Shadow

कामदा एकादशी 2023 किस दिन मनाए 1 या 2 अप्रैल ? जाने शुुभ मुहूर्त, पूजा विधि आदि (Kamada Ekadashi 2023 Date)

अपने जानने वालों में ये पोस्ट शेयर करें ...

कामदा एकादशी 2023 किस दिन मनाए 1 या 2 अप्रैल ? जाने शुुभ मुहूर्त, पूजा विधि आदि (Kamada Ekadashi 2023 Date)

Kamada Ekadashi 2023 Date: चैत्र माह के शुक्ल पक्ष की एकादशी को कामदा एकादशी व्रत मनाया जाता है। कामदा एकादशी को फलदा एकादशी के नाम से भी जाना जाता है. कुछ लोग इस वर्ष कामदा एकादशी व्रत को 1 अप्रैल तो कुछ 2 अप्रैल कह रहे हैं । ऐसे में लोगों के मन में भ्रम उत्पन्न हो जाता है कि किस दिन कामदा एकादशी व्रत रखना चाहिए ।

कामदा एकादशी व्रत हमारी सभी मनोकामना की पूर्ति करने वाला व्रत माना गया है. ऐसा कहा गया है कि यह व्रत सभी प्रकार की घरेलू यानि पारिवारिक समस्याओं को दूर कर देता है । कामदा एकादशी व्रत के विषय मे विष्णु पुराण में भी वर्णन मिलता है, कामदा एकादशी व्रत रखने से हमे हमारे सभी कार्यों में सफलता मिलती है और जाने अनजाने हुए सभी पाप नष्ट हो जाते हैं और मृत्यु उपरांत मोक्ष की प्राप्ति होती है।

कामदा एकादशी व्रत को सभी सांसारिक इच्छाओं को पूरा करने के लिए किया जाता है.

आइये जानते हैं इस वर्ष यानि कामदा एकादशी 2023 कब है? जाने शुुभ मुहूर्त, पूजा विधि,महत्व और कथा

कामदा एकादशी 2023 Kamada Ekadashi 2023 Date

कब है कामदा एकादशी 2023 ?

( Kab Hai Kamada Ekadashi 2023 Date )

कामदा एकादशी व्रत 2023 तिथि

पंचांग के अनुसार, 01 अप्रैल को प्रातः 01 बजकर 58 मिनट से एकादशी तिथि प्रारंभ होगी और 02 अप्रैल को प्रातः 04 बजकर 19 मिनट पर समाप्त हो जाएगी । इसलिए इस वर्ष यह एकादशी व्रत 1 अप्रैल को है.

पंचांग के अनुसार कामदा एकादशी व्रत 1 और 2 अप्रैल 2023 दोनों  ही दिन रखा जा सकता है , गृहस्थी वाले इसे 1 अप्रैल और वैष्णव संप्रदाय वाले लोग इसे 2 अप्रैल को मनाएंगे

कामदा एकादशी व्रत 2023 का पारण का समय

कामदा एकादशी व्रत 2023 का पारण का समय 2 अप्रैल  01 बजकर 40 मिनट से सायं 04 बजकर 10 मिनट तक है।

वैष्णव संप्रदाय वाले लोगों के लिए पारण का समय 3 अप्रैल को प्रातः 06 बजकर 09 मिनट से प्रातः 06 बजकर 24 मिनट तक है। इस दिन द्वादशी समाप्त होने का समय प्रातः 06 बजकर 24 मिनट तक है।

Amalaki Ekadashi 2023 आंवला एकादशी

कामदा एकादशी व्रत की पूजा विधि

कामदा एकादशी व्रत के दिन प्रातः स्नान आदि से निवृत हो स्वच्छ वस्त्र धारण करें , प्रत्येक एकादशी के दिन व्रत का संकल्प लेने के बाद भगवान विष्णु की पूजा की जाती है इसलिए मंदिर में देवी- देवताओं को स्नान कराने के बाद स्वच्छ वस्त्र पहना कर मंदिर में दीप प्रज्वलित करें।
और उसके बाद व्रत का संकल्प ले और व्रत को प्रारंभ करें , भगवान विष्णु का ध्यान करके उन्हे भोग लगाएं जिसमे तुलसी पत्र अवश्य प्रयोग करें , दूध, फल, फूल, मिठाई , पंचामृत अर्पित करें। भगवान विष्णु का पूजन कभी अकेले न करें बल्कि माता लक्ष्मी की पूजा भी करें। भगवान विष्णु और माता लक्ष्मी की पूजा एक साथ ही की जाती है  जो हमारी सभी मनोकामनाएं पूर्ण करने वाली होती है।

