Tuesday, September 27
Shadow

पितृपक्ष में खरीदारी- शुभ या अशुभ Shopping in Pitru Paksha – Auspicious or inauspicious

अपने जानने वालों में ये पोस्ट शेयर करें ...

पितृपक्ष में खरीदारी– शुभ या अशुभ Shopping in Pitru Paksha – Auspicious or inauspicious

पितृपक्ष में खरीदारी- शुभ या अशुभ (Shopping in Pitru Paksha) : पितृपक्ष में आपने लोगों से सुना होगा कि खरीदारी नहीं करनी चाहिए। लोगों में यह धारणा बनी हुई कि यह अशुभ समय होता है और इन दिनों नई चीज खरीदने से पितर नाराज होते हैं।कुछ लोग कहते है कि पितर पक्ष में खरीदी गयी चीजें पितरों को दान करने या उन्हें समर्पित करने के लिए होती है इसलिए उनका उपयोग करना ठीक नही है एक प्रकार से उन वस्तुओं पर प्रेत का अंश होता है।

आज हम आपको इसी विषय को समझाते हैं कि पितृपक्ष में खरीदारी करनी चाहिए या नहीं?

मित्रों शास्त्रों में कहीं भी इस प्रकार का उल्लेख नहीं मिलता है कि पितृ या श्राद्घ पक्ष में खरीदारनी नहीं करनी चाहिए वैसे भी श्राद्घ पक्ष गणेश चतुर्थी और नवरात्र के बीच का समय होता है।हम सभी ये जानते है कि किसी भी शुभ काम की आरंभ गणेश जी की पूजा से होता है और श्राद्घ पक्ष गणेश जी की पूजा के बाद आते है तो वो अशुभ कैसे हो सकते हैं

श्राद्घ पक्ष या पितृपक्ष में खरीदारी किनके लिए अशुभ

Shopping in Pitru Paksha – Auspicious or inauspicious

पितृपक्ष में खरीदारी- शुभ या अशुभ (Shopping in Pitru Paksha)

साथियों श्राद्घ पक्ष में पितर पृथ्वी पर आते हैं और वह देखते हैं कि उनकी संतान किस स्थिति में हैं।जब पितृ देखते हैं कि उनके वंशज यानि संतान नई चीज खरीद रहे हैं तो पितरों को प्रसन्नता होती है क्योंकि उन्हें पता चलता है कि उनकी संतान सुखी हैं।किन्तु जब वो देखते हैं कि आप नई चीजें खरीद रहें है और उसमें खुश हैं लेकिन अपनी खुशियों में पितरों का ध्यान नही कर रहें हैं तब वो श्राद्घ पक्ष में की गयी खरीदारी से दुखी होते हैं क्योंकि आप उनका ध्यान नही रख रहें हैं

क्योंकि पितरों की आत्मा की शांति के लिए पितृपक्ष में धर्म,दान, पूजा आदि किया जाता है और इससे आप अपने पितरों को प्रसन्न कर उनका आशीर्वाद प्राप्त कर सकते हैं। पितृपक्ष में किए गए श्राद्ध से पितरों की आत्मा को शांति मिलती है।लेकिन जब आप मात्र खरीदारी यानि shopping ही कर रहे होते हैं और श्राद्घ कर्म में ध्यान नही देते हैं तो वो दुखी होते हैं

पितृपक्ष के समय में किसी भी भौतिक चीजों की खरीदारी करने से पितृ दुखी नही होते है बल्कि आपके पितर आपको खुश देखकर प्रसन्न होते हैं ऐसे में आपको बस इस बात का भी ध्यान रखना है कि आप अपने माता पिता और घर के बड़े वृद्ध व्यक्तियों का अनादर न करें

ये भी पढ़े : पितरों को प्रसन्न करने के 9 उपाय टोटके -how to please ancestors in pitra paksh

पितृ पक्ष में खरीदारी से पहले पितरों को करें प्रसन्न 

ऐसा कहा गया है कि पितृ पक्ष में पूर्वज हमारे घर आते हैं और वह किसी पशु पक्षी सरीसर्प आदि का रूप धारण कर आ सकते हैं और भोजन ग्रहण कर तृप्त हो सकते हैं

ऐसे में आप एक ऐसा उपाय करें  जिससे पितृ प्रसन्न भी हों और आप को अपने काम में शुभता और सफलता भी मिल जाए

आपके घर में बनी पहली रोटी गाय को खिलाएं और अंतिम रोटी में तेल लगाकर कुत्ते को कुत्ते को खिलायें

पितृ पक्ष में जब आप अपने पितरों के लिए भोजन बनाए तो सबसे पहले वाली रोटी थोड़ी बड़ी बनाए और उसके चार टुकड़े कर दें , चारो टुकड़ो पर कुछ मीठा जैसे गुड, चीनी, हलवा, खीर या कुछ रख दे और पहले टुकड़े को गाय को दूसरे टुकड़े को कुत्ते को , तीसरे टुकड़े को कौवे को खिला दे और रोटी के अंतिम टुकड़े को अपने घर पर भिक्षा मांगने वाले व्यक्ति को दे दे.

पितृपक्ष में खरीदारी- शुभ या अशुभ Shopping in Pitru Paksha - Auspicious or inauspicious

श्राद्घ पक्ष में खरीदारी के शुभ मुहूर्त

इस वर्ष श्राद्घ पक्ष में अनेक शुभ मुहूर्त बने हुए हैं जिसमें खरीदारी करना लाभदायक होगा , इन दिनों आप खरीदारी कर सकते हैं। खरीदारी और नया शुभ काम करने के लिए नीचे कुछ मुहर्त दिए गए हैं :-

13 सितंबर 2022 को वृद्धि योग है।

13 और 17 सितंबर 2022 को अमृत सिद्धि योग है ।

16 सितंबर 2022 को रवियोग है।

17 सितंबर 2022 को सिद्धि योग में भी आप चाहें तो खरीदारी कर सकते हैं।

20 सितम्बर को सर्वार्थ सिद्घ योग एवं अमृत सिद्घि नामक शुभ योग है।

11, 13, 17,22, 24,25, 29 सितम्बर और 1 अक्तूबर को सर्वार्थ सिद्घ योग है।

24 सितम्बर को रवि योग है ।

ये सभी योग है यह बहुत ही शुभ हैं । इसलिए इस दिन आप खरीदारी कर सकते हैं।

ये भी पढ़े : Pitru Paksha 2022 Date and Time :16 दिनों का पितृपक्ष 2022 क्यों है विशेष ,जाने तर्पणविधि,सावधानी,किस दिन किसका श्राद्ध और मंत्र

निष्कर्ष :

साथियों हम आशा करते है कि ये पोस्ट “पितृपक्ष में खरीदारी- शुभ या अशुभ Shopping in Pitru Paksha – Auspicious or inauspicious” 

आपको अच्छी लगी होगी , कुंडली विश्लेषण के लिए हमारे WhatsApp number 8533087800 पर संपर्क कर सकते हैं

अब यदि कोई ग्रह ख़राब फल दे रहा हो , कुपित हो या निर्बल हो तो उस ग्रह के मंत्रों का जाप , रत्न आदि धारण करने चाहिए ,

अपना ज्योतिषीय ज्ञान वर्धन के लिए हमारे facebook ज्योतिष ग्रुप के साथ जुड़े , नीचे दिए link पर click करें

श्री गणेश ज्योतिष समाधान 

**********************************

सरल भाषा में computer सीखें : click here 

**********************************

अपने जानने वालों में ये पोस्ट शेयर करें ...

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!