Saturday, December 10
Shadow

कुंडली में राहु अच्छा है या बुरा, राहु से लाभ,हानि,रोग और राहु के उपाय A 2 Z Complete Astrological Solution 

अपने जानने वालों में ये पोस्ट शेयर करें ...

कुंडली में राहु अच्छा है या बुरा, राहु से लाभ,हानि,रोग और राहु के उपाय A 2 Z Complete Astrological Solution of rahu

कुंडली में राहु : राहु कूटनीति का सबसे बड़ा ग्रह है राहु संघर्ष के बाद सफलता दिलाता है यह कई महापुरुषों की कुंडलियो से स्पष्ट है राहु का 12 वे घर में बैठना बड़ा अशुभ होता है क्योकि यह जेल और बंधन का स्वामी है

राहु 12 वे घर में बैठकर अपनी दशा अंतरदशा में hospital या जेल अवश्य भेजता है। किसी भी कुंडली में राहु जिस घर में बैठता है 19 वे वर्ष में उसका फल दे कर 20 वे वर्ष मे उस फल को नष्ट कर देता है.

राहु की महादशा 18 वर्ष की होती है। राहु चन्द्र जब भी एक साथ किसी भी भाव में बैठे हुए हो तो चिंता और व्यर्थ की व्याकुलता का योग बनाते है।

राहु की अपनी कोई राशि नहीं है वह जिस ग्रह के साथ बैठता है उस ग्रह की सारी शक्ति समाप्त कर देता है और उसकी शक्ति स्वयं ले लेता है और साथ ही उस भाव के फलों की प्राप्ति में अत्यधिक संघर्ष करवाता है।

कुंडली में राहु अच्छा है या बुरा, राहु से लाभ,हानि,रोग और राहु के उपाय A 2 Z Complete Astrological Solution 

कुंडली मे राहु के अशुभ होने के योग

–>राहु मिथुन मे शुभ फल देता है किन्तु मिथुन से 7th राशि धनु  मे नीच का होकर अशुभ फल देता है।

–>यदि कुंडली में राहु अपने शत्रु ग्रहों के घर मे बैठा हो तो सर्वदा अशुभ फल ही देता है

–>1st 2nd 4th 7th 9th 10th भाव में राहु की स्थिति शुभ नहीं मानी जाती हैं, यदि contract या project basis या politics related काम हो और राहु मित्र राशि मे 10th मे हो तो 10th का राहु ठीक रहता है । 3rd 6th तथा 11th भाव राहु की स्थिति को शुभ भी मानते हैं।

कुंडली में राहु के द्वारा मिलने वाले कष्ट

–>बनते कार्यो में रूकावट होना और जीवन में घर के भौतिक सुखों की कमी।

–>पीठ पीछे जड़े काटने वाले मित्र देना या बनावटी बातों वाले धोखेबाज लाईफ पार्टनर देना।

–>काला जादू या टोन टोटके के प्रभाव में आना या गुप्त विद्याओं में रूची उत्पन्न होना

–>परीक्षा में असफलता प्राप्त होना या नौकरी व व्यवसाय में बाधा आना

–>मानसिक तनाव व अशांति या रात को नींद न आना।

–>व्यर्थ की चिंता में उलझे रहना और किसी कार्य में मन न लगना।

–>अकस्मात् धन का अधिक व्यय होना या लौटरी आदि से धन प्राप्त होना।

–>दुर्जनों व दुष्टों से मित्रता करना और बिना सोचे समझे कार्य करना।

–>पति पत्नी में तनाव या विवाह विच्छेद जैसे योग बनाना या नीच स्त्रियों के साथ सम्बन्ध बनना

–>धन चरित्र स्वास्थ्य की ओर ध्यान न देना और छोटी उम्र में वीर्य को समाप्त कर यौन रोग देना पेट व आंतडि़यों के रोग होना। कुंडली में राहु कुंडली में राहु कुंडली में राहु

ये भी पढे : पुरुष और स्त्री की कुंडली में अवैध संबंध के योग 21 extramarital affairs conditions

राहु अशुभ फल कब देता है

–>यदि व्यक्ति नेत्रहीन या विकलांग व्यक्ति के साथ कुछ बुरा करता है

–>यदि व्यक्ति अनाथ लोगों के साथ बुरा करता है

–>यदि व्यक्ति ससुर या ससुराल का अपमान करता है

–>यदि कोई व्यक्ति अपने गुरु या अपने धर्म का अपमान करता है तो उस व्यक्ति का राहु ग्रह अवश्य बुरा फल देता है।

–>यदि कोई व्यक्ति शराब का सेवन नियमित करता है या फिर पराई स्त्री के साथ सम्बन्ध बनाने की इच्छा रखता है तो उसका राहु ग्रह अवश्य बुरा फल देता है।