ये भी पढे : Vishnu Sahasranamam Stotram-विष्णुसहस्रनाम स्तोत्रम्-भगवान विष्णु के 1000 नाम

ये भी पढे : श्री विष्णु चालीसा Shri Vishnu Chalisa in Hindi & English easy 2 learn

ये भी पढे : विष्णु जी की आरती vishnu ji ki aarti in hindi english

****************************************

ये भी पढ़े : विभिन्न देवी देवताओं की स्तुति 

****************************************

ये भी पढ़े : 

श्री गणेश चालीसा Shri Ganesh Chalisa in hindi & english- easy 2 learn

Khatu Shyam Chalisa in hindi & english – खाटू श्याम चालीसा

Saraswati Chalisa in Hindi & English –श्री सरस्वती चालीसा

Ganga Chalisa in Hindi & English –श्री गंगा चालीसा

श्री ब्रह्मा चालीसा Shri Brahma Chalisa Lyrics in English & Hindi

श्री राधा चालीसा Shri Radha Chalisa Lyrics in English & Hindi

laxmi chalisa in hindi for prosperity & wealth श्री लक्ष्मी चालीसा का पाठ कर चमकाएँ अपना भाग्य

सूर्य चालीसा Surya chalisa in hindi & english- easy 2 learn

श्री विष्णु चालीसा Shri Vishnu Chalisa in Hindi & English easy 2 learn

शिव चालीसा Shri Shiv Chalisa in Hindi & English easy 2 learn

श्री शनि चालीसा Shri Shani Chalisa in hindi & english Complete & Easy to learn

बगलामुखी चालीसा- Baglamukhi Chalisa in Hindi & English Complete & Easy

श्री दुर्गा चालीसा पाठ – sri durga chalisa path in hindi

हनुमान चालीसा|| shree hanuman chalisa in hindi -instantly effective

आप अपना ज्योतिषीय ज्ञान वर्धन के लिए हमारे facebook ज्योतिष ग्रुप के साथ जुड़े , नीचे दिए link पर click करें

श्री गणेश ज्योतिष समाधान 

***********

ये भी पढे : चंद्रमा की अन्य 8 ग्रहों से युति moon with different planets effects (chandrama ki anya grahon se yuti)

ये भी पढे : व्यापार वृद्धि के उपाय टोटके -14 astrological remedies for business growth

ये भी पढे : कुंडली में शुभ योग: इन 7 योग में उत्पन्न व्यक्ति ,कीर्तिवान,यशस्वी तथा राजा के समान ऐश्वर्यवान होता है

ये भी पढ़े : स्त्री की कुंडली में चंद्रमा का प्रभाव stri ki kundli me chandrama-13 moon effects in female horoscope

ये भी पढ़े :ज्योतिष के अनुसार शिक्षा -9 ग्रहों के अनुसार शिक्षा (education in astrology – education as per planets)

ये भी पढे : मंगला गौरी स्तुति- Mangla Gauri Stuti in hindi मांगलिक दोष को दूर करने का उपाय

ये भी पढे : स्त्री की कुंडली में गुरु 12 houses of Jupiter in females horoscope

ये भी पढे : निर्बल चंद्रमा के 21 सरल उपाय देंगे शांति ,सुख और समृद्धि chandrama ke upay for peace, happiness and prosperity

आप पढ़ रहे हैं कामदा एकादशी 2023 किस दिन मनाए 1 या 2 अप्रैल ? जाने शुुभ मुहूर्त, पूजा विधि आदि (Kamada Ekadashi 2023 Date)

अपने जानने वालों में ये पोस्ट शेयर करें ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *