memory storage, servers use करते है, उसकी maintenance , security ,technical , legal ( licence ) issues etc की देखरेख cloud service provider को करनी पड़ती है| user को इसकी चिंता नही करनी पड़ती है 

history of cloud 

Cloud computing  आने से पहले client/server computing को प्रयोग किया जाता था जिसमे centralized storage use होती थी | जिसमे सभी data ,software application और इस सब का control , server side पर ही रहता था|

यदि कोई user / client , किसी program को चलाना चाहता था या data access करना चाहता था

तो उसे server से connect होना पड़ता है और उसके बाद वो अपना काम कर सकता है |

इसके बाद Distributed computing आई जिसमे सभी computer एक network में एक दूसरे से जुड़े होते है और आवश्यकता पड़ने पर एक दूसरे के साथ resources share करते है |

ऐसा माना जाता है कि cloud computing , Joseph Carl Robnett Licklider  के द्वारा वर्ष 1960 में ही प्रारंभ हो गयी थी, जब वो ARPANET (Advanced Research Projects Agency Network ) पर काम कर रहे थे, जिसमे बहुत सारे लोग किसी भी स्थान पर पड़े data को कभी भी access कर सकते थे |

आगे चलकर वर्ष 1999 में, Salesforce.com , clouds पर काम करने वाली पहली company बन गयी जो एक ऐसे concept पर काम कर रही थी जिसके अनुसार Salesforce.com के users ,उसकी enterprise-level applications, internet के द्वारा use  कर सके |

इसके बाद वर्ष 2002 में, Amazon , amazon web services ले कर आया और वर्ष 2009 में Google Apps, और Microsoft Azure,cloud computing technology अपने users को देने लगी|

future of cloud

ऐसा माना जा रहा है कि 2018 और 2021 के बीच, संसार भर में public cloud services पर होने वाला खर्च 73 %  बढ़ जायेगा और $ 160 billion  से बढ़कर $ 277 billion  हो जायेगा और इसके साथ ही cloud services market  22%  compound annual growth rate बढ़ता ही रहेगा |

types of clouds

Public Cloud

Public Cloud Services की सुविधा अनेको companies जैसे Google, Facebook, Amazon, Microsoft etc देती है । Public Cloud Services सभी के लिए free या paid plans में available होती है | Public Clouds में number of clients , private clouds के comparison में बहुत अधिक होते है | Google का gmail Public cloud का ही example है जिसे billions of user , use करते है |

Private cloud

private cloud मुख्य रूप से किसी एक company या organisation को अपनी services देते है|

ये किसी company के निजी clouds भी हो सकते है जो physically, company premises में data-centre के रूप में स्थित हों अथवा किसी third party service provider के द्वारा संचालित clouds के रूप में हो सकते हैं |

private clouds की security public cloud से अच्छी होती है और इन्हें मुख्यतः government agencies, financial institutions, Mid & Large size organizations में use किया जाता है या फिर third party service provider के द्वारा public use कर सकती है |

Community cloud

Cloud computing में ये वो service है जिनका प्रयोग एक जैसे उद्देश्यों के लिए काम करने वाली companies और organisation करती हैं जैसे different defence organisation के द्वारा clouds को use करना, इसमें clouds services सभी organisation / companies के बीच shared होती है लेकिन इन organisation / companies के अतिरिक्त इस cloud की service कोई नही use कर सकता है |

एक प्रकार से कह सकते है कि किसी group of organisation / companies के लिए ये private cloud ही है लेकिन इन organisation / companies में आपस में इनकी services shared होती है |

hybrid cloud 

hybrid cloud में Public Cloud,Private cloud,Community cloud  तीनो ही technology का combination use होता है |

Types of Cloud Computing Services 

cloud services मुख्यतः 3 प्रकार की होती है :-

  • Software as a Service (SaaS)
  • Platform as a Service (PaaS)
  • Infrastructure as a Service (IaaS)

SaaS (Software as a Service)

SaaS (software as a service)  clouds services का “software service distribution model है जिसमे third party service provider / vendor किसी software ( application ) को internet के द्वारा users / clients को उपलब्ध कराते है | SaaS आज के समय में छोटी बड़ी सभी प्रकार की organization में use किया जा रहा है क्यूंकि इसमें user / client किसी required software को अपने computer में बिना install किये , बिना उसके data को manage किये ही use कर सकते है , इसमें सभी बातों की responsibility SaaS provider की होती है |