–>यदि कोई व्यक्ति झूठ बोलने की प्रवृति को नहीं छोड़ता और चतुराई से किसी को धोखा देता है और तो उस व्यक्ति का राहु ग्रह बुरा फल देता है।

–>कोई व्यक्ति अधिकतर तामसिक भोजन करता है तो उस व्यक्ति का राहु ग्रह बुरा फल देता है।

–>यदि कोई व्यक्ति खाना अधिकतर घर से बाहर खाता है  तो उस व्यक्ति का राहु ग्रह बुरा फल देने लगता है।

ये भी पढे : मनचाही नौकरी पाने के 5 सरल उपाय (Naukri Pane Ke Upay)-How to get desired job easily

 

pitru amavasya 2021

कुंडली में खराब राहु से हानि

–>किसी भी व्यक्ति का कुंडली में राहु ग्रह खराब है तो उसके जीवन में शत्रु बढ़ जायेंगे और सोचने की क्षमता कम होने लगती है।

–>किसी भी व्यक्ति का यदि राहु ग्रह खराब है तो उसके साथ दुर्घटना पुलिस केस या पत्नी के साथ लड़ाई झगडे में बढ़ोत्तरी हो जायेगी।

–>किसी भी व्यक्ति का यदि राहु ग्रह खराब है तो वो व्यक्ति छोटी छोटी बातों पर क्रोध आने लगता है और लोगों के साथ सही तालमेल नहीं बिठा पाता है।

–>किसी भी व्यक्ति का यदि राहु ग्रह खराब है तो उसके ससुर साले या साली से झगडा बढ़ने लगेगा।

–>किसी भी व्यक्ति का यदि राहु ग्रह खराब है तो उस व्यक्ति का एक तरह से दिमाग खराब होने लगता है और उस व्यक्ति के सिर में चोट लगती रहती है या चोट का निशान होता है या माईग्रेन की समस्या भी देखि गयी है।

–>किसी भी व्यक्ति का यदि राहु ग्रह खराब है तो वह व्यक्ति अधिक मदिरापान या फिर सम्भोग/हस्तमैथुन की ओर भागने लगता है।

–>किसी भी व्यक्ति का यदि राहु ग्रह खराब है तो व्यक्ति नीच हरकते करने लगता है और निर्दयी हो जाता है।

कुंडली में राहु खराब से होने वाले रोग

–>किसी भी व्यक्ति का यदि राहु ग्रह खराब है तो सबसे पहले उसको गैस से सम्बन्धित शिकायत बढ़ने लगती है।

–>किसी भी व्यक्ति का कुंडली में राहु ग्रह खराब है तो उसके बाल झड़ने लगते हैं तथा बवासीर से सम्बन्धित भी समस्या होने लगती है।

–>कुंडली में राहु ग्रह खराब है तो वो जातक पागलों की तरह व्यवहार करेगा और लगातार मानसिक तनाव में रहेगा।

–>कुंडली में राहु ग्रह खराब है तो उसके नाखून अपने आप ही टूटने लगते हैं और व्यक्ति के सिर में पीड़ा या दर्द बनी रहती है।

–>कुंडली में राहु ग्रह खराब है तो उस व्यक्ति को अकस्मात् पता चलेगा की मुझे कोई बीमारी है और उस पर पैसा भी खूब खर्चा होगा तथा व्यक्ति की मृत्यु भी हो सकती है।

astrological remedies for 9 planets

कुंडली में शुभ राहु के लाभ

–>राहु के शुभ होने पर व्यक्ति को कीर्ति सम्मान राज वैभव व बौद्धिक उपलब्धता प्राप्त होती हैं। व्यक्ति धनवान होगा। कल्पना शक्ति तेज होगी। रहस्यमय या धार्मिक बातों में रुचि लेगा।

–>राहु के अच्छा होने से व्यक्ति में श्रेष्ठ साहित्यकार दार्शनिक वैज्ञानिक या फिर रहस्यमय विद्याओं के गुणों का विकास होता है। इसका दूसरा पक्ष यह कि इसके अच्छा होने से राजयोग भी फलित हो सकता है।  ऐसे लोगों के पुलिस या प्रशासन में अच्छे संपर्क होते हैं।

–>राहु ग्रह शुक्र के साथ राजस तथा सूर्य एवं चन्द्र के साथ शत्रुता का व्यवहार करता है।

–>बुध शुक्र गुरू को न तो अपना मित्र समझता है और नहीं उससे किसी प्रकार की शत्रुता ही रखता है

–> वृष ,मिथुन कन्या तुला मकर राशियाँ राहु की मित्र राशि है तथा मेष , कर्क , सिंह, धनु शत्रु राशिया है।

–>राहु अपने स्थान से पाँचवे सातवे नवे स्थान को पूर्ण दृष्टि से देखता हैं।

कुंडली में राहु को शुभ बनाने के उपाय

–>कुंडली में राहु की दशा से आप पीड़ित हैं तो अपने सिरहाने जौ रखकर सोयें और सुबह उनका दान कर दें इससे राहु की दशा शांत होगी।

