Friday, December 9
Shadow

लाजवर्त क्यों पहना जाता है -लाजवर्त धारण करने के लाभ-एक रत्न से होंगे 3 ग्रह शांत शनि राहु केतु-Lapis Lazuli gives confidence, peace and harmony

अपने जानने वालों में ये पोस्ट शेयर करें ...

लाजवर्त क्यों पहना जाता है -लाजवर्त धारण करने के लाभ-एक रत्न से होंगे 3 ग्रह शांत शनि राहु केतु-Lapis Lazuli gives confidence, peace and harmony

लाजवर्त क्यों पहना जाता है : – लाजवर्त (Lapis Lazuli) एक अपारदर्शी ,चिकना,गाढ़े नीले रंग और देखने में बहुत सुन्दर रत्न है। लाजवर्त रत्न को शनि, राहु और केतु से मिलने वाले कष्टों से मुक्ति के लिए पहना जाता है। 

लाजवर्त (Lapis Lazuli) को लाजावर्त या लाजवर्द भी कहते हैं, लाजवर्त (Lapis Lazuli) के नाम से कई नकली पत्‍थर भी बाजार में मिलते हैं।
 
नीलम रत्न जैसे ही ये भी नीले रंग का होता है। गाढ़े नीले रंग का लाजवर्त (Lapis Lazuli) ज्‍यादा अच्‍छा माना जाता है 

लाजवर्त रत्न का रंग मोर की गर्दन के रंग जैसा अर्थात नीले रंग का होता है। जब आपकी कुंडली में शनि , राहु , केतु तीनो का ही बुरा फल मिल रहा हो तो किसी अच्छे मुहर्त में लाजवर्त यानि Lapis Lazuli stone धारण करें

इसमें नीले रंग के साथ हल्के नीले रंग की कुछ धारियां भी पाई जाती हैं। 

लाजवर्त शांत करेगा शनि राहु केतु-एक रत्न से होंगे 3 ग्रह शांत-Lapis Lazuli gives confidence,knowledge,peace and harmony

लाजवर्त धारण करने के लाभ-लाजवर्त क्यों पहना जाता है

लाजवर्त धारण करने के लाभ ही लाभ हैं क्योंकि लाजवर्त शनि और राहू-केतु के समस्त दोषों और हमारे जीवन पर पड़ने वाले बुरे प्रभावों को समाप्त करता है।

यदि आपके साथ बार-बार कोई अनहोनी हो रही हो दुर्घटनाएं हो रही हों या अचानक आपको धन हानि, स्वास्थ्य समस्याओं का सामना करना पड़ रहा हो तो लाजवर्त धारण करने से लाभ पहुंचता है।

लाजवर्त आपको  बुरी नजर, जादू-टोना, नकारात्मक ऊर्जा से बचाता है। यदि आप मानसिक रूप से अशांत हो तो मानसिक शांति देने का काम भी लाजवर्त सरलता से कर देता है। 

लाजवर्त धारण करने के लाभ ये भी है कि लाजवर्त को पहनने से व्यक्ति की आर्थिक तंगी दूर होती है, यदि कहीं पैसा फंसा हो या बहुत कम आ रहा हो तो भी लाजवर्त बहुत काम करता है , लाजवर्त से पैसों के आगमन में आ रही रूकावटें दूर होती हैं।

जिनकी जन्म कुंडली में सूर्य ग्रहण या चंद्र ग्रहण दोष है उन्हें भी लाजवर्त (Lapis Lazuli) पहनना चाहिए।

राहू-केतु के कारण यदि घर में पितृ दोष बना हुआ हो तो लाजवर्त पहनने से पितृ दोष शांत होता है। व्यापार-व्यवसाय या नौकरी में बाधा आ रही हो तो लाजवर्त धारण करना उचित रहता है। यह हमारे जीवन में शांति लाने का काम करता है ।

यदि घर में पैसों की कमी रहती हो , परिवार के लोगों में तनाव-डिप्रेशन रहता है तो लाजवर्त की माला को घर की पश्चिम दिशा में लटकानी चाहिए ।