SaaS free / paid दोनों ही प्रकार की हो सकती है | paid plan में SaaS  use करने के लिए user / client को software का monthly / yearly subscription fees देनी होती है ,

SaaS को on demand software , web software, hosted software भी कहते है | office software, messaging software, payroll processing software etc SaaS के उदाहरण है |

PaaS ( Platform as a Service ) 

PaaS , cloud computing की एक ऐसी service है जो users / client को एक ऐसा platform देता है जिसमें कि वो आसानी से अपनी requirement के अनुसार software , develop कर सके , manage कर सकें | PaaS में users / clients को ऐसे tools दिए जाते है जिससे वो software application को develop कर सके , अपनी need के अनुसार customize कर सके और test कर सकें | क्योंकि ये SaaS और IaaS के बीच का service model है, इसलिए इसे middleware भी कहा जाता है |

IaaS (Infrastructure as a Service)

IaaS (Infrastructure as a Service) एक ऐसी cloud service है जिसमे user / client को cloud में hardware, networking  और memory storage उपलब्ध करायी जाती है| operating system और Softwares installation और समय समय पर इन्हें update , client को करना होता है | client को उतनी ही service का payment करना होता है जितने का उसने उपयोग किया है |

जैसे Virtual Private Server

Top Cloud Computing Service Provider Companies

  1. Adobe Creative Cloud
  2. Amazon Web Services
  3. Cloudways
  4. Dropbox
  5. Egnyte
  6. Facebook, twitter etc social networking sites
  7. Google Cloud Platform
  8. IBM Cloud Services
  9. Kamatera
  10. Microsoft Azure
  11. Microsoft hotmail
  12. Navisite
  13. Oracle Cloud
  14. Rackspace
  15. Red Hat
  16. Salesforce
  17. SAP
  18. ScienceSoft
  19. Verizon Cloud
  20. VMware

cloud computing in hindi-cloud computing kya hai

Cloud Computing Applications

cloud computing  उन सभी programs और software को चला सकता है जिन्हें एक सामान्य computer चला सकता है। इसके द्वारा हम अनेक प्रकार की application free में भी चला सकते है। इसलिए, cloud computing applications को विस्तार से समझते है :-

Online File Storing Applications

Cloud Computing में हम internet की help से, cloud service provider के server पर अपनी कैसी भी file upload कर सकते है जिसे आगे आवश्यकता के अनुसार कभी भी access कर सकते है |

जैसे google drive , google photo etc

Backup and Recovery Applications

cloud computing में हम अपने computer / mobile devices का backup भी ले कर रख सकते जोकि कभी हमारे system के ख़राब हो जाने पर काम आ सकता है |

Video / Audio & Other Format’s File Making and Editing applications

ऐसे अनेकों cloud service provider है जो आपकी video, audio या अन्य format की files को बनाने या उनमे editing करने के लिए,हमको अपने software ( free या paid plan में ) देते है | ये software हम internet की help से कभी भी use कर सकते है |

File Converters Applications

cloud computing में हम cloud service provider के server पर installed, file converter software को अपनी files के format को change करने में use कर सकते है | clouds पर available ये software हम कभी भी , कही भी internet की help से access कर सकते है |

जैसे ms-excel तो ms-word,ms-word to pdf, html to pdf etc

AntiVirus Applications

cloud computing में हम cloud service provider के server पर installed, viruses और malwares  detection software के द्वारा अपने computers,laptops,mobile devices को scan करवा सकते है,ये special softwares हमारी devices में  installed system और application software को scan कर viruses और malwares, detect करते है , उन्हें quarantine और eliminate करते है जिससे हमारी device सही प्रकार से कार्य करने लगती है |

Cloud computing E-commerce / Online transaction Applications

cloud computing में हम cloud service provider के servers पर installed, e-commerce software की help से संसार में कहीं भी स्थित seller से अपनी इच्छा का product / service खरीद सकते है और खरीदने से पहले online seller के द्वारा उस product / service पर दी जाने वाली guarantee / warranty पढ़ सकते है और साथ ही return & replacement condition को भी पढ़ सकते है , products / service को दूसरे seller के द्वारा दिए जाने वाले products / services से compare कर सकते है |

