Shadow

कुंडली में विवाह योग कब बनते है ? marriage yoga in the horoscope- 5 important conditions

अपने जानने वालों में ये पोस्ट शेयर करें ...

कुंडली में विवाह योग कब बनते है ? marriage yoga in the horoscope- 5 important conditions

Marriage yoga in the horoscope: वैदिक ज्योतिष मे कुंडली में विवाह योग (Kundli me vivah yog) देखने से पहले हमें यह जानना आवश्यक है की कुंडली में कौन सा भाव और कौन से ग्रह विवाह मैं मुख्य भूमिका निभाते हैं । साथियों कुंडली में सातवां भाव विवाह और जीवनसाथी से जुड़ा हुआ भाव होता है और इसी प्रकार नवमांश कुंडली भी हमारे जीवनसाथी के विषय में बताती है ।

जब भी कुंडली का सातवां भाव शुभ प्रभाव में होता है तब हमारा विवाह शीघ्र और कम आयु में हो जाता है जबकि ठीक इसके विपरीत यदि हमारी कुंडली में सातवां भाव पाप ग्रहों के द्वारा पीड़ित होता है अथवा क्रूर ग्रहों के द्वारा पीड़ित होता है , तो विवाह में विलंब होता है।

इसी के साथ हमें यह भी देखना होता है की कुंडली में सातवां भाव का स्वामी किस स्थिति में बैठा है और कौन से ग्रह उसे देख रहे हैं । यदि सातवें भाव के स्वामी के ऊपर शुभ ग्रहों की दृष्टि होती है तो विवाह शीघ्र हो जाता है अन्यथा विवाह मे विलंब होता है।

कुंडली में विवाह योग कब बनते है marriage yoga in the horoscope- 5 important conditions

Photo by KANIKA PANT on Unsplash

कुंडली में विवाह योग Marriage yoga in the horoscope

  1. हमारी कुंडली में जब भी बृहस्पति का गोचर सातवें भाव के ऊपर से होता है तो कुंडली में विवाह योग प्रबल हो जाते हैं और उस समय हमारे विवाह होने की संभावना बहुत अधिक बढ़ जाती है।
  2. यदि यदि कुंडली में मित्र बृहस्पति की दृष्टि सातवें भाव पर पढ़ रही हो तो उस समय भी विवाह होने की संभावना बहुत अधिक बढ़ जाती है ।
  3. यदि किसी व्यक्ति के सप्तमेश के ऊपर से बृहस्पति का गोचर हो रहा होता है तो भी हमारे विवाह के योग बहुत अधिक बढ़ जाते हैं , इसके साथ ही हमें यह भी देखना होता है कि हमारी कुंडली मे महादशा,अंतर्दशा और प्रत्यंतर दशा किन ग्रहों की चल रही है ।
  4. यदि सप्तम भाव के मित्र ग्रह की महादशा हो और मित्र ग्रह की दृष्टि सप्तम भाव अथवा सप्तमेश के ऊपर हो तो भी विवाह की संभावना बहुत अधिक बढ़ जाती है
  5. इसके साथ ही यदि सप्तमेश की महादशा या अंतर्दशा आ जाए तो भी विवाह के योग बढ़ जाते हैं।

क्या मांगलिक व्यक्ति का विवाह गैर मांगलिक से हो सकता है Can a Manglik person get married to a non-Manglik person 3 surefire solutions

निष्कर्ष :

कुंडली में विवाह योग शीघ्र उन्हीं लोगों के बन पाते हैं जिनकी कुंडली में सप्तमेश और शुक्र बलवान स्थिति में हो और भाव बल और षडबल की ठीक स्थिति हो ।

जब भी बृहस्पति निर्बल होता है और सप्तमेश पीड़ित होता है अथवा सप्तम भाव पर क्रूर और पापी ग्रहों का प्रभाव होता है तो उस स्थिति में हमें मित्रों का सहारा लेना चाहिए अथवा विधि विधान से ग्रहों से जुड़ी हुई पूजा करवानी चाहिए , इसके साथ ही संबंधित देवता के तीर्थ पर जाने से कुंडली मे विवाह के योग बनने लग जाते हैं।

साथियों हम आशा करते है कि ये पोस्ट “कुंडली में विवाह योग कब बनते है ? marriage yoga in the horoscope- 5 important conditions  ”  आपको अच्छी लगी होगी , कुंडली विश्लेषण के लिए हमारे WhatsApp number 8533087800 पर संपर्क कर सकते हैं

अब यदि कोई ग्रह ख़राब फल दे रहा हो , कुपित हो या निर्बल हो तो उस ग्रह के मंत्रों का जाप , रत्न आदि धारण करने चाहिए ,

इसके साथ ही आप ग्रह शांति जाप ,पूजा , रत्न  परामर्श और रत्न खरीदने के लिए अथवा कुंडली के विभिन्न दोषों जैसे मंगली दोष , पित्रदोष आदि की पूजा और निवारण उपाय जानने के लिए भी संपर्क कर सकते हैं

अपना ज्योतिषीय ज्ञान वर्धन के लिए हमारे facebook ज्योतिष ग्रुप के साथ जुड़े , नीचे दिए link पर click करें

श्री गणेश ज्योतिष समाधान 

ये भी पढ़े :दुर्गा सप्तशती सिद्ध मंत्र 31 Durga Saptashati Siddha Samput Mantra

ये भी पढे : कुंडली में शुभ योग: इन 7 योग में उत्पन्न व्यक्ति ,कीर्तिवान,यशस्वी तथा राजा के समान ऐश्वर्यवान होता है

ये भी पढ़े : स्त्री की कुंडली में चंद्रमा का प्रभाव stri ki kundli me chandrama-13 moon effects in female horoscope

ये भी पढे : स्त्री की कुंडली में गुरु 12 houses of Jupiter in females horoscope

**************

ये भी पढे :सूर्य और हमारा स्वास्थ्य 9 facts of Sun for good healthy life

ये भी पढ़े : लाल किताब मे चन्द्रमा का महत्व Importance of Moon in Lal Kitab with upay चन्द्रमा लग्न मे अशुभ हों तो..

ये भी पढ़े : Lal Kitab ke totke:16 लाल किताब के टोटके जिनसे खोया या लापता व्यक्ति भी शीघ्र ही घर लौट आएगा

ये भी पढ़े : कुंडली में गुरु की स्थिति और अशुभ गुरु के 6 उपाय Jupiter in Kundli and its Importance as per Lal Kitab

आप पढ़ रहे थे ” कुंडली में विवाह योग कब बनते है ? marriage yoga in the horoscope- 5 important conditions ”

Scrub India 

अपने जानने वालों में ये पोस्ट शेयर करें ...
error: Content is protected !!