लाजवर्त (Lapis Lazuli) धारण करने से बल, बुद्धि एवं यश की वृद्धि होती है और साथ ही भूत, प्रेत, पिशाच, दैत्य, सर्प आदि का भी भय नहीं रहता है ।
 
लाजावर्त मणि या पत्‍थर शनि, राहु और केतु के दोषों को समाप्त करता है। लाजवर्त (Lapis Lazuli) धारण करने से नौकरी या व्यवसाय में आ रही अड़चने भी दूर होने लगती है। विद्यार्थियों के लिए लाजवर्त (Lapis Lazuli) धारण करना बहुत अच्छा होता है क्योंकि इससे उनका आत्मविश्वास बढ़ाता है। इसको धारण करने से तनाव या अवसाद कम होता है।
 
लाजवर्त क्यों पहना जाता है -लाजवर्त धारण करने के लाभ-एक रत्न से होंगे 3 ग्रह शांत शनि राहु केतु-Lapis Lazuli gives confidence, peace and harmony

लाजवर्त किस दिन धारण करें 

किस दिन पहने लाजवर्त (Lapis Lazuli)

लाजवर्त (Lapis Lazuli) को धारण करने का सबसे शुभ दिन शनिवार है, आप इसे चांदी की अंगूठी या लॉकेट में बनवाकर पहन सकते । लाजवर्त का ब्रेसलेट भी पहना जाता है या आप लाजवर्त के मोतियों की माला भी गले में धारण कर सकते हैं, 

लाजावर्त को चांदी की अंगूठी में बनवा के सीधे हाथ की मध्यमा अंगुली में धारण किया जाता है। आप इसका लॉकेट गले में भी धारण कर सकते हैं । 

लाजवर्त की अंगूठी (Lapis Lazuli ring )

यदि लाजवर्त (Lapis Lazuli) की अंगूठी पहननी हो तो इसे दाहिने हाथ की मध्यमा अंगुली में धारण करनी चाहिए। आप इसे लॉकेट में भी पहन सकते हैं , लाजवर्त (Lapis Lazuli) धारण करने से पहले अंगूठी या लॉकेट को सरसो या तिल के तेल में 5 घंटे तक डुबोकर रखें।

इसके बाद पश्चिम दिशा की ओर मुख करके नीले रंग के वस्त्र पर लाजवर्त (Lapis Lazuli) को रखकर ऊं प्रां प्रीं प्रौं स: शनये नम: मंत्र की एक माला यानि 108 बार जाप करें। धूप-दीप दिखाकर इसे कपड़े से पोंछकर धारण करें।

निष्कर्ष : 

साथियों हमने इस पोस्ट :- लाजवर्त क्यों पहना जाता है -लाजवर्त धारण करने के लाभ-एक रत्न से होंगे 3 ग्रह शांत शनि राहु केतु-Lapis Lazuli gives confidence, peace and harmony से जाना कैसे हम शनि राहु केतु तीनो ग्रहों को शांत करने के लिए लाजवर्त (Lapis Lazuli) धारण कर सकते हैं , 

आपके लिए लाजवर्त (Lapis Lazuli) धारण करना कैसा रहेगा ये जानने के लिए अथवा अपनी  कुंडली विश्लेषण के लिए आप हमारे whatsApp number 8533087800 पर संपर्क करे उसके बाद ही कॉल  करें 

किसी भी ज्योतिषीय सलाह के लिए आप हमारे mobile number 8533087800 पर संपर्क कर सकते है , इसके साथ ही आप ग्रह शांति जाप ,पूजा , रत्न  परामर्श और रत्न खरीदने के लिए अथवा कुंडली के विभिन्न दोषों जैसे मंगली दोष , पित्रदोष , कालसर्प दोष आदि की पूजा और निवारण उपाय जानने के लिए भी संपर्क कर सकते हैं 

अपना ज्योतिषीय ज्ञान वर्धन के लिए हमारे facebook ज्योतिष ग्रुप के साथ जुड़े , नीचे दिए link पर click करें

श्री गणेश ज्योतिष समाधान 

टेक्नोलॉजिकल ज्ञान  : CPU क्या है What is CPU in Hindi,CPU Core,CPU types,complete & in easy langauge in 1 article

 
अपने जानने वालों में ये पोस्ट शेयर करें ...

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!