इसके साथ ही पैसों का payment भी online कर सकते है | हम जो भी payment करते है उस payment की एक transaction id होती है जोकि हमने payment कर दिया , इस बात का सबूत होती है , इसलिए cloud computing में जो भी online payment होता है वो पूरी तरह से safe होता है |

Data Science Application / Big data Application

cloud computing में हम cloud service provider के servers पर installed data science software को use करके अपनी company के बड़े से बड़े data को process/ analyse कर सकते है जोकि inventory control , management और decision making में काम आता है |

आज सभी बड़ी companies, data science applications को use कर रहे है |

etc 

Advantages and Disadvantages of Cloud Computing

दूसरी techniques जैसे cloud computing के भी के अपने Advantages and Disadvantages है और ये इस बात पर निर्भर करते है कि user cloud computing को कैसे use कर रहा है और किस company की cloud services use कर रहा है | आईये इनको समझने का प्रयास करते है :-

Advantages of Cloud Computing

Economical

cloud computing के महत्वपूर्ण लाभों में से एक है इसकी कम लागत का होना । cloud service providers , market research के बाद minimum rates पर cloud services देते है| आज के समय में अनेको companies अपने यहाँ महंगे server नही लगाना चाहती है,क्योंकि इनको खरीदने में और बाद में इनके संचालन में जितनी administrative और operational costs आती है वो बहुत अधिक होती है

इसलिए आज बड़ी companies के साथ साथ छोटी companies और startups भी clouds services को use करना पसंद करती है क्योंकि clouds पर हम अपनी requirement के अनुसार छोटा बड़ा कैसा भी plan ले सकते है जो more economical होता है |

Reliability

cloud computing में अनेको server use होते है जोकि एक दूसरे से connected होते है और हमारा जो भी data cloud server पर होता है वो इन सभी servers पर shared और replicated होते है और यदि कभी कोई server crash / fail होता है तो दूसरा server, user को data दे देता है | जबकि हम अपना server खरीदते है तो server crash होने पर हम अपना database खो सकते है , इसप्रकार cloud computing , more reliable होती है |

Proper Security

cloud computing में servers पर जो data होता है वो machine ( server) पर save होता है और वो paasword protected और encrypted ( data की coding कर सुरक्षित कर देना ) होता है| इन servers की multi stage -high level security होती है जिससे उस data को कोई भी change नही कर सकता जब तक हम ऐसी कोई request न करे और कोई भी change का record हमारे पास रहता है. 

जैसे हम email का password change करते है तो हमसे पहले वाला paasword या OTP के लिए हमारा phone number माँगा जाता है जबकि हमारी company में लगे server की security को कोई computer expert, break कर सकता है और हमारे data को change या destroy कर सकता है| यदि हमारे server पर पड़ा data किसी दूसरे server के साथ shared नही होगा तो उसकी recovery भी नही हो पायेगी|

Disadvantages of Cloud Computing

Internet Connectivity

cloud computing में clouds पर पड़े data को access करने का एक ही तरीका है internet connectivity | internet connectivity न होने पर आप किसी भी प्रकार से अपना data access नही कर सकते है |

Low bandwidth of internet connection

चाहे हम internet of thinks (IOT) की बात करे या internet of medical things (IOMT) की जो कुछ भी clouds से और clouds पर operate हो रहा है , उन सब का लाभ हमे तभी मिल सकता है जब हमारे पास अच्छी bandwidth का internet connection हो अन्यथा हम internet service provider को कोसते रहेंगे लेकिन हमारा काम समय पर नही हो पायेगा |

Lack of Customer support

कभी कभी cloud service provider , अपनी services को तो हमे सस्ते में देते है लेकिन उनका customer support अच्छा नही होता है और कोई technical error आने पर समय पर हमारी problem resolve नही हो पाती है |

इस लेख को english मे यहाँ से पढे :

What is cloud computing ? | cloud computing an emerging technology in detail A 2 Z

ये भी पढ़े : Cyber Security in hindi || cyber security kya hai A 2 Z

(cloud computing in hindi-cloud computing kya hai)

अपने जानने वालों में ये पोस्ट शेयर करें ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!