–>अपनी शक्ति के अनुसार संध्या को काले-नीले फूल गोमेद नारियल मूली सिरसों नीलम कोयले खोटे सिक्के नीला वस्त्र किसी कोढ़ी को दान में देना चाहिए।

–>राहु की शांति के लिए लोहे के हथियार नीला वस्त्र कम्बल लोहे की चादर तिल सिरसों तेल विद्युत उपकरण नारियल एवं मूली दान करना चाहिए. सफाई कर्मियों को लाल मसूर की दाल का दान करने से भी राहु शांत होते हैं ।

–>कुंडली में राहु की दशा होने पर कुष्ट से पीड़ित व्यक्ति की सहायता करनी चाहिए।निर्धन व्यक्ति की कन्या की शादी करनी चाहिए।

–>राहु से पीड़ित व्यक्ति को शनिवार का व्रत करना चाहिए अथवा कुंडली मे राहु जिस राशि मे बैठकर कष्ट दे रहे हो उस राशि के दिन व्रत रखना चाहिए इससे राहु ग्रह का दुष्प्रभाव कम होता है।

–>कौए को मीठी रोटी और ब्राह्मणों अथवा निर्धनों को चावल या जौ का बना कोई पदार्थ खिलाएँ ।

–>चांदी की चेन गले में पहने या चांदी का कड़ा दाहिने हाथ में धारण करना चाहिए।

–>सफेद चन्दन की माला भी धारण की जा सकती है या अपने पास सफेद चन्दन अवश्य रखना चाहिए।

–>जमादार ( सफाई कर्मचारी )  को तम्बाकू का दान करना चाहिए।

–>किसी भी दिन के संधिकाल में अर्थात् सूर्योदय या सूर्यास्त के समय कोई महत्त्वपूर्ण कार्य नही करना चाहिए और उस राशि के दिन तो  बिलकुल भी न करें जिस राशि मे राहु बैठ अशुभ प्रभाव दे रहे हों जैसे मेष राशि मे अशुभ प्रभाव दे रहे हो तो मंगलवार के दिन

–>यदि किसी अन्य व्यक्ति के पास रुपया अटक गया हो तो प्रातःकाल पक्षियों को दाना चुगाना चाहिए।

–> राहु के दुष्प्रभाव निवारण के लिए किए जा रहे टोटकों हेतु शनिवार का दिन राहु के नक्षत्र (आर्द्रा स्वाती शतभिषा) तथा शनि की होरा में अधिक शुभ होते हैं।

कुंडली में राहु ख़राब हो तो क्या न करें

मदिरा और तम्बाकू के सेवन से दूरी बनाये क्योंकि कुंडली में राहु अशुभ होने पर ऐसा करने से विपरीत परिणाम मिलता है ,आप राहु की दशा से परेशान हैं तो संयुक्त परिवार से अलग होकर अपना जीवन यापन करें।

निष्कर्ष : साथियों हम आशा करते है कि इस पोस्ट कुंडली में राहु अच्छा है या बुरा, राहु से लाभ , हानि ,रोग और रहू के उपाय A 2 Z Complete Astrological Solution

यदि आपको हमारी ये पोस्ट : – गजकेसरी योग किसे कहते है ,12 विभिन्न राशियों में बलवान और निर्बल Gaj Kesari Yog अच्छी लगी हो तो इस पोस्ट को शेयर अवश्य करें .

कुंडली विश्लेषण के लिए हमारे whatsApp number 8533087800 पर संपर्क करे उसके बाद ही कॉल  करें

अब यदि कोई ग्रह ख़राब फल दे रहा हो , कुपित हो या निर्बल हो तो उस ग्रह के मंत्रों का जाप , रत्न आदि धारण करने चाहिए ,

किसी भी ज्योतिषीय सलाह के लिए आप हमारे mobile number 8533087800 पर संपर्क कर सकते है , इसके साथ ही आप ग्रह शांति जाप ,पूजा , रत्न  परामर्श और रत्न खरीदने के लिए अथवा कुंडली के विभिन्न दोषों जैसे मंगली दोष , पित्रदोष , कालसर्प दोष आदि की पूजा और निवारण उपाय जानने के लिए भी संपर्क कर सकते हैं

अपना ज्योतिषीय ज्ञान वर्धन के लिए हमारे facebook ज्योतिष ग्रुप के साथ जुड़े , नीचे दिए link पर click करें

श्री गणेश ज्योतिष समाधान 

टेक्नोलॉजिकल ज्ञान  : CPU क्या है What is CPU in Hindi,CPU Core,CPU types,complete & in easy langauge in 1 article

ये भी पढ़े :ज्योतिष के अनुसार शिक्षा -9 ग्रहों के अनुसार शिक्षा (education in astrology – education as per planets)

अपने जानने वालों में ये पोस्ट शेयर करें ...

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!